जानें- सभी वजहें, आखिर क्यों प्याज रुला रहा है?

By: | Last Updated: Monday, 24 August 2015 1:53 PM
Reason for increasing price of onion

नई दिल्ली: देश की सियासत में प्याज़ का अपना अहम महत्व रहा है. राजनीति की जमीन पलटने का इतिहास भी प्याज के नाम है. जैसे ही प्याज़ के दाम बढ़ने लगते हैं सरकार के माथे की शिकन भी बढ़ती जाती है. अभी प्याज़ की कीमतें आसमान छू रहीं हैं. इसकी बढ़ी कीमतों ने किचन से लेकर सियासत के गलियारों तक आग लगा रखी है. फिलहाल प्याज़ 70-80 रूपए प्रति किलो बिक रहा है.

 

आइये जानते हैं कि प्याज़ की कीमतें क्यों बढ़ रही हैं:-

 

देश में प्याज की तीन फसलें होती हैं रबी (मार्च – जून) खरीफ (अक्टूबर-दिसंबर ) बाद की खरीफ (जनवरी-मार्च). ये तीनों पैदावार ही देश में प्याज की उपलब्धता सुनिश्चित करती है.

 

हाल ही में प्याज के दाम में जो तेजी आई है उसकी अहम वजहें मौसम की मार है. प्याज़ की सबसे ज्यादा पैदावार महाराष्ट्र, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में होती हैं, लेकिन कम बारिश ने फसल को बर्बाद किया है.

 

महाराष्ट्र के लासलगांव में एशिया की सबसे बड़ी प्याज मंडी हैं जहां प्याज की औसत बोली 5,700 रुपये क्विंटल तक पहुंच गई है, इस मंडी में आज तक प्याज़ का इतना ज्यादा दाम कभी नहीं हुआ. आसमान छूते प्याज के दामों की वजह कम आपूर्ति को भी माना जा रहा है.

 

खरीफ फसलों में बारिश की कमी के कारण भी दाम बढ़ रहे हैं. दूसरी फसल आने में अभी भी एक महीना है. लेकिन प्याज़ के प्रमुख उत्पादक राज्यों में कम बारिश होने के कारण खरीफ सीजन के प्याज़ की फसल की खुदाई में देरी की आशंका है. इन राज्यों में मार्च में हुई भारी बारिश के कारण पैदावार पर असर पड़ा.

 

देश में प्याज़ के भंडारण के लिए कोल्ड स्टोरेज की कमी को भी प्याज के दामों में बढ़ोत्तरी का कारण माना जा सकता है. देश भर के प्याज़ उत्पादक भंडरण के अभाव में ही अपनी फसल को जल्दी बेचने को मजबूर हो जाते हैं. महाराष्ट्र सहित देश के कई राज्यों में भंडारण सुविधा नहीं होने के कारण प्याज़ बर्बाद होने का मामला देखा जा सकता है. 

 

सरकार भी प्याज के आसमान छूते दामों को जमीन पर लाने की कवायद में जुटी है, उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि प्याज के दामों पर सरकार की खास नजर है, साथ ही देश में प्याज की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए न्यूनतम निर्यात मूल्य मौजूदा 425 डॉलर से बढ़ाकर 700 डॉलर प्रति टन करने का फैसला किया गया है।

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Reason for increasing price of onion
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: onion
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017