MLC चुनाव नतीजे: समाजवादी पार्टी की आंधी में बीजेपी का खाता भी नहीं खुला

By: | Last Updated: Sunday, 6 March 2016 9:53 PM
Samajwadi Party gets clean sweep victory with 22 seats; Congress wins 1 seat, BJP wins none

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधान परिषद यानी MLC चुनाव नतीजों में समाजवादी पार्टी ने 28 में से 23 सीटों पर जीत हासिलकर बाजी मार ली है, जबकि बीजेपी का खाता भी नहीं खुल पाया. इस जीत को समाजवादी पार्टी अगले साल के विधानसभा चुनाव का ट्रेलर बता रही है. वहीं विपक्षी पार्टी बीएसपी उस पर सत्ता के दुरुपयोग का आरोप लगा रही है.

यूपी के फतेहपुर में MLC चुनाव नतीजों में जीत की खबर मिली तो समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता पुलिस से भी हनक दिखाने में बाज नहीं आए. पुलिस हाथ जोड़कर उनसे शांति बनाए रखने की अपील करती नजर आई. इलाहाबाद सदर तहसील का नजारा भी कुछ अलग नहीं था. यहां की कौशांबी MLC सीट पर समाजवादी पार्टी के वासुदेव यादव ने जीत हासिल की.

यूपी की 36 सीटों पर MNC चुनाव थे. जिनमें 8 पर समाजवादी पार्टी चुनाव से पहले निर्विरोध जीत चुकी थी. बाकी 28 सीटों के नतीजे आए तो उसमें 23 सीटों पर समाजवादी पार्टी को जीत मिली. मुख्य विपक्षी पार्टी बीएसपी के खाते में सिर्फ दो सीटें जौनपुर और सहारनपुर आईं. दो सीटें निर्दलीय के हिस्से गईं. एक सीट कांग्रेस के खाते में गई. पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से माफिया डॉन ब्रजेश सिंह निर्दलीय जीते. बीजेपी इस बार यूपी MLC चुनाव में खाता भी नहीं खोल पाई.

चुनाव नतीजों के बाद यूपी विधान परिषद में सत्ताधारी समाजवादी पार्टी को बहुमत हासिल हो गया है. MLC की सौ सीटों में से 58 सीटों पर अब एसपी का का कब्जा है.

MLC चुनाव में अपनी शानदार जीत को समाजवादी पार्टी अखिलेश सरकार के अच्छे कामकाज का नतीजा बता रही है. वहीं बीएसपी का आरोप है कि सत्ता की ताकत का दुरुपयोग कर समाजवादी पार्टी ने ये जीत हासिल की है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Samajwadi Party gets clean sweep victory with 22 seats; Congress wins 1 seat, BJP wins none
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017