चावल घोटाला: नहीं पहुंचता नक्सली प्रभावित इलाकों में लोगों तक चावल!

By: | Last Updated: Monday, 20 July 2015 6:56 PM
Rice Scam_

प्रतीकात्मक तस्वीर

सुकमा (छत्तीसगढ़): छत्तीसगढ़ में गरीबों को भेजा जाने वाला राशन का सामान कागज पर तो चढ़ जाता है पर राशन को जहां पहुंचना होता है वहां तक पहुंचता नहीं. आखिर कहां चला जाता है गरीबों का चावल. एबीपी न्यूज की खास पड़ताल में कई तथ्य सामने आए हैं.

 

छत्तीसगढ़ के पीडीएस यानि पब्लिक डिस्ट्रिब्यूशन सिस्टम की तारीफ सुप्रीम कोर्ट तक कर चुकी है. क्या वाकई में छत्तीसगढ़ सरकार नक्सल प्रभावित इलाकों में आदिवासियों तक राशन पहुंचा पाती है? एबीपी न्यूज इसकी पड़ताल के लिए निकला सुकमा.

 

सड़क के रास्ते 450 किलोमीटर का रास्ता तय कर एबीपी न्यूज़ की टीम सुकमा जिले के दोरनापाल पहुंची. इसके बाद उबड़-खाबड़ रास्तों से जान जोखिम में डालकर 50 किलोमीटर का सफर फिर हम पहुंचे तेमेलवाड़ा कैंप. 10 किलोमीटर का सफर तय करने के बाद चिंतलनार पहुंचे. चिंतलनार के कोतागुड़ा, तिमापुरम,  मोरपल्ली गांव पहुँचने के बाद हमने ग्रामीणों से बात की.

 

एबीपी न्यूज को यहां जो जानकारी मिली वो बेहद चौंकाने वाली थी. गांव के लोगों ने बताया कि उन्हें चार महीने से कोई राशन नहीं मिला है. ” हमको पिछले 4 महीने से राशन नहीं मिला है. राशन दुकानदार राशन कार्ड रख लेता है और न राशन देता है ,” सोडी जोगा, कोतागुड़ा, ग्रामीण आदिवासी.

 

लेकिन पड़ताल करने पर हमने यहाँ देखा की किस तरह कागजों पर राशन सुकमा के इस गांव के लिए भेजा गया. सरकारी कागजों के मुताबिक अप्रैल 2015 से जुलाई 2015 तक चिंतलनार सेंटर में भेजे गए 7021.4 क्विंटल चावल. 249. 68 क्विंटल शक्कर और 203. 52 क्विंटल चना. पर क्या गांव वालों को राशन मिला? गरीबों को न एक ग्राम चावल, न शक्कर और न ही एक दाना चना मिला.

 

हकीकत ये है कि सरकार इन नक्सल प्रभावित इलाकों तक राशन भेजती ज़रूर है लेकिन आरोप है कि इस राशन को गोल कर जाते है राशन के दुकानदार, पीडीएस के ठेकेदार, स्थानीय सरकारी कर्मचारी और अधिकारी.  ग्रामीणों को 5 महीने से पीडीएस का चावल नहीं मिला है. राशन कार्ड भी राशन दूकान वालों के पास है. दुकानदार न तो राशन कार्ड देता है और न ही राशनकार्ड लौटा रहा है. दुकानदार राशन देनी की फ़र्ज़ी एंट्री कर के उस राशन की कालाबाज़ारी करता है.

 

एबीपी न्यूज ने पाया कि लोगों के राशन कार्ड में कई महीनों से कोई एंट्री नहीं है.  जाहिर है गरीब आदिवासियों का हक़ मारकर और सरकार को झूठी रिपोर्ट देकर जिले के हर ग्राम पंचायतों और गांव के फ़र्ज़ी राशन वितरण में लाखों की कमाई की जाती है.

 

गांव की महिलाएं धान कूट कर अपना गुजारा कर रही हैं. ” 8 महीने से राशन नहीं मिला है, दुकानदार राशन देता नहीं ,”कमला, मोरपल्ली, महिला

 

सूत्र बताते है की इस भ्रष्टाचार का एक हिस्सा नक्सलियों को भी जाता है तभी तो गरीब आदिवासियों से हो रहे धोखे के बावजूद आदिवासियों के हक़ की लड़ाई के ठेकेदार भी चुप है.  बताया जाता है की चिंतलनार के एक राशन वितरण केंद्रे से जहाँ 14 गांव को राशन दिए जाता है वहां से हर महीना 4-5 लाख रुपये नक्सलियों को भी दिए जाते है.  

 

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने नक्सल प्रभावित क्षेत्र में चावल नहीं पहुँचने की बात को इंकार कर दिया.  उन्होंने कहा की पीडीएस का चावल अबूझमाड़ जैसे अतिसंवेदनशील क्षेत्रों तक भी पहुंचता है.

