'आप' की पूर्व नेता शाजिया ने थामा BJP का दामन, बोलीं- ताउम्र रहूंगी बीजेपी में

By: | Last Updated: Saturday, 17 January 2015 6:25 AM
shazia_ilmi_join_bjp

फ़ाइल फ़ोटो: 'आप' के नेता कुमार विश्वास

नई दिल्ली: किरन बेदी के बाद आम आदमी पार्टी की पूर्व नेता शाजिया इल्मी ने बीजेपी ज्वाइन कर लिया.

 

शुक्रवार दोपहर 3 बजे शाजिया ने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय की मौजूदगी में बीजेपी का दामन थामा. इससे पहले, शाजिया ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से उनके घर जाकर मुलाकात की थी.

 

बीजेपी ज्वाइन करने के बाद शाजिया ने कहा, “मैंने बीजेपी में शामिल होकर काफी खुश हूं. अब बदले की भावना से नहीं, बदलाव की भावना से काम करने की जरूरत है.” शाजिया ने कहा कि वो जीवनभर के लिए बीजेपी में आई हैं.

 

शाजिया ने कहा कि नकारात्मक और अराजकता की राजनीति का अंत होना चाहिए.

 

शाजिया ने कहा, “मैंने बीजेपी से कुछ नहीं मांगा है और पार्टी जो कुछ कहेगी, मैं करने को तैयार हूं.”

 

शाजिया ने कहा कि वो चुनाव लड़ना नहीं चाहती, लेकिन पार्टी जो कहेगी वो करने को तैयार हैं.  शाजिया के अरविंद केजरीवाल के खिलाफ लड़ने की चर्चा है.

 

दिलचस्प बात ये है कि शाजिया ने इस मौके पर अरविंद केजरीवाल का नाम तो नहीं लिया, लेकिन ‘आप’ में रहते अपमान सहने को इशारों में बयान किया

 

 

अमित शाह से मुलाकात

 

अमित शाह से मुलाकात के बाद शाजिया ने कहा था, ”अमित शआह से मुलाकात बहुत अच्छी रही. उन्होंने मेरा जोरदार स्वागत किया. मैं जल्दी ही बीजेपी में शामिल होऊंगी.”

 

इससे पहले शाजिया ने आज कहा, ”केजरीवाल जी कमाल के शख्श हैं. उन्होंने मेरी कद्र नहीं की. किरन बेदी बेहतरीन प्रशासक हैं. दिल्ली, महाराष्ट्र या झारखंड नहीं है, इसलिए यहां अरविंद केजरीवाल की तरह एक मजबूत शख्शियत की जरूरत है. किरन जी दिल्ली के लिए बहुत मजबूत चेहरा हैं. ”

 

बेदी और शाजिया दोनों का नाम केजरीवाल के खिलाफ उम्मीदवार के तौर पर चल रहा है. हालांकि शाजिया कह चुकी हैं कि वो नई दिल्ली से चुनाव नहीं लड़ने जा रही हैं.

 

कौन हैं शाजिया इल्मी?

 

अन्ना आंदोलन से जुड़ने के बाद चर्चा में आईं शाजिया इल्मी अरविंद केजरीवाल के साथ आम आदमी पार्टी के गठन का हिस्सा रहीं और उसकी संस्थापक सदस्य रहीं.

 

अल्पसंख्यक चेहरा रहीं इल्मी ने 2013 के विधानसभा चुनाव में आर के पुरम से किस्मत आजमाई थी और मामूली अंतर से हार गयीं थीं. उसके बाद पार्टी उन्हें लोकसभा चुनाव में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ उतारना चाहती थी लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया.

 

लोकसभा चुनाव में दिल्ली की किसी सीट से टिकट देने की इल्मी की मांग को खारिज करते हुए आप ने उन्हें अंतत: गाजियाबाद से उतारा जहां वह हार गयीं.

