यूपी: एक मुहिम के लिए हिंदू धर्मगुरूओं समेत 21 हिन्दुओं ने रखा रोजा

By: | Last Updated: Saturday, 20 June 2015 8:38 AM
Religious harmony:Hindus in UP district to observe Ramzan fast

महोबा: उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में गंगा-जमुनी तहजीब की अनूठी मिसाल पेश करते हुए हिन्दू धर्मगुरूओं तथा मतावलम्बियों ने मुसलमानों के साथ मिलकर रोजा रखना शुरू कर दिया है.

 

विकास की दौड़ में पिछड़े इस जिले में ‘एम्स’ स्थापना की मुहिम के तहत शुरू की गयी इस मुकद्दस कोशिश की हर तरफ चर्चा हो रही है.

 

बुंदेली समाज संगठन के समन्यवक तारा पाटकर ने आज बताया कि तयशुदा कार्यक्रम के तहत कल रमजान के पहले दिन 21 हिन्दुओं समेत करीब 70 लोग रोजा रखते हुए शहर के उदल चौक पर बैठे. रोजा रखने वालों में महामण्डलेश्वर विशम्भर दास, रामकुंड के महन्त तुलादास जी महाराज, पादरी लावान मसीह, बुंदेली समाज संगठन के महामंत्री अजय परसैया, सिद्धगोपाल सेन, जितेन्द्र चौरसिया, अमरीश कुमार, अमर नारायण, ओम नारायण और अरविन्द प्रजापति के साथ-साथ 12 साल का चिरायु भी शामिल था.

 

पाटकर ने बताया कि मुसलमान रोजेदारों में बुंदेली समाज संगठन के अध्यक्ष हाजी पावेश मोहम्मद , मकबूल हुसैन तथा पाषर्द मोहम्मद इमरान समेत करीब 50 लोग शामिल थे. रोजेदारों की इस महफिल में राजनीतिक लोगों को भी आमंत्रित किया गया था लेकिन अभी किसी ने अपेक्षित दिलचस्पी नहीं दिखायी है.

 

हाजी पावेश मोहम्मद ने बताया कि रोजे में नमाज पढ़ना जरूरी है, लिहाजा मुस्लिम लोग आसपास की मस्जिदों में नमाज अदा करने जाते हैं. शाम को सभी लोग चौक पर रोजा इफ्तार करते हैं. आज चौक पर बैठने वाले रोजेदारों की तादाद 100 के करीब पहुंचने की उम्मीद है.

 

उन्होंने बताया कि इस आयोजन से जहां एक तरफ पूरे मुल्क में हिन्दुओं और मुस्लिमों के बीच सद्भाव का एक मजबूत संदेश जायेगा वहीं दूसरी तरफ इससे बुंदेलखंड के केन्द्र में बसे महोबा जिले में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान :एम्स: खोले जाने की काफी दिनों से चली आ रही मांग पर भी प्रभावी दबाव बनाया जा सकेगा.

 

मोहम्मद ने कहा कि उनका संगठन बुंदेलखंड के हिन्दू-मुस्लिम तथा अन्य सभी धर्मो के लोगों को एकजुट करके मजबूत कड़ी बनाकर देश के नीति नियामकों को यह एहसास भी करायेंगे कि बुंदेलखंड क्षेत्र में गरीबों सहित आम लोगों की गंभीर बीमारियों के उपचार के लिए यहां एम्स खोला जाना कितना जरूरी है. उन्होंने बताया कि बुंदेलखंड क्षेत्र में आने वाले उत्तर प्रदेश के सात और मध्य प्रदेश के पांच जिलों के लोगa को गंभीर के साथ-साथ सामान्य बीमारियों के इलाज के लिए भी कानपुर, लखनउ और आगरा भेज दिया जाता है जिसके कारण इस क्षेत्र के लोगों को गंभीर समस्या का सामना करना पड़ता है.

 

पाटकर ने कहा कि 21 जून को मनाए जा रहे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर जहां देश में योग को लेकर राजनीति हो रही है, वहीं उनके संगठन ने कल से शुरू होने वाले संयुक्त रोजा कार्यक्रम में सभी दलों के नेताओं को विशेष रूप से आमंत्रित किया है ताकि वे उनके एकता के संदेश को समझ सकें और एम्स खोले जाने के मामले में भी प्रभावी भूमिका अदा करें.

 

उन्होंने बताया कि ‘महोबा में एम्स’ खोले जाने के अभियान के तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अब तक उर्दू, सिंधी, पंजाबी और मलयालम समेत 18 भाषाओं में एक लाख से ज्यादा पोस्टकार्ड लिखकर भेजे जा चुके हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Religious harmony:Hindus in UP district to observe Ramzan fast
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017