ये बाबा बंधक बनाता है!

By: | Last Updated: Thursday, 20 November 2014 2:12 AM
rampal makes his followers mortgage

नई दिल्ली: पिछले कई दिनों से संत रामपाल के आश्रम के बाहर नजर आई समर्थकों की भीड़ का सच चौंकाने वाला है. रामपाल के समर्थन में लगने वाले नारों का सच चौंकाने वाला है क्योंकि ये रामपाल के समर्थक नहीं बंधक थे. बाबा के आश्रम में नजर आ रही भीड़ का सच कुछ और है.

 

आश्रम से निकलने वाले लोग खुद दे रहे हैं गवाही कि वो संत रामपाल जी महाराज के समर्थक नहीं बंधक थे. देर रात हरियाणा पुलिस ने संत रामपाल के आश्रम से लोगों को निकालना शुरू किया. हजारों की तादाद में लोग बाहर निकल रहे थे.

 

इस भीड़ में महिलाएं थीं, बच्चे थे, बुजुर्ग थे, आश्रम से बाहर निकल रहे इन लोगों से जब एबीपी न्यूज ने बात की तो चौंकाने वाली सच्चाई सामने आई. कोई ग्वालियर से था कोई गुजरात से, कोई राजस्थान से था तो कोई महाराष्ट्र से, दस-दस दिन से लोग फंसे हुए थे.

 

पिछले कई दिनों से पुलिस संत रामपाल को गिरफ्तार करने की कोशिश में आश्रम के अंदर जाने की कोशिश कर रही थी लेकिन मेन गेट पर मौजूद महिलाओं औऱ बच्चों को ढाल बनाया जा रहा था..अब ये लोग तौबा कर रहे हैं कि गलती हो गई. अब कभी इस आश्रम में नहीं आएंगे. ये कैसा संत हैं जो अपनी जान बचाने के लिए समर्थकों को बंधक बनाने से भी गुरेज नहीं करता.

 

सतलोक आश्रम का सच-

 

संत रामपाल के आश्रम में क्या होता था. कैसी है आश्रम के अंदर की तस्वीर. हम आपको दिखाने जा रहे हैं संत रामपाल के आश्रम का वो रहस्य जो शायद उनके समर्थक भी नहीं जानते.

 

संत रामपाल जी महाराज की सीख और उनके उपदेश, किसी भी देवी देवता की पूजा के खिलाफ हैं रामपाल. वो किसी भगवान को नहीं मानते, लेकिन कबीर का नाम जपने वाले और खुद को परमेश्वर बताने वाले संत रामपाल बुलेट प्रूफ चैंबर से सत्संग सुनाते थे. एक दो तीन और ऐसे कई सिंहासन हैं संत रामपाल के जो बुलेट प्रूफ कांच के भीतर कैद रहते थे.

 

संत रामपाल जी महाराज मृत्यु, माया, मोक्ष और सतलोक जैसी बातें करते हैं लेकिन उन्हें किसका डर है जो अपने हजारों समर्थकों के सामने सत्संग सुनाने के लिए वो इन बुलेटप्रूफ चैंबर का सहारा लेते हैं. रोहतक के करौंथा में बने आश्रम को साल 2006 में सील कर दिया गया था लेकिन आश्रम के अंदर से जो तस्वीरें सामने आईं थीं वो चौंकाने वाली थीं.

 

बाबा के सत्संग के लिए जो सिंहासन बने हुए थे वो हाइड्रोलिक लिफ्ट से ऑपरेट होते थे मतलब ये कि बाबा अपने सिंहासन के साथ सत्संग सुनने आई जनता के सामने प्रकट होते थे. करौंथा के आश्रम में संत रामपाल के 8 हाइड्रोलिक सिंहासन थे और सब के सब बुलेटप्रूफ शीशे से लैस. इतना ही नहीं संत रामपाल के आश्रम में सबसे ज्यादा चौंकाया था इस सुरंग ने.

 

एक सुरंग जो रामपाल के कमरे से निकलती थी और करीब 100 मीटर लंबी थी. सुरंग के दोनों छोर पर सोफे के साथ हाइड्रोलिक लिफ्ट लगी हुई थी. जिसके जरिए रामपाल अचानक अपने समर्थकों के सामने पेश होता था.. रोहतक में संत रामपाल का ये ठिकाना आश्रम कम उनका साम्राज्य ज्यादा नजर आ रहा था

 

भव्य से पंडाल में बैठकर जनता संत रामपाल के सत्संग सुनती थी. हिसार के बरवाला में भी हजारों की तादाद में जमा हुए रामपाल के ज्यादातर समर्थक साधना चैनल पर उनका सत्संग सुनकर आश्रम पहुंचते थे.

 

रामपाल के समर्थकों में कोई एडवोकेट है तो कोई दर्जी, कोई महाराष्ट्र से आया है तो कोई छत्तीसगढ़ से, लेकिन 12 एकड़ में फैले बाबा के इस आश्रम में मौजूद समर्थकों को किसी चीज की कमी नहीं थी. भरपेट खाना भी मिल रहा था.

 

समर्थकों को सब पता है लेकिन जब बाबा के आश्रम में मौजूद ब्लैक कैट कमांडों पर सवाल हुआ था साफ हो गया कि आश्रम के अंदर भी बाबा की खींची हुई एक लक्ष्मणरेखा है जिसे कोई पार नहीं कर सकता. अपने आश्रम में सुरंग बनाने वाला ये बाबा कभी हरियाणा सरकार के सिंचाई विभाग में जूनियर इंजीनियर हुआ करता था

 

जूनियर इंजीनियर की नौकरी के दौरान संत रामपाल महाराज की मुलाकात 107 साल के कबीरपंथी संत स्वामी रामदेवानंद महाराज से हुई थी. रामपाल रामदेवानंद महाराज के शिष्य बन गए और 18 साल लंबी सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर की नौकरी छोड़कर सत्संग करने लगे.

 

यह भी पढें-

12 एकड़ में फैले आश्रम के मालिक रामपाल के पास हैं BMW से मर्सिडिज तक सभी लग्जरी गाड़ियां 

  राजद्रोह का आरोपी रामपाल गिरफ्तार
…तनाव के वो 36 घंटे

 ऑपरेशन रामपाल हुआ पूरा

 चश्मदीद ने सुनाई गिरफ्तारी की दास्तां

 ये बाबा बंधक बनाता है!

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: rampal makes his followers mortgage
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में
बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट...

नई दिल्ली: बिहार, असम और पश्चिम बंगाल में बाढ़ ने जनजीवन पर बुरी तरह असर डाला है. बिहार में बाढ़...

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम: पाकिस्तान
हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम:...

इस्लामाबाद: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के बाद अमेरिका ने कश्मीर में...

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017