 

इल्मी ने लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के कुछ ही दिन बाद केजरीवाल के इर्दगिर्द एक गुट होने का आरोप लगाते हुए पार्टी छोड़ दिया था.

 

बीजेपी में कौन होगा सीएम उम्मीदवार

किरन बेदी के बीजेपी में आने पर राजनीतिक हलचल तेज है. चर्चा है कि वो बीजेपी की सीएम उम्मीदवार भी हो सकती हैं. बीजेपी के विरोधी कह रहे हैं कि किरऩ सीएम उम्मीदवार हुईं तो हर्षवर्धन, सतीश उपाध्याय, जगदीश मुखी का क्या होगा?

 

एबीपी न्यज़ से बातचीत में केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ने को लेकर किरन बेदी ने कहा कि, ”जहां से पार्टी कहेगी मैं वहां से चुनाव लड़ेंगी. मेरे लिए जीत-हार का कोई मतलब नहीं है. मुझे हार का डर नहीं है. मैं जीत जाऊं लेकिन देश हार जाए तो कोई मतलब नहीं है.  मैं हार जाऊं और देश जीत जाए तो कोई मतलब नहीं है.” यह भी पढ़ेंकिरन बेदी होंगी बीजेपी की सीएम उम्मीदवार?

 

 

शाजिया के सहयोगी रहे कुमार विश्वास ने भी ट्वीट कर शाजिया के चुनाव लड़ने पर चुटकी ली. बेचारों को एक ईमानदार से लड़वाने के लिए अपनी पार्टी में एक ईमानदार प्रत्याशी ही नहीं मिल रहा?कहाँ-कहाँ “शाज़ि(श)” की “किरण” ढूँढ रहे हैं?

क्या है नई दिल्ली सीट का इतिहास

 

आपको बता दें कि नई दिल्ली विधानसभा सीट कांग्रेस का गढ़ मानी जाती थी. पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित यहां से लगातार तीन बार जीती थीं, मगर 10 दिसंबर, 2013 को हुए चुनाव में उन्हें पहली बार चुनाव में उतरे अरविंद केजरीवाल ने 20,000 से अधिक मतों से हराकर देश को स्तब्ध कर दिया था.

 

साल 2013 में दिल्ली में हुए विधानसभा  चुनाव में बीजेपी को 32,आप को 28, कांग्रेस को आठ और अन्य के खाते में दो सीटें गई थीं. उस समय कांग्रेस के समर्थन से आप ने सरकार ने बनाई थी जो 49 दिनों तक चली और फिर दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया.

 

किरन बेदी ने ज्वाइन की बीजेपी

गुरूवार को देश की जानी मानी शख्सियत, पूर्व आईपीएस अधिकारी और सामाजिक कार्यकता किरन बेदी बीजेपी में शामिल हुई हैं. बीजेपी सूत्रों के मुताबिक किरन बेदी बीजेपी की तरफ से सीएम पद की उम्मीदवार हो सकती हैं.

 

सूत्रों के मुताबिक किरन बेदी को चुनाव प्रचार की कमान भी दी जा सकती है. ऐसे कयास भी लगाए जा रहे हैं कि किरन बेदी ग्रेटर कैलाश या मालवीय नगर से चुनाव लड़ सकती हैं.

 

 

संबंधित खबरें-

केजरीवाल के खिलाफ कौन लड़ेगा चुनाव? किरन, शाजिया और जया के नामों की चर्चा 

केजरीवाल के खिलाफ बीजेपी की तरफ से शाज़िया या कोई और? 

पूर्व ‘आप’ नेता शाजिया इल्मी बीजेपी में हो सकती हैं शामिल 

स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ीं पूर्व ‘आप’ नेता शाजिया इल्मी, बीजेपी नेताओं के साथ मंच किया साझा 

शाजिया के खिलाफ वारंट जारी 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: shazia_ilmi_join_bjp
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017