ये सात फैसले बताएंगे आपको बजट से नोटबंदी के बदले क्या मिला?

By: एबीपी न्यूज़ | Last Updated: Wednesday, 1 February 2017 9:05 PM
ये सात फैसले बताएंगे आपको बजट से नोटबंदी के बदले क्या मिला?

नई दिल्ली: आज वित्त मंती अरुण जेटली ने 2017-18 का बजट पेश किया. इस बजट के तुरंत बाद प्रधानमंत्री मोदी ने एक लाइन में इसका लब्बोलुआब पेश कर दिया. प्रधानमंत्री ने कहा, ”बजट में दाल से लेकर डेटा तक का ख्याल रखा गया.”

नोटबंदी के बाद देश ने जो कष्ट झेला क्या उसका कोई फायदा मिला?

दरअसल मोदी सरकार ने पिछले बजट से ही सूटबूट की छवि से बाहर आने की शुरुआत कर दी थी. कांग्रेस लगातार मोदी सरकार को सूटबूट की सरकार कहती थी लेकिन पिछले साल ही मोदी सरकार ने सूटबूट की सरकार का तमगा चिपकाने की विपक्ष की कोशिश खत्म कर दी थी और आज जब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट पेश किया तो उनके पिटारों से एक बार फिर गरीबों के लिए अच्छी खबर निकली और अमीरों के लिए बुरी खबर.

सात फैसलों से समझें क्या नोटबंदी के बदले कुछ मिला ?

पहला फैसला- अमीरों से लिया मिडिल क्लास और गरीबों को छूट दी

ढाई से पांच लाख पर 10 फीसदी की टैक्स को आधा करके पांच फीसदी कर दिया. अब तीन लाख तक की कमाई पर कोई टैक्स नहीं देना होगा. वहीं अमीरों पर टैक्स का बोझ बढ़ा दिया. 50 लाख से 1 करोड़ रुपए की सालाना आय वालों को 30% टैक्स पर 10% सरचार्ज देना होगा. हिसाब लगाएं तो हर साल उन्हें 2 लाख 76 हजार 813 रुपये ज्यादा चुकाने पड़ेंगे. इसी तरह 1 करोड़ से ज्यादा कमाने वालों को 30% टैक्स पर 15% सरचार्ज लगेगा. गरीबों में बांटने के लिए सरकार बजट पर अतिरिक्त बोझ डालती रहती है लेकिन इस बार मोदी सरकार ने गरीबों को देने के लिए अमीरों का टैक्स बढ़ाया जिससे हानि-लाभ की गुंजाइश नहीं बची.

दूसरा फैसला- किसानों की झोली भर दी

किसानों के लिए कृषि क्षेत्र में कर्ज की राशि एक लाख करोड़ से बढ़ाकर 10 लाख करोड़ रुपये की गई. फार्म लोन टारगेट 9 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 10 लाख करोड़ रुपये किया. सिंचाई के लिए आवंटित राशि 30 हजार करोड़ रुपये से बढ़ाकर 40 हजार करोड़ कर दी गई
सॉइल हेल्थ कार्ड पर जोर, कृषि विज्ञान क्षेत्र में 100 नए लैब बनाए जाएंगे. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए 9 हजार करोड़ दिए गए. मनरेगा के लिए 48 हजार करोड़ रुपये दिए गए, 10 लाख तालाब बनाने का भी लक्ष्य रखा गया है.

तीसरा फैसला- गांवों पर फोकस

2019 तक 1 करोड़ पक्के घर दिए जाएंगे. सारे गांवों में मार्च 2018 तक बिजली पहुंचेगी. गांवों में 133 किमी सड़क रोज बन रही है, पहले 73 किमी सड़क रोज बनती थी.

चौथा फैसला- छोटे उद्योगों को बड़ी छूट

छोटी कंपनियों का कॉर्पोरेट टैक्स कम कर दिया है. कॉर्पोरेट टैक्स 30 फीसदी से घटाकर 25% कर दिया गया है. 50 करोड़ तक के सालाना टर्नओवर वाली कंपनियों को तरजीह दी जाएगी. 96% कंपनियां इसी दायरे में आती हैं, स्टार्टअप के लिए कंपनियों को टैक्स सीमा में सात साल के लिए छूट दी गई.

