शीना मर्डर केस: अब तक की जांच में हुए कई नए खुलासे

By: | Last Updated: Saturday, 29 August 2015 1:56 PM

नई दिल्ली: शीना हत्याकांड की गुत्थी काफी हदतक सुलझ चुकी है. आज पुलिस ने वो कार बरामद कर ली जिस कार में शीना की हत्या हुई थी. इसके अलावा पुलिस को शीना का पासपोर्ट भी मिल गया है. इस बीच राहुल ने खुलासा किया है कि शीना के साथ उसकी सगाई हो चुकी थी. आज शीना के भाई मिखाइल का एक बड़ा झूठ भी पकड़ा गया है.

 

शीना मर्डर केस में अभी तक क्या-क्या हुआ-

 

हत्या में इस्तेमाल कार बरामद

वो कार बरामद कर ली गई है जिसमें 24 अप्रैल 2012 को शीना बोरा की हत्या की गई थी. पुलिस के मुताबिक हत्या के तुरंत बाद इस कार को इंद्राणी मुखर्जी ने एक डीलर की मदद से काफी कम कीमत पर बेच दिया था.

 

शीना बोरा का पासपोर्ट बरामद

शीना बोरा का पासपोर्ट राहुल के ननिहाल से बरामद हुआ था. शीना के ब्वॉयफ्रेंड और पीटर मुखर्जी के बेटे राहुल मुखर्जी का ननिहाल देहरादून में है. इंद्राणी मुखर्जी शीना के बारे में सबसे कहती थी कि वो अमेरिका गई है लेकिन शीना के पासपोर्ट से उसका झूठ सबूतों के साथ पकड़ा गया. लेकिन यहां सवाल ये उठता है कि जब राहुल के पास शीना का पासपोर्ट था तो फिर उसने इस बात को पुलिस के सामने क्यों नहीं रखा?

 

राहुल के साथ होनेवाली थी शीना की शादी

पीटर मुखर्जी के बेटे राहुल ने पुलिस को बताया है कि साल 2011 में उसकी शीना के साथ सगाई हुई थी और जल्दी हो वो दोनों शादी करनेवाले थे. अब सवाल यह उठता है कि क्या दोनों की सगाई से नाराज होकर इंद्राणी ने शीना की हत्या की?

 

झूठ बोल रहा है मिखाइल?

मुंबई पहुंचकर मिखाइल ने बयान दिया है कि वो हत्या के दिन मुंबई में था और इंद्राणी ने उसकी भी हत्या की साजिश रची थी लेकिन 27 अगस्त को मिखाइल ने कहा था कि उसे नहीं पता था कि हत्या के दिन 24 अप्रैल 2012 को शीना कहां थी?

 

मिखाइल ने मर चुकी शीना को जिंदा क्यों रखा?

मिखाइल के बारे में अंग्रेजी अख़बार टेलीग्राफ ने एक सनसनीखेज खुलासा किया है. अखबार के मुताबिक शीना की मौत के 13 दिन बाद यानि 7 मई 2012 को मिखाइल ने मुंबई मेट्रो को शीना का इस्तीफा भेजा था. ऐसा उसने इंद्राणी के कहने पर किया था. मिखाइल ने जुलाई 2012 में शीना के मकान मालिक को भी एक चिट्ठी भेजी थी जिसमें उसने शीना का रेंट अग्रीमेट कैंसल करने की बात लिखी थी. मिखाइल ने पिछले साल यानि 11 फरवरी 2014 को शीना के फेसबुक पेज पर इंद्राणी की एक तस्वीर भी पोस्ट की थी. यही नहीं वो शीना का लिंक्डइन प्रोफाइल भी अब से दो हफ्ते पहले तक ऑपरेट कर रहा था.

 

अब यहां सवाल यह उठता है कि आखिर मिखाइल अपनी मर चुकी बहन को दुनिया की नज़र में जिंदा क्यों रखे हुए था? टेलीग्राफ अख़बार के मुताबिक इसकी बड़ी वजह मिखाइल की ड्रग्स की लत थी. इंद्राणी को पता था कि मिखाइल ड्रग्स की लत का शिकार है. इस बात को लेकर वो मिखाइल को धमकी देती थी कि अगर वो उसकी बात नहीं मानेगा तो वो उसे पैसे नहीं भेजेगी. चुप रहने के लिए इंद्राणी उसे हर महीने 12 हजार रुपए देती थी.

 

पुलिस सूत्रों के मुताबिक शीना बोरा मर्डर केस में संजीव खन्ना ने अपना गुनाह कबूल लिया है. ख़बर ये भी है कि उसने अपने दोस्त से कहा था कि इंद्राणी ने उसे बेवकूफ बनाया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: sheena bora murder: development case upto now
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: case development murder Sheena Bora
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017