शीना मर्डर मिस्ट्री: एक मां ने अपनी बेटी को क्यों मारा?

By: | Last Updated: Friday, 28 August 2015 1:56 PM
sheen amurder case-why mother killed dougher

नई दिल्ली: मुंबई के हाईप्रोफाइल शीना बोरा मर्डर केस में हर पल नए खुलासे हो रहे हैं. शीना के मर्डर के इल्जाम में गिरफ्तार उसकी मां इंद्राणी मुखर्जी को पुलिस दिन भर जगह जगह ले जाकर पूछताछ करती रही. इंद्राणी के ड्राइवर और पूर्व पति संजीव खन्ना से भी पूछताछ हो रही है लेकिन अब भी ये सवाल नहीं मिला है कि एक मां ने अपनी बेटी को क्यों मारा.

 

इंद्राणी मुखर्जी (शीना की मां), संजीव खन्ना (इंद्राणी का पूर्व पति) और श्यामवर राय (ड्राइवर) अभी तक पुलिस की जांच से पता चला है कि इन्हीं तीनों ने हत्या की साजिश रची और उसे अंजाम दिया. 24 अप्रैल 2012 को क्या हुआ.. इसकी गुत्थी भी पूरी तरह नहीं सुलझी है. इस बीच पीटर मुखर्जी ने वारदात वाले दिन की कहानी बताई है.

 

पीटर के मुताबिक, ”2012 में जिस समय शीना की हत्या की बात की जा रही है उस वक्त मैं बेटी विधि के पास लंदन में था फिर रोम चला गया जबकि इंद्राणी मुंबई लौट आई थीं. इंद्राणी अपने भाई मिखाइल से मिलने भारत आ गई थीं. दोनों शीना को अमेरिका में पढ़ने के लिए भेजने का इंतजाम करने के लिए मिले थे.”

 

 

लेकिन पुलिस सूत्रों के मुताबिक 24 जुलाई की शाम इंद्राणी मुखर्जी ने शीना को कॉल करके बांद्रा में नेशनल कॉलेज के सामने मिलने के लिए बुलाया. शीना के ब्वॉयफ्रेंड राहुल का दावा है कि इंद्राणी ने डिनर के बहाने शीना को बुलाया था.

 

पुलिस से पूछताछ के दौरान राहुल मुखर्जी ने कहा है कि घटना वाले दिन इन्द्राणी ने शीना को डिनर पर बुलाया था. शीना ने राहुल से भी डिनर पर चलने को कहा तब राहुल ने यह कहते हुए मना कर दिया कि मेरे इन्द्राणी से अच्छे सम्बन्ध नहीं हैं इसलिए वो नहीं जाना चाहता. फिर राहुल ने शीना को कहा कि चलो मैं तुम्हे वहां तक ड्राप कर देता हूँ. फिर राहुल ने शीना को को नेशनल कॉलेज के पास ड्राप किया और उस दिन के बाद शीना कभी नहीं लौटी.

 

सूत्रों के मुताबिक राहुल के जाने के बाद इंद्राणी ने शीना को कार में बैठने को कहा लेकिन शीना ने कार की पिछली सीट पर इंद्राणी के पूर्व पति संजीव खन्ना को बैठाकर देखकर कार में बैठने से इनकार कर दिया.. लेकिन इंद्राणी ने शीना को जबरदस्ती कार में खींच लिया. बताया जा रहा है कि खन्ना ने शीना के दोनों हाथों को पकड़ा, ड्राइवर राय ने दोनों पैरों को जकड़ लिया और फिर इंद्राणी ने शीना को गला घोंटकर मार दिया 

 

आरोपी ड्राइवर ने मजिस्ट्रेट के सामने खुलासा किया है कि शीना के शव को ठिकाने लगाने के लिए 23 अप्रैल 2012 को रेकी भी की गई थी और संजीव खन्ना को मुंबई बुलाया गया था. वर्ली के इस होटल में संजीव खन्ना रुका था हालांकि पूछताछ में संजीव खऩ्ना ने बताया कि शीना को अगवा करने के बाद वो कार में सो गया था.

 

सूत्रों के मुताबिक शीना की हत्या के बाद शव को बैग में डालकर रायगड के पेण में जलाकर फेंक दिया गया.. अब मुंबई पुलिस को उस जगह से हड्डियां मिली हैं जहां शीना को ठिकाने लगाया गया था. 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: sheen amurder case-why mother killed dougher
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017