RSS की ISIS से तुलना करने पर कांग्रेस सांसद आजादी पर संघ का ये है रूख

By: | Last Updated: Tuesday, 15 March 2016 4:56 PM
RSS don’t reply on Ghulam Nabi Azad Comparing RSS To ISIS

गुलाम नबी आजाद ने कहा, "धर्म कोई मुद्दा नहीं होना चाहिए. हम लोगों में से भी कोई गलत काम करता है तो वह भी आरएसएस से कम नहीं है."

जालंधर : केंद्र में विपक्षी कांग्रेस के राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद के हाल ही में एक कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तुलना कथित रूप से आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट से करने पर मची राजनीतिक घमासान के बीच संघ की पंजाब इकाई के सह संघचालक ने इस पर किसी प्रकार की टिप्पणी करने से इंकार कर दिया है .

राजस्थान के नागौर में संघ के अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक में हिस्सा लेकर लौटे पंजाब प्रांत के सह संघचालक ब्रिगेडियर जगदीश गगनेजा ने संवाददाता सम्मेलन में इस बारे में पूछे जाने पर बीच में ही रोकते हुए कहा, ‘‘मैं इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं करूंगा .’’ दोबारा पूछे जाने पर कि आप संघ के पदाधिकारी हैं, और आजाद ने इसकी तुलना आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट से की है, तो गगनेजा ने कहा, ‘‘मैं कह रहा हूं कि जब मुझे कोई टिप्पणी नहीं करनी है तो मुझे इस पर कुछ कहना भी नहीं है . जिस मसले में किसी का नाम आ जाए उस मसले पर मैं कोई बात नहीं करता .’’ गगनेजा से पूछा गया था कि कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने हाल ही में एक कार्यक्रम में संघ की तुलना आईएस से की है, इस पर आपका क्या कहना है . इसके बाद संघ पदाधिकारी का यह बयान आया है.

हालांकि, कार्यक्रम में मौजूद संघ के प्रांत प्रचार प्रमुख रामगोपाल ने कहा, ‘‘क्या यह पहला मौका है जब संघ के खिलाफ किसी ने कुछ कहा है . आजाद बौद्धिक तौर पर दिवालिया हो चुके हैं और निराशा एवं हताशा में इस प्रकार की बयानबाजी कर रहे हैं .’’

इससे पहले गगनेजा ने संवाददाताओं को बताया कि संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में तीन प्रस्ताव पारित किये गए हैं . इनमें समाज में समरसता लाने, गुणवत्तापरक, सर्वसुलभ, प्रभावशाली तथा समान शिक्षा प्रणाली विकसित करने एवं सस्ती स्वास्थ्य सेवा विकसित करने का शासन तथा प्रशासन से आग्रह किया गया है . गगनेजा ने बताया कि देश में महंगी होती स्वास्थ्य सेवाओं तथा शिक्षा पर संघ ने चिंता जाहिर की और सरकार से शिक्षा और स्वास्थ्य के व्यापारीकरण पर अंकुश लगाने के लिए नियामक आयोग को प्रभावी बनाने की मांग की गयी है .

उन्होंने कहा कि सरकारें शिक्षा का बजट कम कर रही हैं और दूसरी ओर निजी संस्थाओं का इस क्षेत्र में आना चिंता का विषय है क्योंकि इससे शिक्षा महंगी हो रही है . प्राथमिक से लेकर विश्वविद्यालय स्तर पर शिक्षा का व्यापारीकरण हो रहा है जो चिंता का विषय है और आर्थिकरूप से सामान्य तथा कमजोर परिवारों के बच्चों के लिए शिक्षा प्राप्त करना कठिन हो गया है .

यह पूछने पर कि दिल्ली की आप सरकार ने शिक्षा का बजट बढाया है, तो गगनेजा ने कहा कि यह स्वागतयोग्य कदम है . आप की सरकार ही क्यों, किसी भी पार्टी की सरकार शिक्षा का बजट बढ़ाती है तो संघ इसका स्वागत करता है .

उन्होंने यह भी कहा कि पिछले साल की अपेक्षा देशभर में शाखा लगने वाले स्थान की संख्या में 3600 से अधिक की वृद्धि हुई है . इसी तरह शाखाओं की संख्या में 5200 से अधिक की बढोत्तरी हुई है .

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: RSS don’t reply on Ghulam Nabi Azad Comparing RSS To ISIS
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Ghulam Nabi Azad isis rss
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017