गुस्साये ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट पर किया हमला

By: | Last Updated: Wednesday, 17 June 2015 7:03 PM

हापुड़: हापुड कलेक्टरेट पर आज गुस्साये ग्रामीणों ने धावा बोल दिया और एडीएम तथा अन्य कर्मचारियों से हाथापाई की जबकि एक व्यक्ति ने आत्मदाह का प्रयास किया.

 

पिलखुवा में तीन महीने पहले हुई दहेज हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से क्षुब्ध पीड़ित एक परिवार के लोगों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर कलेक्ट्रेट पर हमला करते हुए तोड़फोड़ की.

 

हमला करने वालों ने एडीएम से हाथापाई के साथ ही कर्मचारियों से जमकर मारपीट की और उनके बचाव में आए एडीएम के सुरक्षाकर्मियों से राइफल एवं काबाईन लूटने का प्रयास भी किया. वहीं मृतक के पिता ने अपने ऊपर मिट्टी का तेल छिड़क कर आत्मदाह करने का प्रयास किया.

 

पुलिस सूत्रों के अनुसार इस मामले में 12 से अधिक नामजद व्यक्तियों सहित दो सौ लोगांे के विरूद्घ हत्या के प्रयास सहित संगीन धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. इस मामले में लापरवाही बरतने के लिए कप्तान ने पिलखुवा थानाप्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है.

 

जानकारी के अनुसार थाना पिलखुवा के ग्राम दतैडी निवासी सूरजपाल की पुत्री प्रीति की शादी मौहल्लापुरा निवासी यशपाल के पुत्र विजय से आठ मार्च 2015 को हुई थी. 25 मार्च 2015 को प्रीति ने संदिग्ध रूप से आत्महत्या कर ली थी. मृतक के पिता यशपाल ने पांच ससुराल वालों विजय (पति), यशपाल (ससुर), रानी (सास), अजय (जेठ) व विकास (देवर) के विरूद्घ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी. पुलिस अभी तक किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है.

 

आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से क्षुब्ध मृतका के परिजन बुधवार 12 बजे पांच टैक्टर-ट्रॉली में सैकडों महिलाओं एवं ग्रामीणों सहित कलेक्ट्रेट पहुंचे. पीड़ित परिवार का एक प्रतिनिधिमण्डल जिलाधिकारी अजय यादव से मिला और आरोपियों को बचाने व गिरफ्तार करने की शिकायत की. जिलाधिकारी ने उन्हें कार्रवाई का भरोसा दिया और नगर पालिका में बैठक के लिए चले.

 

जिलाधिकारी जैसे ही अपने कार्यालय से नगर पालिका पहुंचे तभी सैकडों महिलाएं एवं युवक एडीएम सत्यप्रकाश पटेल के कार्यालय में घुस गए और उनके साथ हाथापाई करने लगे. उनके कार्यालय में मौजूद गनर अनुज कुमार ने जब भीड़ को रोकने का प्रयास किया तो प्र्दशनकारियों ने तोड़फोड़ करते हुए गनर को घेर लिया और उसकी कार्बाइन व एक अन्य सिपाही से राइफल लूटकर चलाने का प्रयास किया.

 

मौके पर मौजूद पत्रकारों ने एडीएम को बचाने के लिए उन्हें अंदर वाले आरामकक्ष में बंद कर दिया. इस दौरान पत्रकारों से भी मारपीट की गई. दूसरी तरफ अन्य भीड़ ने जिलाधिकारी अजय यादव के कार्यालय कर्मचारियों की जमकर पिटाई करते हुए पथराव किया. भीड़ द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर में तोड़फोड़ एवं मारपीट करने से भगदड़ मच गई और देखते ही देखते वहां आए फरियादी भी अपनी जान बचाकर भागने लगे.

 

घटना की सूचना मिलते ही एसडीएम शमशाद हुसैन, सीओ विशाल यादव, कोतवाल राजेन्द्र यादव सहित आसपास के थानों का भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया. पुलिस ने वहां उपद्रव कर रही भीड पर हल्का लाठीचार्ज करके महिलाओं सहित 100 लोगों को हिरासत में ले लिया.

 

इसी बीच मृतका के पिता यशपाल ने मिट्टी के तेल की केन से अपने शरीर पर मिट्टी का तेल डाल लिया और आग लगाने की कोशिश की. यद्यपि मौके पर मौजूद दरोगा सुधीर कुमार एवं अन्य ने उससे तेल की केन एवं माचिस छीनकर उसे बचा लिया.

 

थोडी देर में पुलिस कप्तान हिमांशु कुमार भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया. जिलाधिकारी अजय यादव ने बताया कि इस मामले में मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए गए हैं.पुलिस अधीक्षक हिमाशु कुमार ने बताया कि इस मामले में लापरवाही बरतने वाले पिलखुवा थानाध्यक्ष संजय त्यागी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया और मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: SDM_VILLAGE
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: SDM village
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017