सरकार में शामिल होगी शिवसेना?

By: | Last Updated: Monday, 17 November 2014 4:29 AM

नई दिल्ली: महाराष्ट्र की राजनीति में एक बार फिर बड़ा उलटफेर हो सकता है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और आरएसएस के सह कार्यवाहक भैयाजी जोशी की शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से फोन पर बात हुई है. इसके बाद से ये चर्चा चल रही है कि राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी शिवसेना सरकार का हिस्सा बन सकती है.

 

खबर है कि अगले हफ्ते फडणवीस मंत्रिमंडल का विस्तार होगा. पीटीआई के मुताबिक राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि शिवसेना के लिए दरवाजे खुले हुए हैं और राजनीति में कब क्या होगा कहा नहीं जा सकता.

 

महाराष्ट्र विधानसभा का सत्र 8 दिसंबर से होने वाला है. शिवसेना के एक मात्र कैबिनेट मंत्री अनंत गीते ने भी कहा है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल से उनकी पार्टी अलग नहीं होगी. मुंबई के एक कार्यक्रम में अनंत गीते ने कहा कि उनकी पार्टी केंद्र में एनडीए का हिस्सा बनी रहेगी. राज्य का फैसला उद्धव ठाकरे करेंगे .

 

सूत्रों के मुताबिक आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के साथ- साथ आरएसएस के सहकार्यवाह भैयाजी जोशी की शिवसेना प्रमुख उद्दव ठाकरे की फोन पर बात हुई है. दोनों के बीच पिछले 10 दिनो में कई बार बात हुई है.

 

महाराष्ट्र में 13 दिन की बीजेपी सरकार ने विधानसभा में ध्वनिमत से विश्वास मत हासिल करने के बाद काफी विवाद हुआ था.विश्वासमत पर वोटिंग न कराने पर शिवसेना और कांग्रेस के विधायकों ने सदन में जमकर हंगामा किया था. शिवसेना विधायक वेल तक पहुंच गए थे.

 

शिवसेना क्यों जरूरी?

केंद्र में बहुमत के लिए मोदी सरकार शिवसेना पर निर्भर नहीं है लेकिन संसद में शिवसेना उसके लिए जरूरी है. अगर शिवसेना खिलाफ जाएगी तो राज्यसभा में सरकार बहुमत में नहीं होगी. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक सरकार संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक के जरिए कई अहम विधेयकों को पास कराना चाहती है.

 

बीमा संशोधन बिल, जमीन अधिग्रहण बिल, जीएसटी के लिए संविधान संशोधन बिल पास कराने के लिए सरकार को शिवसेना के समर्थन की जरूरत पड़ेगी. लोकसभा और राज्यसभा को मिलाकर सरकार के पास 396 सांसदों का समर्थन है. साधारण बहुमत से सिर्फ 4 सांसदों का समर्थन ज्यादा है. अगर शिवसेना सरकार के साथ खड़ी नहीं होगी तो एनडीए की कुल संख्या 375 रह जाएगी. जरूरी बहुमत से 17 सांसद कम पड़ जाएंगे.

 

हालांकि एनडीए सरकार एनसीपी, बीजेडी,  AIADMK जैसी पार्टियों के समर्थन की उम्मीद कर सकती है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: shivsena_rss
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017