व्यापम घोटाले में आरएसएस नेताओं को क्लीनचिट: मध्यप्रदेश पुलिस

By: | Last Updated: Sunday, 29 June 2014 3:35 AM

नई दिल्ली: व्यापम घोटाले में मध्यप्रदेश पुलिस ने आरएसएस नेताओं के क्लीनचिट देते हुए कहा कि इसमें संघ नेता शामिल नहीं हैं.साथ ही पुलिस ने आरएसएस द्विंगत नेता के.एस. सुदर्शन और सुरेश सोनी का नाम होने से भी इंकार किया है.

 

इससे पहले इस मामले में सुरेश सोनी का नाम बार-बार सामने आ रहे था. सोनी ने कल पहली बार मीडिया के सामने कुछ बोला. सोनी ने कहा है कि इस मामले का मीडिया ट्रायल न हो, कोर्ट में सच्चाई पता चल जाएगी.

 

संघ नेता सुरेश सोनी ने कहा है कि व्यापम घोटाले में पूर्व सर संघचालक के एस सुदर्शन का नाम घसीटना भी दुर्भाग्यपूर्ण है.

 

व्यापम घोटाले में पूर्व सरसंघचालक के एस सुदर्शन की सिफारिश पर भर्ती का आरोप लगा है. नाप तौल इंस्पेक्टर पद के लिए पटना के मिहिर कुमार नाम के शख्स की सिफारिश का आरोप है. सुदर्शन के स्टाफ में मिहिर कुमार रह चुका है जांच कर रही एसटीएफ के मुताबिक पूर्व आरएसएस प्रमुख के एस सुदर्शन ने एक लड़के की नौकरी की सिफारिश की. इस बीच मौजूदा संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि कानून अपना काम करेगा. हमें इसकी चिंता नहीं है.

 

व्यापम घोटाले को लेकर कांग्रेस शिवराज के खिलाफ सड़क है और घोटाले की आंच अब संघ के नेताओं तक पहुंच चुकी है. मामले की जांच कर रही एसटीएफ के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों ने पूर्व RSS प्रमुख सुदर्शन और RSS के सह सर कार्यवाह सुरेश सोनी का नाम भी लिया है. एसटीएफ ने कहा है कि मिहिर नाम के छात्र ने नापतौल निरीक्षक की परीक्षा का फॉर्म भरने के बाद उसकी फोटोकॉपी तत्कालीन संघ प्रमुख के एस सुदर्शन को दी थी और उनसे इस परीक्षा में पास करवाने को कहा था. सुदर्शनजी ने एमपी के तत्कालीन शिक्षा मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा को कहा और लक्ष्मीकांत शर्मा ने उस समय व्यापम के परीक्षा नियंत्रक पंकज त्रिवेदी से कहकर मिहिर कुमार को गलत तरीके से पास कराया.

 

अब इस घोटाले में जिस मिहिर का नाम सामने आ रहा है उसकी एक तस्वीर एबीपी न्यूज को मिली है. तस्वीर में मिहिर संघ प्रमुख सुदर्शन के साथ दिख रहा है. मिहिर के मुताबिक परीक्षा का फॉर्म भरने के बाद फॉर्म की रसीद की फोटो कॉपी सुदर्शन को दी थी. सुदर्शन से मिहिर ने परीक्षा में पास कराकर नौकरी लगवाने का निवेदन किया था. तब सुदर्शन जी ने तत्कालीन उच्च शिक्षा मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा को मुझे परीक्षा में पास करवाने को कहा था. शर्मा जी ने सुदर्शन जी को काम हो जाने की बात कही थी. सुदर्शन जी ने ये भी कहा था कि परीक्षा में जितना आए उतने ही उत्तर लिखना बाकी कॉपी खाली छोड़ देना.

 

मिहिर से एबीपी न्यूज ने जब बात की तो उन्होंने एसटीएफ के दावे को गलत बताया. मिहिर इन सभी आरोपों को खारिज कर रहे हैं

 

उधर विपक्षी दल कांग्रेस ने घोटाले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है. जबकि बीजेपी का कहना है कि कहने भर से कोई आरोप सही नहीं हो जाता.

 

व्यापम घोटाला दो हिस्सों में बंटा हुआ है. पहला तो ये कि मेडिकल और इंजीनियरिंग जैसी प्रवेश परीक्षाओं में धांधली हुई. वहीं दूसरा सरकारी नौकरियों के लिए हुई परीक्षाओं में भी गड़बड़ी करके नाकाबिल लोगों को नौकरी दी गई.

 

खास रिपोर्ट: क्या है व्यापम भर्ती घोटाला?

 

आरएसएस पर एक और आरोप, आरटीआई से हुआ खुलासा 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: RSS_VYAPAM_M.P. POLICE_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017