'सम्मान वापसी: प्रतिरोध या पाखंड' विषय पर संगोष्ठी

By: | Last Updated: Tuesday, 27 October 2015 10:52 AM
sahitya akademi award

नई दिल्ली: सम्मान वापसी पर उठे विवाद के बाद देश में विरोध और समर्थन का एक विमर्श चल पड़ा है. इसी विमर्श को केंद्र में रखते हुए एक संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है. इस आयोजन में देश के नामचीन साहित्यकार, पत्रकार, संस्कृतिकर्मी, ब्लॉगर शामिल हो रहे हैं.

 

आगामी 29 अक्टूबर 2015, गुरुवार को “सम्मान वापसी : प्रतिरोध या पाखंड” विषय पर सायं 5:00 बजे दिल्ली के दीनदयाल उपाध्याय मार्ग स्थित हिंदी भवन सभागार(आईटीओ मेट्रो से नजदीक) में एक संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है. हाल में जिस प्रकार से साहित्य अकदामी सम्मान वापसी का जो विमर्श पूरे देश में खड़ा हुआ है, ने इस बहस को जन्म दिया है कि क्या साहित्यकारों का यह कदम किसी विचारधारा के पूर्वाग्रह से प्रेरित है अथवा यह महज एक राजनीतिक विरोध है ? चूंकि सम्मान वापसी की शुरुआत से ही इसका विरोध करते हुए डॉ नामवर सिंह, राम दरश मिश्र व सुश्री चित्रा मुदगल जैसे प्रख्यात साहित्यकारों ने इसको सस्ती लोकप्रियता पाने का जरिया बताया है. संगोष्ठी में इस विषय पर चर्चा के लिए साहित्य एवं पत्रकारिता के बड़े हस्ताक्षर नरेंद्र कोहली, बलदेव वंशी, कमल किशोर गोयनका, अच्युतानन्द मिश्र, राम बहादुर राय, बलदेव भाई शर्मा सहित संस्कृति एवं कला के क्षेत्र से दया प्रकाश सिन्हा व मालिनी अवस्थी मौजूद रहेंगे.

 

इसके अतिरिक्त साहित्य, कला एवं पत्रकारिता के क्षेत्र से कई दिग्गज उपस्थित रहेंगे. इस विषय पर अबतक प्रकाशित पचास से ज्यादा लेखों की संकलन पुस्तिका के विमोचन सहित एक डाक्यूमेंट्री के प्रसारण की भी योजना है.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: sahitya akademi award
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: sahitya akademi award
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017