नोएडा के रायन स्कूल में नशे में मिले बस ड्राइवर-कंडक्टर, अभिभावकों ने पुलिस को सौंपा

नोएडा के रायन स्कूल में नशे में मिले बस ड्राइवर-कंडक्टर, अभिभावकों ने पुलिस को सौंपा

पकड़ा गया एक शख्स बार-बार अपने बयान बदलता नजर आया. पहले उसने स्कूल बस में काम करने की बात मानी, बस का नंबर भी बताया, लेकिन फिर कहने लगा कि वो यहां घूमने आया था. इसके बाद कहने लगा कि वो बस बैक करवा रहा था.

By: | Updated: 12 Sep 2017 08:59 AM
नोएडा: गुरुग्राम में स्कूल बस के कंडक्टर पर बच्चे की हत्या का आरोप लगने के बाद भी रायन इंटरनेशनल स्कूल के मैनेजमेंट की नींद नहीं टूटी है. नोएडा के रायन इंटरनेशनल स्कूल में अभिभावकों ने कल एक ड्राइवर और कंडक्टर को कथित रूप से नशे की हालत में पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. इस मामले में भी स्कूल मैनेजमेंट की लापरवाही साफ नज़र आ रही है.

कल बड़ी संख्या में स्कूल पहुंचे थे अभिभावक

गुरग्राम के रायन स्कूल में बच्चे की हत्या से घबराए अभिभावक कल बड़ी संख्या में नोएडा के रायन इंटरनेशनल स्कूल जा पहुंचे. ताकि वो देख सकें कि नोएडा के स्कूल में भी कहीं उनके लाड़लों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ तो नहीं हो रहा. लेकिन अभिभावकों को रायन इंटरनेशन के नोएडा स्कूल के परिसर के अंदर एक कथित बस कंडक्टर और ड्राइवर नशे की हालत में मिले, जिन्हें लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया.

पकड़ा गया एक शख्स बार-बार अपने बयान बदलता नजर आया. पहले उसने स्कूल बस में काम करने की बात मानी, बस का नंबर भी बताया, लेकिन फिर कहने लगा कि वो यहां घूमने आया था. इसके बाद कहने लगा कि वो बस बैक करवा रहा था.

सुबोध, संदिग्ध हालत में पकड़ा गया शख्स

सवाल- क्या नाम है तुम्हारा?

जवाब- सुबोध

सवाल- क्या करते हो?

जवाब- बस में काम करता हूं.

सवाल- कौन सी बस में ?

जवाब- 5534

सवाल- स्कूल के अंदर ड्रिंक करके आए हो.

जवाब- इस बस में काम नहीं करता हूं. मैं इस बस में नहीं हूं जी, इस स्कूल में पहली बार आया हूं मैं. वो भी घूमने के लिए.

सवाल- ड्रिंक करके क्यों आए स्कूल के अंदर?

जवाब- अंदर नहीं घुसा था मैं. बाहर ही था.

सवाल- फोटो खींची है..वीडियो बनाई है तुम्हारी..

जवाब- भइया बता रहे हैं, मैं अंदर नहीं घुसा हूं..

बगल में खड़ा शख्स- ये गाड़ी बैक करवा रहा था.

जवाब- मैं गाड़ी बैक करवा रहा था.

प्रिंसिपल सुनीता मुखर्जी भी इस वाकये के बारे में गोलमोल बातें करती रहीं. पहले तो उन्होंने पकड़े गए शख्स के बारे में साफ कह दिया कि वो नशे में नहीं था. फिर अगली ही सांस में कहने लगीं कि पकड़ा गया शख्स स्कूल बस का ड्राइवर नहीं है.फिर उन्होंने कहा कि अगर वो शख्स स्कूल की कॉन्ट्रैक्ट वाली बस के साथ आया है, तो पुलिस उसका वेरिफिकेशन करेगी.

प्रिंसपल- क्या हुआ?

सवाल- मैडम वो ड्रिंक करके आया है

प्रिंसिपल- नहीं वो ड्रिंक नहीं किया हुआ है. पुलिस यहां है, वो जांच करेंगे और मेरे हिसाब से वो हमारा कॉन्ट्रैक्ट वाला ड्राइवर नहीं है. लेकिन अगर किसी वजह से उसे लाया गया है, तो पुलिस उसका वेरिफिकेशन करेगी.

बच्चों के माता-पिता की शिकायत पर स्कूल पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट को भी अभिभावकों ने पूरे वाकये की जानकारी दी. इस पर मजिस्ट्रेट ने कहा अगर स्कूल में ऐसी घटना होती है तो ये प्रिंसिपल की कमी है.

शख्स कौन है ? वो स्कूल के भीतर पहुंचा कैसे?

सवाल ये है कि अगर नोएडा के रायन इंटरनेशनल स्कूल में कल सुबह से अभिभावकों की भीड़ जमा नहीं हुई होती तो क्या ये दोनों संदिग्ध लोग स्कूल से पकड़े जाते. सवाल ये भी है कि जब किसी को ठीक से पता ही नहीं था कि पकड़ा गया शख्स कौन है, तो वो स्कूल के भीतर पहुंचा कैसे?

मां-बाप से मोटी फीस वसूलने वाले नोएडा के रायन इंटरनेशनल स्कूल में बच्चों के लिए कैसे इंतज़ाम हैं, इसकी पोल तो उस समय भी खुली जब एबीपी न्यूज़ का कैमरा स्कूल के मेडिकल रूम में पहुंचा. वहां हमें फर्स्ट एड बॉक्स के नाम पर सिर्फ कुछ खाली डिब्बे और दवाओं के नाम पर खाली शीशियां मिलीं.

क्या प्रशासन कोई कार्रवाई करेगा?

सवाल ये है कि हज़ारों रुपये की फीस वसूलने के बावजूद बच्चों की सुरक्षा में भयानक लापरवाही बरतने और फर्स्ट एड बॉक्स जैसी बुनियादी सुविधा तक मुहैया नहीं कराने वाले नोएडा के रायन इंटरनेशनल स्कूल के खिलाफ क्या प्रशासन कोई कार्रवाई करेगा या कार्रवाई के लिए गुरुग्राम जैसे किसी भयानक हादसे का इंतज़ार होता रहेगा?

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story आपको पता है? अगर बैंक लॉकर में रखा आपका बेशकीमती सामान चोरी हो गया तो बैंक नहीं करेगा भराई