ABP न्यूज का खुलासा, आतंकी हाफिज सईद से लगातार संपर्क में था अलगाववादी नेता शब्बीर शाह

ABP न्यूज का खुलासा, आतंकी हाफिज सईद से लगातार संपर्क में था अलगाववादी नेता शब्बीर शाह

By: | Updated: 23 Sep 2017 03:00 PM

नई दिल्लीः प्रवर्तन निदेशालय की पूछताछ में बड़ा खुलासा सामने आया है. जम्मू कश्मीर के अलगाववादी नेता शब्बीर शाह अन्तर्राष्ट्रीय आतंकवादी और भारत में हुए 26/11 हमले का मुख्य आरोपी हाफिज सईद के लगातार संपर्क में था. शब्बीर की पार्टी की वेबसाइट का एड्रेस पाकिस्तान में मिला है साथ ही उसकी पार्टी के दो आफिस पाकिस्तान में भी है.


पाकिस्तान से आने वाले टेरर फंड का तीन प्रतिशत कमीशन शब्बीर शाह हवाला ऑपरेटर को देता था. शब्बीर शाह और उसका सहयोगी असलम वानी फिलहाल दिल्ली की तिहाड़ जेल में है.


ईडी को पूछताछ के दौरान पता चला है कि शब्बीर शाह हाफिज सईद से लगातार संपर्क में रहता था. उन दोनों के बीच अंतिम बातचीत इसी साल जनवरी महीने में हुई थी. सूत्रों के मुताबिक पूछताछ के दौरान शब्बीर शाह ने ये स्वीकार किया है कि दोनो के बीच कश्मीर को लेकर बातचीत होती थी. लेकिन, क्या बातचीत होती थी फिलहाल इसका खुलासा नहीं किया गया है.


जांच के दौरान ईडी अधिकारियो ने जब शब्बीर शाह की वेबसाइट जेकेडीएफ ओआरजी की जांच शुरु की तो एक अहम खुलासा हुआ. ईडी को पता चला कि शब्बीर शाह की पार्टी की बेवसाइट का आईपी एड्रेस पाकिस्तान के पेशावर में है. इसकी देखभाल महमूद सागर नाम का शख्स करता है. इसके अलावा उसकी पार्टी का सूचना केंद्र सैटेलाइट टाउन रावलपिंडी में है, जबकि पार्टी का मुख्यालय शब्बीर शाह का श्रीनगर स्थित घर है.


जांच के मुताबिक शब्बीर शाह को पाकिस्तान के हवाला डीलरों के जरिए पैसे आते थे. इस पैसे को दिल्ली से कश्मीर पहुंचाने के बदले वो तीन प्रतिशत कमीशन देता था. उसकी पार्टी भारत में रजिस्टर्ड भी नही थी. वो पार्टी को मिलने वाले चंदे की रसीद भी किसी को नही देता था और ना ही आयकर रिटर्न फाइल करता था.


शब्बीर शाह और उसका सहयोगी असलम वानी फिलहाल दिल्ली की तिहाड़ जेल में है. असलम वानी ने ही शब्बीर के पास आने वाले पाकिस्तानी पैसों का खुलासा किया था ईडी ने शब्बीर शाह से जुडे 62 लाख रुपये भी जब्त कर लिए है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story एक्सपर्ट की राय: पीएम मोदी नहीं अमित शाह के लिए जरूरी था गुजरात जीतना