आरक्षण पर बिहार चुनाव से डरी बीजेपी?

By: | Last Updated: Tuesday, 22 September 2015 12:45 PM
reservation policy could hurt BJP

नई दिल्ली: आरक्षण के मुद्दे पर मचा बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. आज मायावती ने कहा कि वह आरक्षण के लिए पूरे देश में आंदोलन चलाने को तैयार है. दूसरी तरफ बीजेपी ने आज फिर कहा कि वह आरक्षण की समर्थक है और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है. सवाल ये है कि क्या आरक्षण पर बिहार चुनाव से डरकर बैकफुट पर आ गई है बीजेपी?

बीजेपी ने फिर साफ किया कि वो आरक्षण विरोधी नहीं है. बीजेपी के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए नीतीश कुमार ने कहा है. आरएसएस का जो विचार है वही बीजेपी का विचार है. संविधान में वंचितों को जो अधिकार मिला है, उसे आप खत्म नहीं कर सकते. बीजेपी बिहार चुनाव के कारण अपने आप को अलग कर रही है. अब जिस किसी ने बीजेपी को वोट किया वह अपने पांव में कुल्हाड़ी मारेगा.

 

आरक्षण पर शुरू हुए इस विवाद की जड़ मे है आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का बयान जो उन्होंने आरएसएस के मुखपत्र ऑर्गनाइनजर में दिया है. आरक्षण को हमेशा राजनीतिक उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल किया गया है. लोग अपनी सुविधा के मुताबिक अपने समुदाय या वर्ग का ग्रुप बनाते हैं और आरक्षण की मांग करने लगते हैं. लोकतंत्र में कई नेता उनका समर्थन भी करते हैं. एक गैर राजनीतिक समिति का गठन होना चाहिए जो समीक्षा करे कि किसे आरक्षण की ज़रूरत है और कब तक ?

 

क्या आरक्षण खत्म कर देना चाहिए? 

हालांकि मोहन भागवत के इस बयान पर जब विवाद शुरु हुआ तो बीजेपी नेता राम माधव के कह दिया कि मोहन भागवत के बयान को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है. आरएसएस ने साफ कर दिया है कि मोहन भागवत जी ने मौजूदा आरक्षण व्यवस्था के खिलाफ कुछ नहीं कहा है.

 

‘मां का दूध पिया है, तो आरक्षण खत्म करके दिखाओ’ 

आरएसएस की सफाई के बावजूद आरक्षण का जिन्न बोतल से बाहर आ चुका है और अब देखना है कि बिहार के चुनावी मौसम में ये मुद्दा क्या गुल खिलाता है ?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: reservation policy could hurt BJP
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Mohan Bhagwat reservation policy
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017