सचिन को अवकाश देने पर राज्यसभा में हंगामा

By: | Last Updated: Tuesday, 12 August 2014 6:12 AM
Sachin’s leave application erupts chaos in Parliament

फ़ाइल: सात अगस्त 2012 को हुए उपराष्ट्रपति चुनावों के दौरान वोट डालने पहुंचे संसद के उपरी सदन राज्यसभा के सदस्य सचिन तेंदुलकर और रेखा

नई दिल्ली: राज्यसभा में सोमवार को मनोनीत सदस्य सचिन तेंदुलकर के अवकाश का अनुरोध करने वाले आवेदन पर जमकर हंगामा हुआ. राज्यसभा में जैसे ही सचिन का आवेदन पेश किया गया, सदस्यों ने सदन से उनकी अनुपस्थिति का मुद्दा उठाते हुए हंगामा शुरू कर दिया. उपसभापति पी.जे. कुरियन ने कहा कि सचिन ने ‘व्यक्तिगत एवं पेशेवर व्यस्तताओं’ और ‘पारिवारिक अनिवार्यता’ का जिक्र करते हुए सदन की बैठकों से अनुपस्थित रहने की अनुमति देने का अनुरोध किया है.

 

यह सदन की बैठकों में शामिल होने से छूट पाने के लिए आवेदन की सामान्य प्रक्रिया है और यह आम तौर पर सदस्यों को बिना किसी आपत्ति के दे दी जाती है. हालांकि, उपसभापति पी. जे. कुरियन ने जब सदन में सचिन का आवेदन पढ़कर सुनाया तो कुछ सदस्यों ने इस पर आपत्ति उठाई और हंगामा किया.

 

मुलायम सिंह की पार्टी समाजवादी पार्टी (एसपी) के नेता नरेश अग्रवाल ने कहा, “वह (सचिन) दिल्ली आए, विज्ञान भवन गए, लेकिन सदन में नहीं आए. यदि कोई दिल्ली आता है और सदन की बैठकों में भाग नहीं लेता है तो इसका अर्थ है कि वह सदन का सम्मान नहीं करता.”

 

उन्होंने कहा, “सचिन को यह बताने की आवश्यकता है कि जब वह दिल्ली में थे तो वह सदन में क्यों नहीं पहुंचे.” कुरियन ने हालांकि कहा कि सदस्यों से अवकाश मांगने वाले आवेदन पर चर्चा की उम्मीद नहीं की जाती. उन्होंने कहा, “विभिन्न कारणों से कई सदस्य सदन की बैठक से अनुपस्थित हैं.

 

यह सभापति की जिम्मेदारी है कि उनकी अनुपस्थिति का कारण जाने. यह सदस्यों का काम नहीं है कि वह पूछें कि कोई सदस्य क्यों नहीं आ रहा?” सदन ने सचिन को अवकाश की अनुमति दे दी.

 

सचिन की इस वर्ष राज्यसभा की कार्यवाही में एक भी दिन उपस्थित न रहने के कारण काफी आलोचना की गई. पीआरएस लेजिस्टेटिव रिसर्च के अनुसार, दिग्गज बल्लेबाज सचिन की सदन में उपस्थिति अब तक तीन फीसदी रही है.

 

राज्यसभा में मनोनीत सदस्या अभिनेत्री रेखा की भी अनुपस्थित रहने पर उनकी आलोचना होती रही है. रेखा ने सदन में पांच फीसदी उपस्थिति दर्ज कराई है. पिछले सप्ताह सचिन ने सदन में अपनी उपस्थिति पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा था कि अपनी भाई की बिमारी के कारण वह सदन से अनुपस्थित रहे.

 

सचिन ने कहा, “मेरे बड़े भाई के दिल का ऑपरेशन हुआ और ऐसे समय में मुझे उनके साथ रहना चाहिए था. मेरी किसी संस्थान की अवमानना करने की कोई मंशा नहीं थी.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Sachin’s leave application erupts chaos in Parliament
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ????? ?????? ????????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017