IIT का इस्तेमाल ‘भारत विरोधी, हिन्दू विरोधी गतिविधियों के लिए हो रहा है: RSS मुखपत्र

By: | Last Updated: Sunday, 19 July 2015 5:08 PM

नई दिल्ली: आर्गेनाइजर के एक लेख में FTII के अध्यक्ष के रूप में गजेन्द्र चौहान की नियुक्ति के विरोध को ‘हिन्दू विरोधी’ करार दिये जान के बाद आरएसएस के मुखपत्र में एक अन्य लेख में आरोप लगाया गया है कि IIT जैसे प्रतिष्ठित संस्थान भारत विरोधी और हिन्दू विरोधी गतिविधियों का स्थान बन गए हैं.

 

कुछ आईआईएम द्वारा सरकार के कदमों के विरोध के पीछे राजनीतिक उद्देश्य होने का जिक्र करते हुए लेख में कहा गया है कि वामदल और कांग्रेस अभी भी प्रतिष्ठित संस्थाओं पर नियंत्रण किये हुए हैं और दोनों दल संचालक मंडल और निदेशकों के जरिये एक संस्थान पर ‘वैचारिक नियंत्रण’ के संचालक (मास्टर) हैं.

 

मुखपत्र में प्रकाशित लेख में IIT बम्बई के संचालक मंडल के अध्यक्ष और जाने माने परमाणु वैज्ञानिक अनिल काकोदकर और आईआईएम अहमदाबाद के अध्यक्ष ए एम नाइक की विभिन्न मुद्दों पर चुटकी ली गई है.

 

इसमें हरिद्वार के पवित्र शहर में IIT रूड़की के छात्रों को षामिस भोजन परोसे जाने और राउरकेला में एनआईटी में छात्रों को सामुदायिक हाल में पूजा आयोजित करने से रोके जाने का दावा किया गया है और दोनों यूपीए सरकार के दौरान होने की बात कही गई है. इसमें कहा गया है कि करदाताओं के पैसों से पोषित संस्थान भारत विरोधी और हिन्दू विरोधी गतिविधियों के स्थान बन गए हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: RSS_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017