गोडसे को गांधी को नहीं नेहरू को मारना चाहिए था: RSS

By: | Last Updated: Saturday, 25 October 2014 5:06 AM
RSS mouthpiece suggests Godse chose wrong target – Gandhi instead of Nehru

नई दिल्ली: आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ) के मुखपत्र ‘केसरी’ में पंडित जवाहरलाल नेहरू पर जमकर निशाना साधा गया है. अंग्रजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस में छपि रिपोर्ट के मुताबिक आरएसएस के मुखपत्र ‘केसरी’ के मलयालम संस्करण में नाथूराम गोडसे को नेहरू से बेहतर बताया गया है.

 

केसरी में लिखा गया है कि गोडसे ने तो गांधी के सीने पर गोलियां मारी थी लेकिन नेहरु ने तो गांधी पर पीछे से खंजर घोंपा. आगे लिखा गया है कि गोडसे को गांधी को नहीं बल्कि जवाहरलाल नेहरू को मारना चाहिए था क्योंकि नेहरू विभाजन के लिए जिम्मेदार थे. उनका राष्ट्रपिता (गांधी) से कोई लगाव नहीं था.

 

आरएसएस ने नेहरू की राजनीति को स्वार्थ से भरा हुआ लिखते हुए उन्हें गांधीजी की हत्या और भारत-पाक विभाजन (बंटवारे) के लिए जिम्मेदार बताया है. इस लेख में लिखा गया है कि ऐतिहासिक दस्तावोजों और नाथूराम गोडसे की दलीलों को देखने के बाद इतिहास का छात्र अगर ये महसूस करे कि गोडसे ने गलत निशाना चुना था तो छात्रों को दोष नहीं दिया जाना चाहिए.

 

आरएसएस के मुखपत्र केसरी में इतना सब कुछ लिखने वाले व्यक्ति का नाम बी गोपालकृष्णन है. गोपालकृष्णन केरल बीजेपी के नेता और पदाधिकारी हैं. पार्टी ने उन्हें चालाकुडी लोकसभा से उम्मीदवार बनाया था. हालांकि वो चुनाव हार गए थे.

 

लेख में यह सफाई भी दी गई है कि गांधी की हत्या से आरएसएस का कोई लेना देना नहीं था, ये नेहरू का विचार था कि हिंदू संगठन पर दोष मढ़ दिया जाए. आगे लिखा गया है कि नेहरू ने एक पत्थर से दो चिड़ियों का शिकार किया. नेहरू ने पटेल के साथ मिलीभगत करके आरएसएस को बैन किया था. 

 

लेखक का मानना है कि नेहरू विश्व के नेता बनना चाहते थे लेकिन गांधीजी की लोकप्रियता से उन्हें जलन होती थी. नेहरू ब्रिटिश सरकार की पसंद थे इसलिए ब्रिटिश लेखकों के लिखे गए इतिहास में उनका महिमामंडन किया गया है. गोडसे आरएसएस का सदस्य नहीं था लेकिन हिंदु महासभा के सावरकर के विचारों से प्रेरित था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: RSS mouthpiece suggests Godse chose wrong target – Gandhi instead of Nehru
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017