शिखर सम्मेलन में रवि शंकर प्रसाद ने उठाया 'तीन तलाक' का मुद्दा, पूछा- सोनिया गांधी खामोश क्यों ?

शिखर सम्मेलन में रवि शंकर प्रसाद ने उठाया 'तीन तलाक' का मुद्दा, पूछा- सोनिया गांधी खामोश क्यों ?

By: | Updated: 19 May 2017 11:38 AM

नई दिल्ली : कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने शिखर सम्मेलन में 'तीन तलाक' का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि यह सवाल इबादत आदि का नहीं है बल्कि महिलाओं के हक का है. साथ ही कहा कि हम इबादत का सम्मान करते हैं. इसके साथ ही सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, प्रियंका गांधी और मायावती पर भी निशाना साध दिया. उन्होंने कहा कि ये लोग इस मसले पर खामोश क्यों हैं ?


कुछ राजनीतिक दल वोटों की राजनीति के लिए इसपर कुछ बोलना नहीं चाहते


उन्होंने कहा कि तीन तलाक असंवैधानिक है लेकिन, कुछ राजनीतिक दल वोटों की राजनीति के लिए इसपर कुछ बोलना नहीं चाहते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि मोदी जी अगर बार-बार चुनाव जीत रहे हैं तो यह प्रमाण है कि लोग उन्हें वोट दे रहे हैं और उनकी नीतियों का सम्मान कर रहे हैं. रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि देश विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है.


पाकिस्तान इस मामले में पूरी दुनिया के सामने बेनकाब हो चुका है


कुलभूषण जाधव के मामले में पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सरकार इस मामले में खामोशी से काम कर रही है. इसके साथ ही काम का असर भी दिखा है. इंटरनेशल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने भारत की बात सुनी है और फांसी पर रोक भी लगा दी है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान इस मामले में पूरी दुनिया के सामने बेनकाब हो चुका है.


कसाब जैसे लोगों को भी हर स्तर पर कानूनी मदद मुहैया कराई थी


रवि शंकर प्रसाद ने अजमल कसाब का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि भारत ने कसाब जैसे लोगों को भी हर स्तर पर कानूनी मदद मुहैया कराई थी. यह भारत की महानता है. पाकिस्तान पर कार्रवाई के मामले में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारतीय सेना इस काम में लगी है और हमें सेना पर पूरा भरोसा है.


भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट उमर फैयाज के बारे में भी उन्होंने जिक्र किया


आतंकियों की कायरता का शिकार हुए भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट उमर फैयाज के बारे में भी उन्होंने जिक्र किया. साथ ही उन्होंने कहा कि इस मामले में कथित मानवाधिकार बुद्धिजीवी शांत क्यों हैं. साथ ही लालू और चिदंबरम पर पड़े छापे को लेकर उन्होंने कहा कि जो घोटाले हुए हैं उनपर जांच हो रही है. किसी को प्रताड़ित नहीं किया जा रहा है.


बिहार में लालू और नीतीश के गठबंधन पर भी रवि शंकर प्रसाद ने निशाना साधा


बिहार में लालू और नीतीश के गठबंधन पर भी रवि शंकर प्रसाद ने निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अब देखना है कि लालू और नीतीश, शोले पिक्चर के जय और वीरू की तरह चलते रहेंगे या देश के विकास में योगदान करेंगे. उन्होंने कहा कि नीतीश सन 2013 में हमें छोड़कर गए थे, हमने उनको नहीं छोड़ा था.


तीन तलाक की सबसे ज्यादा शिकार महिलाएं यूपी और बिहार में है


साथ ही तीन तलाक के मुद्दे पर उन्होंने यह फिर कहा कि तीन तलाक की सबसे ज्यादा शिकार महिलाएं यूपी और बिहार में है. लेकिन, नीतीश कुमार, लालू यादव, सोनिया गांधी और मायावती इस मुद्दे पर पूरी तरह खामोश हैं. उन्होंने यह भी कहा कि तीन तलाक का सबसे ज्यादा विरोध समाज के अंदर ही हुआ है.


यह अच्छी बात है कि कांग्रेस को राम मंदिर की याद आ रही है


राम मंदिर के मसले पर रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि यह अच्छी बात है कि कांग्रेस को राम मंदिर की याद आ रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि राम मंदिर को लेकर काफी साक्ष्य हैं और सुप्रीम कोर्ट में सभी दिए गए हैं. हाईकोर्ट से भी हमें सकारात्मक निर्देश मिला था. उन्होंने कहा कि बातचीत के लिए भी रास्ता खुला है.


रविशंकर ने कहा कि भारत की डिजिटल इकॉनमी लगातर बढ़ रही है


आईटी मिनिस्टर के तौर पर रविशंकर ने कहा कि भारत की डिजिटल इकॉनमी लगातर बढ़ रही है. जो आंकड़े आईटी सेक्टर को लेकर दिए जा रहे हैं वे ठीक नहीं है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भीम एप पूरी तरह से सफल हो रहा है. अब आधार के जरिए पेमेंट सिस्टम को जोड़ने का काम चल रहा है.


महागठबंधन पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह डर का गठबंधन है


महागठबंधन पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह डर का गठबंधन है. कांग्रेस डर गई है. उन्होंने सवाल उठाया कि आखिर महागठबंधन के पास क्या एजेंडा है ? क्या घोटालों का है ? उन्होंने इससे पहले कहा कि भारत की जनता हमें प्यार दे रही है. हम उसका सम्मान करते हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story जानें- नमाज के नाम पर दिल्ली के रेलवे प्लेटफॉर्म पर कब्जे का सच