रमजान में बढ़ी बाजारों की रौनक

By: | Last Updated: Monday, 22 June 2015 4:13 AM
ramjan market

लखनऊ: रमजान के मौके पर बाजारो में रौनक बढ़ गई है. उत्तर प्रदेश की राजधानी के पुराना शहर इलाके में लोग देर रात तक सहरी की तैयारी में खरीदारी करते देखे जा रहे हैं. बाजारों में सहरी के लिए तरह-तरह की सेवई, फेनी, खजले की दूकानें सजी हैं.

 

मुसलमानों में टोपी का भी बहुत महत्व है. चीन, अफगानिस्तान, टर्की की टोपियों की खासी मांग है. 50 रुपये से लेकर 700 रुपये की टोपियां बिक रही हैं. रोजेदार शाम के समय इफ्तार के वक्त अपना रोजा खजूर खाकर खोलते हैं. मौलाना फजलुर रहमान ने बताया कि इस्लाम में खजूर से रोजा खोलना सुन्नत माना गया है. 

 

दुकानदार रफीक आलम ने बताया कि सऊदी अरब, ओमान से आए खजूर की काफी मांग बाजारों में कई खाड़ी देशों से जैसे सऊदी अरब, ओमान और इसके अलावा टयूनीशिया से आए खजूर की काफी मांग है. इसमें सबसे खास पैगम्बर मोहम्मद के हाथों से लगाए पेड़ के खजूर सबसे महंगे हैं. रोजेदारों के नमाज पढ़ने के लिए इस साल बाजार में नए-नए डिजाइन की की टोपियां आई हैं. टोपी निमार्ताओं ने डिजाइन के साथ मौसम का भी खास ख्याल रखा है. पुराने शहर के तरह-तरह की टोपियों की दुकानें सजी हैं. 

 

रमजान को लेकर पुराने शहर के बाजार देर रात तक खुल रहे हैं. इससे यहां रात भर रौनक रहती है. 50 रुपये से रुपये से लेकर सात सौ रुपये में टोपियां पुराने शहर के नक्खास, अकबरीगेट, चौक और नजीराबाद आदि क्षेत्रों में नमाज पढ़ने के लिए विभिन्न प्रकार के डिजाइन वाली टोपियां भी बाजार में उपलब्ध हैं. यहां 50 रुपये से रुपये से लेकर सात सौ रुपये में टोपियां हैं.  इस बार गर्मी के मद्देनजर बाजार में महीन जालीदार टोपियां भी लाई गई हैं. इनकी कीमत 50 रुपये से शुरू है. इस साल भी बाजार में चायनीज टोपियां छाई हैं. इसके अलावा दुकानों पर प्लास्टिक की टोपियां भी हैं.

 

ये टोपियां लोग मस्जिदों में रखवाने के लिए खरीदते हैं.  यही नहीं, दरूद शरीफ पढ़ने के लिए तरह-तरह के मोतियों वाली तस्बीहयां भी बाजार में हैं. मोतियों वाली तस्बीह में छोटी सी दूरबीन भी लगी है. इसमें मक्का व मदीना का फोटो है. डिजिटल कुरआन भी लोगों के आकर्षण का केंद्र है. इसके अलावा कई ऐसी भी तस्बीह हैं, जिन पर अल्लाह व मोहम्मद तथा कलमे की सुंदर नक्काशी है. 

 

बाजार में इलेक्ट्रॉनिक व मैनुअल काउंटर तस्बीह भी खूब बिक रही हैं. इसके अलावा नमाज पढ़ने के लिए तरह-तरह की जानमाज भी उपलब्ध हैं. पुराने शहर की दुकानों पर डिजिटल कुरआन भी लोगों के आकर्षण का केंद्र है. इस पर विशेष प्रकार के बने ‘ऑप्टिक पेन’ को स्पर्श करने से यह कुरआन की तिलावत करता है. 

 

नबावों के शहर का माहौल जहां इबादत के चलते खुशनुमा बना हुआ है, वहीं अब जगह-जगह नए-नए कपड़ों और जूतों के अलावा महिला प्रसाधन के सामानों दुकाने भी सजने लगी हैं. नक्खास, चौक, अमीनाबाद, नजीराबाद, मौलवीगंज व आलमबाग के बाजारों में तरह-तरह की सेवइयों की दुकाने लगी हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ramjan market
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017