शीना मर्डर मिस्ट्री सुलझने के करीब, हत्या में इस्तेमाल कार मिली

By: | Last Updated: Saturday, 29 August 2015 2:24 AM

मुंबई: मुंबई पुलिस शीना मर्डर केस सुलझाने के करीब पहुंच गई है. जिस कार में शीना की हत्या की गई थी वह कार पुलिस ने बरामद कर ली है. हत्या के बाद कार बेच दी गई थी. इसके जरिए पुलिस को जांच की कड़ियों को जोड़ने में काफी मदद मिलेगी.

 

इससे पहले मुंबई पुलिस ने बताया कि देहरादून से उन्होंने शीना बोरा का पासपोर्ट जब्त कर लिया है. इसी के साथ शीना के अमेरिका जाने की थ्योरी खत्म हो गई. शीना के बॉयफ्रेंड और पीटर मुखर्जी के बेटे राहुल मुखर्जी का ननिहाल देहरादून में है. राहुल की मां शबनम भी देहरादून में रहती हैं. देहरादून में राहुल का आना जाना था.

 

इससे पहले बीते दिन शीना मर्डर केस में खुली तमाम बड़ी परतों के बाद आज टेलीग्राफ अखबार ने शीना मर्डर केस में एक बड़ा खुलासा किया था. टेलीग्राफ ने बताया कि, एक रिश्तेदार के मुताबिक शीना के भाई मिखाइल बोरा ने शीना के मर्डर के 13 दिन बाद यानि 7 जुलाई 2012 को खुद ही ई-मेल से शीना का इस्तीफा भेज दिया था. 

 

टेलीग्राफ अखबार में छपी खबर के मुताबिक मिखाइल ने जुलाई 2012 में शीना के मकान मालिक को एक चिट्ठी भेजी थी जिसमें उसने शीना का रेंट अग्रीमेट कैंसिल करने की बात भी लिखी थी. 

वहीं ईमेल और रेंट अग्रीमेंट से आगे बढते हुए मिखाइल ने पिछले साल यानि 11 फरवरी 2014 को शीना के फेसबुक पेज पर इंद्राणी की तस्वीर पोस्ट की थी. शीना का लिंक्डइन प्रोफाइल भी मिखाइल पूरे दो हफ्ते पहले तक ऑपरेट कर रहा था.

 

दरअसल अखबार ने पुलिस अधिकारी के हवाला से बताया है कि मिखाइल को शीना के सभी इंटरनेट औऱ सोशल मीडिया पासवर्ड्स पता था. जिसका वो लंबे समय तक दुर्पयोग करता रहा. 

 

 

अखबार के मुताबिक इंद्राणी मिखाइल को ब्लैकमेल भी करती थी. मिखाइल चुप रहने के लिए हर महीने 12 हजार रुपए पॉकेट मनी भेजती थी. इंद्राणी इस बात को अच्छे से जानती थी कि मिखाइल ड्रग्स की लत का शिकार रहा है और उसे पैसे की ज़रूरत रहती है. इस बात को लेकर वो मिखाइल को अकसर धमकी देती थी अगर वो उसकी बात नहीं मानेगा तो वो उसे पैसे नहीं भेजेगी.

 

एक रिश्तेदार के मुताबिक इंद्राणी ने मिखाइल को एक बड़ी रकम देने का वादा किया था लेकिन वो रकम कभी भी आई ही नहीं. रिश्तेदार के मुताबिक शीना की हत्या के वक्त मिखाइल भी मुंबई में ही था लेकिन शायद उसे हत्या के बारे में पता नहीं था. उस समय वो हत्या के राज़ से बेखबर था.

 

रिश्तेदार के मुताबिक हत्या के बाद इंद्राणी ने मिखाइल को तुरंत गुवाहाटी भेज दिया और फिर कभी नहीं आने को कहा जिससे वो काफी परेशान था.

