IS के खात्मे के लिए पुतिन ने मिलाया आतंकी संगठन तालिबान से हाथ

By: | Last Updated: Friday, 25 December 2015 10:40 AM
Russia, Taliban share intelligence in fight against ISIS

नई दिल्ली: दुनिया के आतंक इस्लामिक स्टेट के खिलाफ लड़ाई के लिए रूस के राष्ट्रपति ब्लादीमीर पुतिन ने तालिबान के साथ गठबंधन किया है. तालिबान अपने अत्याचार के लिए दुनिया में बदनाम रहा है. तालिबान खुद एक आतंकी संगठन है.

अफगानिस्तान तालिबानियों द्वारा मचाई गयी तबाह का जीता-जागता उदाहरण है. लेकिन रूस आईएस के खिलाफ मुहिम चला रहा है इसलिए पुतिन ने आतंकियों से हाथ मिलाए. रूस को तालिबान से आईएस की खुफिया जानकारियां मिला करेंगी.

रुस के विदेशमंत्रालय के अधिकारी मारिया जखारोवा ने बताया कि मास्को और अफगान तालिबान के बीच आईएसआईएस से छिड़ी लड़ाई के लिए सिर्फ खुफिया जानकारियों का लेन-देन होगा.

पिछले महीने ही अमेरिकी कमांडर ने खुलासा किया था कि तालिबान आईएस को और मजबूत बनाने में मदद कर रहा है. तालिबान ने 3,000 सैनिक आईएस को दिए थे.

अमेरिका का कहना है कि विरोधियों को निशाना बनाकर रूस मासूमों को मार रहा है जो सही नहीं है. आतंक के खिलाफ लड़ाई में पूरे विश्‍व का मत एक है लेकिन यह ध्‍यान दिया जाना चाहिए के मासूम नागरिकों को निशाना नहीं बनाया जाये. बडी मात्रा में अफीम की पैदावार वाले एक महत्वपूर्ण जिले के बडे हिस्से पर कब्जा करने वाले तालिबान आतंकियों को हराने करने के लिए अमेरिका ने गुरुवार को अफगान बलों की मदद के लिए हवाई हमले किये.

इस्लामी चरमपंथियों ने दक्षिण हेलमंड प्रांत पर अपनी पकड़ मजबूत करते हुए रविवार को गोलीबारी के बाद तकरीबन पूरे संगीन जिले पर कब्जे का दावा किया. भाग रहे बाशिंदों ने बताया है कि जिले में तालिबान चरमपंथियों को बढत मिल गयी है, जिससे पूरे प्रांत के चरमपंथियों के हाथों में जाने का डर है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Russia, Taliban share intelligence in fight against ISIS
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: intelligence isis russia Taliban
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017