Debate: कैसे रुकेगी सांप्रदायिक राजनीति?

By: | Last Updated: Sunday, 12 April 2015 12:55 PM

नई दिल्ली/मुंबई: क्या सांप्रदायिक राजनीति पर रोक लगनी चाहिए? ये सवाल इसलिए क्योंकि शिवसेना की तरफ से एक नफरत भरा बयान आया है. शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन पार्टी के नेता ओवैसी बंधुओं पर निशाना साधते हुए कहा है कि मुसलमानों से वोटिंग का अधिकार छीन लेना चाहिए.

 

संजय राउत के इस बयान पर बवाल मचा हुआ है लेकिन संजय राउत अपने बयान को जायज ठहरा रहे हैं.

 

संजय राउत के लिखा, ओवैसी बंधु मुंबई में उछलकूद करके लौट गए. यह सब सौदेबाजी मुसलमानों के वोटों के लिए हो रही है. मुसलमानों के वोट सिर्फ सौदेबाजी के लिए ही उपलब्ध होंगे तो यह समाज हमेशा गर्त में ही रहेगा और उनके नेता अमीर बनेंगे. इसी वजह से शिवसेना प्रमुख ने कहा था कि मुसलमानों से मतदान का अधिकार छीन लो.

 

संजय राउत मुसलमानों के खिलाफ दिए अपने बयान को जायज ठहरा रहे हैं, लेकिन विरोधियों की नजर में उनका बयान शर्मनाक है.

 

कांग्रेस ने संजय राउत के बयान का विरोध किया है तो जनता दल यू नेता अनवर ने कहा कि शिवसेना देश के संविधान में यकीन नहीं रखती तो मुस्लिम नेता मौलाना जमील इलियासी ने कहा कि शिवसेना की राजनीति भी यही रही है.

 

संवैधानिक नजरिए से संजय राउत का बयान आपत्तिजनक है. अब जरा संजय राउत की राजनीतिक हालत पर गौर फरमाइए. वो शिवसेना के राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ नेता हैं. केंद्र और महाराष्ट्र में उनकी पार्टी बीजेपी की सहयोगी है.

 

कैसी लगेगी लगाम?

 

ऐसे में सवाल उठता है कि उनपर लगाम कौन लगायेगा?

 

संजय राउत के बयान पर MIM के विधायक इम्तियाज जलील का कहना है कि शिवसेना में हिम्मत है तो वह कानून बदल दें.

आप सोच रहे होंगे कि MIM के विधायक इम्तियाज जलील की इस चुनौती और संजय राउत के आपत्तिजनक बयान में क्या रिश्ता है? दोनों के बीच टकराव की शुरूआत विधानसभा चुनाव के समय से शुरु हुई है. विधानसभा चुनाव में ओवैसी की पार्टी ने दो सीटों पर जीत दर्ज की है और मुंबई की बांद्रा ईस्ट सीट पर शनिवार को हुए उपचनाव में भी शिवसेना और MIM के बीच कांटे के टक्कर की खबर है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: SHIVSENA and AIMIM
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: MIM saamna Shiv Sena
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017