कभी अलगावादी थे, आज मंत्री बने सज्जाद लोन

By: | Last Updated: Sunday, 1 March 2015 11:15 AM
sajjad lone

जम्मू: कभी जम्मू-कश्मीर में अलगावाद का हिस्सा रहे सज्जाद गनी लोन ने आज मुख्य धारा की राजनीति में एक नया सफर तय करते हुए मंत्री पद की शपथ ली.

 

करीब एक दशक पहले अलगावाद से नाता तोड़ने वाले सज्जाद पीपुल्स कांफ्रेंस के नेता अब्दुल गनी लोन के बेटे हैं. अब्दुल गनी लोन की 21 मई, 2002 को श्रीनगर में हत्या कर दी गई थी.

 

लोन की इस नयी कामयाबी से राज्य की अलगाववादी राजनीति पर असर पड़ने की उम्मीद है और आज यह उस वक्त स्पष्ट हो गया जब मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने कहा कि लोन ने शुरूआत की और यह दूसरे अलगावादियों के लिए भी एक रास्ता है.

 

सज्जाद लोन का जन्म नौ दिसंबर, 1966 को हुआ था. वह अब्दुल गनी लोन के छोटे बेटे हैं.

 

उनके पिता की हत्या लोन के लिए निर्णायक मोड़ था. इसके बाद वह हुर्रियत कांफ्रेस में रहे लेकिन कट्टरपंथी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की ओर से उन पर आरोप लगाया कि 2002 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने छद्म उम्मीदवार खड़े किए. इसको लेकर हुर्रियत में विभाजन हो गया.

 

वह अपने भाई बिलाल गनी लोन के साथ फरवरी, 2004 में हुर्रियत से अलग हो गए और पीपुल्स कांफ्रेस का अपना अलग धड़ा बनाया. पीपुल्स कांफ्रेस की स्थापना उनके पिता ने की थी.

 

साल 2008 में अमरनाथ भूमि विवाद के खत्म होने के ठीक बाद हुए विधानसभा चुनाव में भारी मतदान हुआ और यहीं से सज्जाद का दिमाग बदला. उन्होंने अलगाववादियों से अपनी रणनीति की समीक्षा की अपील की.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: sajjad lone
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Jammu Kashmir sajjad lone
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017