 

सुकमा के कलेक्टर ने माना कि राशन बांटने में होने वाली धांधली के बारे में शिकायतें उन्हें मिलती रहती हैं. एबीपी न्यूज की पड़ताल के बाद एडिश्नल कलेक्टर ने एक ऐसे ग्राम पंचायत सचिव का पता लगाया जिसके पास 34 राशन कार्ड थे. ” हमें शिकायतें प्राप्त होती रही है और हमने उन शिकायतों की जांच भी करवाई है,” एस आर महिलांग, एडिशनल कलेक्टर.

 

चुनाव से पहले बड़ी संख्या में लोगों के राशन कार्ड बने. राशन कार्ड पर लोगों को राशन भी मिला अब उन्हें फर्जी बताकर राशन देना बंद कर दिया गया है. दरअसल पीडीएस घोटाले में फर्जी कार्ड से ही बड़ी संख्या में फर्जीवाड़ा हुआ था. फर्जी कार्ड का आखिर क्या है सच?

 

पीडीएस सिस्टम में भ्रष्ट्राचार के लिए खेला गया फ़र्ज़ी राशन कार्ड का खेल. सरकारी अधिकारी राइस मिलर, परिवहन कॉन्ट्रैक्टर, राशन के दुकानदारों और पीडीएस के ठेकेदारों से अवैध राशि वसूल कर भ्रष्ट्राचार का साम्राज्य खड़ा करते गए लेकिन इतने में पैसों की भूख नहीं मिटी तब इन्होंने खेल फ़र्ज़ी राशन कार्ड का खेला.

 

ज्यादा राशन बांटने के लिए ज्यादा लोगों का राशन कार्ड बनाया गया. ताकि ज्यादा मात्रा में राशन का वितरण दिखाया जा सके. फ़र्ज़ी राशन कार्ड पर भी राशन दिया गया और कालाबाज़ारी करके करोड़ों रुपये कमाए गए.

 

छत्तीसगढ़ के पूर्वमंत्री और बीजेपी नेता लीलाराम भोजवानी जिनका पिछले साल नाम राशनकार्ड रखने वालों की सूची में शामिल था. नियमों के मुताबिक आयकर और संपत्ति कर के दायरे में आने वाले लोग बीपीएल में नहीं आते हैं. इसके बाद भी भोजवानी का राशन कार्ड बन गया. भोजवानी को जब पता चला तो वो हैरान हो गए. उन्होंने कहा कि उन्होंने तो कभी राशन कार्ड बनाया ही नहीं. पता चला भोजवानी का राशन कार्ड फर्जी था. भोजवानी इस मुद्दे पर अब बात नहीं करना चाहते हैं.

छत्तीसगढ़ सरकार भी ये मानती है की फ़र्ज़ी राशन कार्ड का फर्जीवाडा हुआ है. प्रदेश में कुल 70 लाख 27 हजार 316 राशन कार्ड बनाये गए. 63 लाख 34 हज़ार 775 परिवार ही बीपीएल के अंतर्गत आते हैं यानी जांच की गयी तो 6 लाख 92 हजार 541 फर्जी राशन कार्ड पाये गए. फर्जी कार्ड पर राशन उठाए गए राशन से काली कमाई की गई.

 

डी नागाम्बारायपुर के तेलीबांधा में रहती हैं. नागाम्बा अपने पति और दो बच्चों के साथ रहती हैं. इन्हे दो साल से सरकार का पीडीएस का चावल मिल रहा था. अचानक चावल मिलना बंद हो गया. इन्होंने जब इसकी पड़ताल की तो कहा गया की अपने राशन कार्ड का सत्यापन करवाइये. नागाम्बा ने राशन कार्ड का सत्यापन करवाया तो चावल मिलना फिर शुरू हो गया. लेकिन कुछ महीने बाद ही चावल मिलना फिर से  बंद हो गया और कहा गया की आपका राशन कार्ड फर्जी है.

 

” कुछ महीनों तक राशन मिला फिर बंद कर दिया, शुरू किया फिर वापस बंद कर दिया. ” डी नागाम्बा

 

सबसे बड़ा सवाल ये है कि जिन लोगों के राशन कार्ड को आज फर्जी साबित किया जा रहा है उसका पता आखिर घोटाले के सामने आने के बाद ही सरकार को क्यों पता चला?

 

फ़र्ज़ी राशन कार्ड के सवाल पर मुखयमंत्री रमन सिंह ने कहा की ” कुछ गड़बड़ियां हुई होंगी लेकिन अब इस सिस्टम को सुधारने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जा रहा है.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Rice Scam_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Naxal raman singh rice scam
First Published:

Related Stories

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम: पाकिस्तान
हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम:...

इस्लामाबाद: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के बाद अमेरिका ने कश्मीर में...

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका...

नई दिल्ली: 2008 मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर सुप्रीम...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017