हालात ने कॉल गर्ल बनाया, फिर बार गर्ल और आज हैं फिल्मों का बड़ा नाम

By: | Last Updated: Tuesday, 15 March 2016 11:07 AM
Sansani : Story of Shagufta Rafiq

मुंबई : डांस बार फिर से सजने लगे हैं और इसके साथ ही बेरोजगारी का दर्द झेल रही बार-गर्ल्स के चेहरों पर भी खुशी की रौनक आ गई है. हम आपको दिखाएंगे एक ऐसी ही बार-गर्ल की कहानी जो डांस बार के बंद होने के बाद अपनी जिंदगी के सबसे बुरे दौर से गुजरी. और, फिर संघर्ष के रास्तों पर चलते हुए वो बन गई जानी-मानी लेखिका.

हालात ने उसे कॉल गर्ल बना दिया था. मजबूरी में वो बार डांसर बनी. लेकिन, अब वो बॉलीवुड का एक जाना माना नाम है. उसने कई हिट फिल्मों की कहानियां लिखी हैं. कई फिल्मों के डॉयलॉग्स लिखें हैं. आप भी जानिए बार डांसर से सफल स्क्रिप्ट राइटर बनीं उस महिला की ये चौंकानेवाली दास्तान.

आशिकी 2 फिचर फिल्म का वो सीन जिसमें हीरो हिरोइन को गाना सुनता और वो कहती है वो इस जॉब को नही छोड़ सकती…आपको याद होगा. लेकिन, ये बात कम ही लोग जानते हैं कि यह कोई कहानी नहीं बल्की हकीकत थी. एक जिंदगी का अपना जीया हुआ अनुभव था.

कभी बार डांसर रही शगुफ्ता रफीक की आज नई पहचान है. एक नहीं दर्जन भर हिट फिल्मों, स्क्रीन प्ले और डॉयलॉग लिखने का श्रेय शगुफ्ता को जाता है. शगुफ्ता रफीक आज बॉलीवुड का जाना-माना नाम हैं, जिनके लिखे संवाद आपके दिल को छूते हैं उनका स्क्रीन प्ले में आप कई बार खो चुके होंगे.

लेकिन, एक वक्त बॉलीवुड का ये जाना-माना नाम बेबसी और गरीबी के अंधेरे में खोया था. उन दिनों शगुफ्ता रफीक को कॉल गर्ल से बार डांसर तक काम करना पड़ा. जी हां, फिल्मों की कहानी लिखने वाली शगुफ्ता की अपनी जिंदगी कहानी ऐसी है कि सुनकर आप भी सन्न रह जाएंगे. शगुफ्ता रफीक खुद बताती हैं कि जब से उन्होंने होश संभाला तो खुद को तंगहाली में पाया.

उनका परिवार फिल्म और संगीत से जुड़ा था. लेकिन, वक्त की मार ने उन्हें सड़क पर ला दिया था. एक वक्त ऐसा भी आया जब शगुफ्ता को रोजी रोटी के लिए जिस्मफरोशी तक करनी पड़ी. शगुफ्ता एक के बाद एक जिंदगी के इम्तेहान से गुजर रही थी. लेकिन, उनकी परेशानियां खत्म होने का नाम नहीं ले रही थी. इसी दौरान उन्होंने बार डांसर का काम करना शुरू कर दिया था.

मुंबई में जब डांस बार बंद हुए तो उनके सामने एक बार फिर रोजी रोटी का संकट आ गया. शगुफ्ता ने खुद देखा है कि कैसे मजबूरी में आकर कई बार गर्ल जिस्मफरोशी करने लगी. मुश्किलें बढती गई लेकिन शगुफ्ता ने हिम्मत नहीं हारी. मुंबई में बार बंद होने के बाद शगुफ्ता विदेश में जाकर शो करने लगी.

लेकिन, उन्होने अपने सपने को जिंदा रखें. फिर एक दिन डायरेक्टर महेश भट्ट ने उन्हें को काम का मौका दिया. लेकिन, शगुफ्ता के सबसे बड़े मददगार बने कलयुग, आवारापन और आशिकी- 2 के डायरेक्टर मोहित सूरी. 2005 मे डांस बार बंद होने के बाद उनकी पहली फिल्म आई 2006 में. फिल्म थी ‘वो लम्हे’ इस फिल्म का स्क्रीन प्ले और डायलॉग शगुफ्ता रफीक के ही थे.

इसके बाद तो शगुफ्ता के पास काम की लाइन लग गई. इसके बाद की उनकी फिल्में हैं आवारापन (2007) स्क्रीनप्ले और डायलॉग, धोखा (2007)-स्क्रीनप्ले और डायलॉग, शो-बीज (2007)-ऐडीशनल स्क्रीनप्ले राज ( द मिस्ट्री कन्टीन्यू ) (2009)-स्क्रीनप्ले और डायलॉग जश्न ( द म्यूजीक विदीन) (2009)-स्क्रीनप्ले और डायलॉग, कजरारे (2010)-डायलॉग.

इसके साथ ही मर्डर-2 (2010)-स्क्रीनप्ले और डायलॉग, जन्नत-2 (2012) स्टोरी, स्क्रीनप्ले, जिस्म-2 (2012) डायलॉग, राज 3डी ( द थर्ड डायमेंशन ) (2012) स्टोरी ,स्क्रीनप्ले और डायलॉग, आशिकी -2 (2013) स्टोरी ,स्क्रीनप्ले और डायलॉग. शगुफ्ता रफीक की जिंदगी की कहानी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Sansani : Story of Shagufta Rafiq
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण राणे
बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण...

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में एक बड़ा भूकंप आने की तैयारी में है. महाराष्ट्र में कांग्रेस...

JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी
JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी

पटना: बिहार की राजनीति में आज का दिन बेहद अहम माना जा रहा है. पटना में नीतीश की पार्टी की जेडीयू...

यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा रजिस्ट्रेशन
यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक अहम फैसले के तहत शुक्रवार से प्रदेश के सभी...

बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153  तो असम में 140 से ज्यादा की मौत
बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153 तो असम में 140 से ज्यादा की मौत

पटना/गुवाहाटी: बाढ़ ने देश के कई राज्यों में अपना कहर बरपा रखा है. बाढ़ से सबसे ज्यादा बर्बादी...

CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'
CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज स्वच्छ यूपी-स्वस्थ...

नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड क्रॉस
नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड...

जिनेवा: आईएफआरसी यानी   ‘इंटरनेशनल फेडरेशन आफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रीसेंट सोसाइटीज’ ने...

‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार
‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार

बीजिंग:  चीन ने शुक्रवार को जापान को फटकार लगाते हुए कहा कि वह चीन, भारत सीमा विवाद पर ‘बिना...

यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड
यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड

मथुरा: योगी सरकार ने साढ़े 7 हजार किसानों को बड़ी राहत देते हुए उनका कर्जमाफ किया है. सीएम योगी...

बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब पता था’
बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब...

पटना:  बिहार में सबसे बड़ा घोटाला करने वाले सृजन एनजीओ में मोटा पैसा गैरकानूनी तरीके से सरकारी...

यूपी: वाराणसी में लगे PM मोदी के लापता होने के पोस्टर, देर रात पुलिस ने हटवाए
यूपी: वाराणसी में लगे PM मोदी के लापता होने के पोस्टर, देर रात पुलिस ने हटवाए

वाराणसी: उत्तर प्रदेश में वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है. यहां पर कुछ...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017