पंकजा के पीछे फडणवीस की साजिश? शिवसेना ने उठाए सवाल

By: | Last Updated: Saturday, 27 June 2015 12:11 PM
Shivsena_Pankaja_munde_devendra_fadnavis

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में बीजेपी के साथ सरकार में शामिल शिवसेना ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधा है. शिवसेना के मुखपत्र सामना में शिवसेना ने लिखा गया है कि पंकजा मुंडे और विनोद तावड़े सीएम पद के भावी उम्मीदवार हैं, इसलिए उनसे जुड़े विवाद उछाले गए हैं.

 

क्या महाराष्ट्र के मंत्रियों से जुड़े विवादों को खुद महाराष्ट्र बीजेपी ही उछाल रही है?क्या पंकजा मुंडे और विनोद तावडे के खिलाफ सीएम फडणवीस साजिश कर रहे हैं? ये सवाल उठाया है महाराष्ट्र सरकार में शामिल बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने.

 

शिवसेना के मुखपत्र सामना में छपे लेख में कहा गया है-

स्वच्छता एवं जल आपूर्ति विभाग के मंत्रई बबनराव लोणीकर की फर्जी डिग्री के मामले से घोटालों के मुहूर्त का नारियल फूटा. उसके बाद स्कूली शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े की डिग्री के मामले में तूफान खड़ा हुआ. साफ है कि इतनी नाजुक और गोपनीय बात सतह पर लाकर मंत्रियों को अड़चन में डालनेवाले उनके निकटवर्ती ही होने चाहिए. पकंजा मुंडे का ‘चिक्की’ मामला भी सामने आया है.इनमें से विनोद तावडे और पकंजा मुंडे दोनों भविष्य में मुख्यमंत्री पद के दावेदार थे , इस सत्य को स्वीकारा जाए तो इन लफड़ों को बाहर निकालकर दोनों पर अंकुश लगाने की राजनीति निश्चित तौर पर खेली गई है.

 

दरअसल पंकजा मुंडे ने पुणे की एक सभा में कहा था कि महाराष्ट्र के लोग उन्हें मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं. कहा जा रहा है कि इसी बयान के बाद पकंजा को चिक्की घोटाले में फंसाया गया. एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार का भी कहना है कि महाराष्ट्र बीजेपी में जो कुछ भी हो रहा है उसके पीछे पार्टी के ही लोगों का हाथ है.

 

उधर पंकजा मुंडे के खिलाफ एंटी करप्शन ब्रांच में शिकायत करने वाले कांग्रेस नेता सचिन सांवत ने आरोप लगाया है कि उन्हें जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं. सचिन सावंत ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई है.

 

206 करोड़ के चिक्की घोटाले के आरोपों को लेकर महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस पंकजा मुंडे को क्लीनचिट दे चुके हैं. लेकिन कांग्रेस अब पूरे मामले की सीबीआई या कोर्ट की निगरानी में बनी एसआईटी से जांच की मांग कर रही है.

 

क्या है पूरा विवाद?

महाराष्ट्र की महिला और बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे पर 206 करोड़ के घोटाले का आरोप लग रहा है. उन पर आरोप है कि उन्होंने कायदे कानून को ताक पर रखकर अपनी पसंद की कंपनियों को स्कूल में खाना सप्लाई करने का ठेका दिया है. कांग्रेस ने इस मुद्दे पर पंकजा मुंडे से इस्तीफा मांगा है वहीं पकंजा मुंडे ने सफाई देते हुए कहा है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है.

 

पंकजा मुंडे विवाद: जानें क्या है चिक्की घोटाला? 

 

दरअसल पंकजा मुंडे के मंत्रालय में एक ही दिन में 206 करोड़ की खरीददारी हुई है जिसमें आदिवासी छात्रों के लिए चिक्की, किताबें, वॉटर फिल्टर जैसी चीजें खरीदी गईं. बाद में खुलासा हुआ कि ये सारी खरीददारी बिना किसी टेंडर के हुई है जबकि राज्य सरकार के नियम के मुताबिक एक लाख से ऊपर की सरकारी खरीद के लिए ई टेंडर निकालना जरुरी है.

 

कांग्रेस ने पंकजा मुंडे के मामले की शिकायत एंटी करप्शन ब्यूरो से की है और उसका दावा कि पंकजा के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं. दूसरी तरफ दिवंगत गोपनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे ने इस मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा है कि महिला और बाल विकास मंत्रालय में जो खरीददारी की गई है वो केंद्र सरकार के डायरेक्टर जनरल ऑफ सप्लाईज एंड डिस्पोजल्स के नियमों के अनुसार किया गया है.

 

यह भी पढ़ें-

पंकजा पंकजा मुंडे ने कांग्रेस नेता के एनजीओ को दिए थे 114 करोड़ के ठेके- इंडियन एक्सप्रेस मुंडे पर 206 करोड़ घोटाले का आरोप, जानें- क्या है चिक्की घोटाला? 

फर्जी डिग्रियां बना राजनीतिक चलन: उद्धव ठाकरे 

‘घूस वाले ऑडियो’ में फंसे CM शिवराज, क्लिप व्हाट्सएप पर वायरल 

केजरीवाल का बजट: जानें क्या-क्या होगा महंगा 

विवादों में बीजेपी की चार महिलाएं 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Shivsena_Pankaja_munde_devendra_fadnavis
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017