सत्ता की भूख शांत करने का मुखौटा ना बने धर्म: राष्ट्रपति

By: | Last Updated: Friday, 9 October 2015 1:08 AM

नई दिल्ली: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दादरी हत्याकांड जैसी घटनाओं को लेकर एक और बड़ा बयान दिया है. जॉर्डन यात्रा से पहले अरबी अखबार ‘अल-घाद’ को दिए इंटरव्यू में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा है, ” भड़काऊ भाषण और डर फैलाने की कोशिश बंद होनी चाहिए.  हमारे मूल्य और संस्कार हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा होना चाहिए. ”

 

इसके साथ ही राष्ट्रपति ने कहा, ‘सहिष्णुता और सह-अस्तित्व तो हमारी सभ्यता की नींव हैं. इन्हें हमें दिल में बसा कर रखना चाहिए और उदारता को बढ़ावा देना चाहिए. हमें खास तौर पर इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि धर्म सत्ता की भूख शांत करने का मुखौटा न बनने पाए.”

 

बुधवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में भी प्रणब मुखर्जी ने कहा था कि देश को जोड़नेवाले मूल्यों को खत्म नहीं होने दे सकते. इसकी के बाद दादरी हत्याकांड पर पीएम को अपनी चुप्पी तोड़नी पड़ी.

 

दादरी पर पीएम मोदी ने तोड़ी चुप्पी

दादरी हत्याकांड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है. बिहार के नवादा की रैली में पीएम ने दादरी कांड का जिक्र तो नहीं किया लेकिन कहा कि हिंदू और मुसलमान मिलकर गरीबी से लड़ें. राजनीतिक फायदे के लिए बयानबाजी ठीक नहीं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Religion should not became mask to power
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017