देह के दलालों का काला बाजार, यहां सिक्कों पर उछलती है 'इज्जत'

By: | Last Updated: Thursday, 3 March 2016 11:10 AM
Sansani : Girls forced to enter sex racket

नई दिल्ली : समाज में भले ही महिलाओं के उत्थान के कई दावे किए जा रहे हैं. लेकिन, कुछ लड़कियों की जिंदगी का सच ये है कि उन्हें देह के दलाल पैसों के लालच में जिस्म की मंडी में बेच आते हैं. बंद अंधेरे कमरे में, जहां न सूरज की रोशनी पहुंचती है, न कोई आवाज आती है, वहीं ये लड़कियां पिंजरे में कैद परिदों की तरह डरी सहमी बैठी रहती हैं.

जैसे ही जिस्म का कोई खरीददार वहां पहुंचता है. तहखानों से निकालकर लडकियों को ग्राहकों के सामने किसी सामान सा परोस दिया जाता है. कुछ महीने पहले जब दिल्ली के जीबी रोड इलाके में जिस्म की कालकोठरी से इन लड़कियों को मुक्त कराया गया था. तो इनकी खौफनाक कहानी से लोग दहल गए थे.

जिस्म की ऐसी ही एक कालकोठरी में झारखंड की रहने वाली ये लड़की भी बिकने वाली थी. देह के दलाल इसे बेचने का पुख्ता इंतजाम कर चुके थे. सबसे पहले विनय नाम के एक लड़के ने इससे दोस्ती की और फिर अपने प्रेमजाल में फंसाकर वो इसे आजमगढ़ ले आया. लड़की के मुताबिक आजमगढ़ में विनय ने इसका यौन शोषण किया.

शारीरिक संबंधों के बाद जब ये गर्भवती हो गई तो डॉक्टर से दिखाने के बहाने वो इसे बनारस ले आया. बनारस में विनय देह के दलालों के साथ मिलकर इसे बेचने की तैयारी कर रहा था. पैसों के लालच में वो इसे जिस्म की कालकोठरी में भेजने की तैयारी कर रहा था. लड़की बेहद घबराई हुई थी. वो रो रही थी और तीन दलालों के साथ विनय लड़की को घेर कर खडा था.

इत्तेफाक से उसी दौरान समाज सेविका किरण वहां से गुजर रही थीं. शक होने पर किरण ने पूछताछ शुरु की तो देह के दलालों के साथ लड़की का दगाबाज प्रेमी विनय वहां से भाग गया. इस तरह ये लड़की अपनी बर्बादी से बाल बाल बच गई. किरण की वजह से झारखंड की रहने वाली ये लड़की देह के दलालों के चंगुल से बच गई.

अब किरण लड़की को सही सलामत उसके घर तक पहुंचाने की कोशिश कर रही हैं. ताकि इसकी बिखरी जिंदगी को फिर से संवारा जा सके. धोखे ने झारखंड की रहने वाली लड़की को देह के दलालों के चंगुल में फंसा दिया था. वो खुशकिस्मत थी जो बच गई. लेकिन, हर लड़की इतनी खुशनसीब नहीं होती.

ये सिर्फ एक ही कहानी नहीं है एक और लड़की की खौफनाक आपबीती को सुनकर आप दहल जाएंगे. सोचने पर मजूबर हो जाएंगे कि आखिर इसके साथ ऐसा क्यों हो गया. ये कैसे जिस्म के उन दलालों के हाथों में पड गई. जिन्होंने बर्बाद कर दी इसकी जिंदगी. इंजेक्शेन के जरिए उम्र से पहले ही इसे ‘जवान’ बना दिया. फिर सीधे देह के धंधे में लगा दिया. नेपाल से आई इस लड़की को 10 साल हो गए हैं. 12 साल की उम्र में इसे नर्क में ढकेला गया था.

ये कहानी सिर्फ इसी एक लड़की की नहीं है. नेपाल की ऐसी हजारों लडकियां हैं. जिन्हें 8 से 14 साल की उम्र में बहला-फुसला कर भारत लाया जाता है. फिर Oxytocin का इंजेक्शन लगाकर जिस्मफरोशी के धंधे में धकेल दिया जाता है. जानकारों की मानें तो देह के दलाल लडकियों को Oxytocin का इंजेक्शन यही मानकर लगाते हैं कि इससे उनका शारीरिक विकास वक्त से पहले ही हो जाएगा.

यूपी के गोरखपुर, महाराजगंज, बहराइच और देवरिया में कुछ दिन पहले जब पुलिस ने जिस्मफरोशी के एक रैकेट का खुलासा किया. पता चला इसका जाल के देश के दूसरे राज्यों तक भी फैल गया है. पुलिस के मुताबिक जिस्मफरोशी के दलाल अक्सर नेपाल के गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली कम उम्र की लडकियों को झांसा देते हैं. ऐसा वो इसलिए करते हैं कि भारत की सीमा में दाखिल होने के वक्त किसी को उनपर शक ना हो.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Sansani : Girls forced to enter sex racket
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017