 

अखबार को रिश्तेदार ने ये भी बताया कि मिखाइल ने जब इंद्राणी से शीना के बारे में पूछा तो इंद्राणी ने कहा था कि शीना शराब की लत छुड़ाने के लिए रिहैब सेंटर भेजा गया है.

 

अखबार के मुताबिक इंद्राणी ने मिखाइल को भी बैंगलोर में ड्रग्स की लत छुड़ाने के लिए रिहैब सेंटर भेजा भी था.

 

शीना मर्डर केस में वरिष्ठ पत्रकार वीर सांघवी ने इंद्राणी मुखर्जी पर बड़ा खुलासा किया है. इंडिया टुडे को दिए इंटरव्यू में सांघवी ने कहा है कि इंद्राणी का बचपन में उसके सौतेले पिता ने शोषण किया था.

 

इससे पहले कल इंद्राणी मुखर्जी के पूर्व सहयोगी वीर सांघवी के खुलासे से इंद्राणी की पिछली जिंदगी के बारे में अहम बातें पता चली हैं. इंद्राणी अपनी बेटी शीना की हत्या के इल्जाम में गिरफ्तार हो चुकी है. बड़ा सवाल ये है कि इंद्राणी ने अपनी ही बेटी को क्यों मारा?

इंद्राणी और उनके पूर्व पति एस दास के अलग होने का दस्तावेज सामने आया है. इसमें शीना के पिता का नाम एस दास और मां का नाम इंद्राणी बोरा है.

 

शीना मर्डर मिस्ट्रीः मां इंद्राणी के असली पिता कौन, ये भी उलझा? 

अदालत में जमा किये गये शपथपत्र से दो चीजें स्याही की तरह साफ है. पहली-  इंद्राणी के पति एस दास थे जिनसे इंद्राणी का तलाक हुआ. और दूसरी- शीना के पिता श्री एस दास थे.

 

पहली बार दस्तावेजों से ये साबित हुआ है कि शीना का पिता कौन है? इंद्राणी मुखर्जी ने एफिडेविट में बयान दिया है कि मैं आपसी सहमति से अपने पति श्री एस दास से अलग हो गई हूं और मेरा उनसे साल 1989 से कोई संबंध नहीं है. मेरी जानकारी के मुताबिक ये सच है. मेरा बेटा मिखाइल बोरा और शीना बोरा जिनकी उम्र करीब तीन और चार साल हैं, मेरे साथ हैं और उनका मुझसे अलग हुए पति से कोई संबंध नहीं है.

 

एफिडेविट से खुलासा हुआ है कि इंद्राणी ने मिखाइल और शीना की देखरेख का जिम्मा नाना-नानी को सौंप दिया था. अभी तक इंद्राणी ने दुनिया को यही बताया था कि शीना उसकी बहन है.

 

इससे पहले शीना के बर्थ सर्टिफिकेट में उसके पिता का नाम उपेंद्र बोरा लिखा था जो इंद्राणी के पिता हैं.

 

 

शीना के सौतेले पिता संजीव खन्ना ने अपनी भूमिका स्वीकार की

देर रात मीडिया से बात करते हुए मुंबई पुलिस के आयुक्त राकेश मारिया ने कहा, ”शीना हत्याकांड में प्रमुख आरोपी संजीव खन्ना ने अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है. पुलिस ने रायगढ़ जिले से शीना बोरा के अवशेष बरामद किए हैं.”

 

मारिया ने कहा कि शीना के भाई मिखाइल ने कुछ तथ्य दिए हैं और हम उनकी पड़ताल कर रहे हैं. पुलिस ने देहरादून से शीना का पासपोर्ट बरामद कर लिया है जो इस दावे को झुठलाता है कि वह अमेरिकी गई थी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Sheena Bora murder case: Indrani’s ex-husband Sanjeev Khanna ‘confesses’, police probing possible profit angle
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017