आरक्षण का आधार केवल पिछडापन होना चाहिए: खुर्शीद

By: | Last Updated: Sunday, 1 November 2015 3:11 AM

पटना: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने आज स्पष्ट रूप से कहा कि आरक्षण धार्मिक और जाति के आधार पर नहीं दिया जा सकता बल्कि इसका आधार केवल पिछड़ापन होना चाहिए.

 

पटना में आज खुर्शीद पत्रकारों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस आरोप कि बिहार में धर्मनिरपेक्ष महागबंधन अनुसूचित जाति-जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण में पांच प्रतिशत की कटौती करने योजना पर प्रहार करते हुए कहा कि ऐसे व्यक्ति जो सरकार के कामकाज और संविधान को नहीं जानते उनकी भाषा को समझ सकते हैं, पर प्रधानमंत्री से ऐसी बातों की उम्मीद नहीं करते.

 

उन्होंने कहा कि जाति एवं धर्म के आधार पर कानून में आरक्षण का प्रावधान नहीं है. उन्हें (प्रधानमंत्री) जनता के बीच ऐसी गलत बातें नहीं करनी चाहिए थी.

 

यह पूछे जाने पर कि क्या वे मुसलमानों के लिए सब कोटा की वकालत करते हैं. उन्होंने कहा कि अगर संभव है तो दीजिए. यह धर्म और जाति के आधार पर नहीं दिया जा सकता. उच्चतम न्यायालय ने स्पष्ट रूप से परिभाषित कर दिया है कि आरक्षण पाने का एक मात्र मापमंड पिछड़ापन होना चाहिए. अगर कोई पिछड़ा है तो उसे इसका लाभ मिल सकता हैं.

 

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा अगर गलती से हार जाती है तो पाकिस्तान में पटाखे चलेंगे पर आश्चर्य व्यक्त किया कि कहीं और इसका जश्न क्यों. अगर जश्न मनाया भी जाएगा तो केवल भारत में मनाया जाएगा. जो पाकिस्तान में जश्न मनाए जाने की बात कर रहे हैं, वे वहां चुनाव लड़ें.

 

उन्होंने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं, पर वे व्यवहार एक पार्टी के प्रधानमंत्री होने की तरह कर रहे हैं.

 

खुर्शीद ने कहा कि जिस प्रकार से मोदी ने बिहार की यात्रा की है वैसा पहले कभी किसी प्रधानमंत्री ने नहीं किया है.

 

उन्होंने महागठबंधन के पक्ष में स्पष्ट माहौल होने का दावा करते हुए कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में देश और बिहार के गौरव और भविष्य की रक्षा की लड़ाई है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Reservation only on criterion of backwardness : Salman Khurshid
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017