इसके अलावा सरकार ने इस बार अफर्डबल हाउजिंग यानी किफायती घरों को इन्फ्रास्ट्रक्चर का दर्जा देने तका एलान किया.. रियल एस्टेट इंडस्ट्री इसकी लंबे समय से मांग कर रही थी. इस फैसले का ये असर होगा कि घरों को बनाने की लागत घट जाएगी और ज्यादा निवेशक आएंगे. फायदा मिडिल क्लास को भी मिलेगा

पांचवां फैसला- बुजुर्गों को फायदा

एलआईसी बुजुर्गों की नई योजना लाएगी जिसमें वरिष्ठ नागरिकों को 8 फीसदी तय रिटर्न मिलेगा. बुजुर्गों के लिए आधार आधारित हेल्थ कार्ड आएगा जिसमें उनकी सेहत की सारी जानकारी होगी.

छठा फैसला- राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी का एलान

छात्रों के लिए आईआईटी, मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए नई संस्था राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी बनेगी.. यानी अब आईआईटी, सीबीएसई और एआईसीटीसी प्रवेश परीक्षाएं नहीं लेंगी. अभी तक अलग-अलग बॉडी परीक्षाएं लेती थीं

सातवां फैसला- 3 लाख से ज्यादा कैश ट्रांजेक्शन पर रोक

3 लाख रुपये से नकद ट्रांजेक्शन पर रोक का फैसला काले धन पर लगाम लगाने के लिए है. यानी 3 लाख रुपये से ज्यादा के लेनदेन अब सिर्फ डिजिटल या ऑनलाइन ही कर पाएंगे.

गांव, गरीब, किसान, मिडिल क्लास को देकर और अमीरों से लेकर सरकार ने अपनी छवि एक बार फिर चमकाई है.. मोदी सरकार इसका इशारा पहले ही कर चुकी थी.

First Published: Wednesday, 1 February 2017 7:40 PM

Related Stories

#आपकीबात: हमारे पटेल, आपकी इंदिरा- क्या यह भेदभाव की राजनीति है?
#आपकीबात: हमारे पटेल, आपकी इंदिरा- क्या यह भेदभाव की राजनीति है?

नई दिल्ली: देश आज लौह पुरुष सरदार पटेल और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को याद कर रहा है. आज...

अमित शाह और लालू यादव में से कौन कर रहा है बिहार का अपमान?
अमित शाह और लालू यादव में से कौन कर रहा है बिहार का अपमान?

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने विवादित बयान देते हुए कहा है कि अगर बिहार में गलती से नीतीश लालू को...

#आपकीबात: क्या शिवसेना गुंडागर्दी कर रही है?
#आपकीबात: क्या शिवसेना गुंडागर्दी कर रही है?

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के औरंगाबाद में शिवसेना सांसद चंद्रकांत खैरे पर तहसीलदार के गंदी...

#आपकीबात: क्या दाऊद को पकड़वाएगा छोटा राजन?
#आपकीबात: क्या दाऊद को पकड़वाएगा छोटा राजन?

नई दिल्ली: एबीपी न्यूज को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन ने कहा कि वह...

#आपकीबात: क्या मोदी सरकार अब तक की सबसे कमजोर सरकार है?
#आपकीबात: क्या मोदी सरकार अब तक की सबसे कमजोर सरकार है?

बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण शौरी ने मोदी सरकार पर किया बड़ा हमला करते हुए मौजूदा PMO को सबसे कमजोर...

#आपकीबात: भारत की बेटी गीता को दीजिए अपनी शुभकामनाएं
#आपकीबात: भारत की बेटी गीता को दीजिए अपनी शुभकामनाएं

भारत की बेटी गीता पाकिस्तान से दिल्ली के लिए रवाना हो गई है. 11 साल पहले गलती से पाकिस्तान चली गई...

#आपकीबात: शिवसेना की गुंडागर्दी का इलाज़ क्या है?
#आपकीबात: शिवसेना की गुंडागर्दी का इलाज़ क्या है?

गुड़गांव में पाकिस्तानी थियेटर ग्रुप के शो के दौरान शिवसेना ने हंगामा किया है. शिवसेना...

#आपकीबात: दलित हत्याकांड पर दिए विवादित बयान को लेकर क्या बर्खास्त होंगे वीके सिंह?
#आपकीबात: दलित हत्याकांड पर दिए विवादित बयान को लेकर क्या बर्खास्त होंगे...

मोदी सरकार में विदेश राज्य मंत्री ने वीके सिंह के विवादित बयान पर हंगामा मचा हुआ है. सिंह ने...

#आपकीबात: क्या देश में दलित सुरक्षित हैं?
#आपकीबात: क्या देश में दलित सुरक्षित हैं?

राजधानी से सटे फरीदाबाद में दो दलित बच्चों की हत्या पर हंगामा मचा हुआ है. ऐसे में बड़ा सवाल ये है...