रमजान में खिल उठा टोपियों का बाजार

By: | Last Updated: Wednesday, 16 July 2014 3:46 AM
Skull cap sales boost during Ramadan

लखनऊ: रमजान के दिन परवान चढ़ चुके हैं. हर तरफ बाजारों में रौनक छाई है. मस्जिदों में रोजेदारों का हुजूम देखते ही बनता है. जिनके सिर पर सजी नए-नए अंदाज की टोपियां लोगों को आकर्षित कर रही है. रोजेदारों के नमाज पढ़ने के लिए बाजार में नये-नये डिजाइन की टोपियां आई हैं.

रमजान को लेकर पुराने शहर के बाजार देर रात तक खुल रहे हैं. पुराने शहर के नक्खास, अकबरीगेट, चैक और नजीराबाद आदि क्षेत्रों में नमाज पढ़ने के लिए विभिन्न प्रकार के डिजाइन वाली टोपियां भी बाजार में उपलब्ध हैं. वहीं अमीनाबाद, रकाबगंज, आलमबाग, नटखेड़ा और मौलवीगंज आदि सहित शहर के बाजारों में जगह-जगह पर तरह-तरह की टोपियों की दुकाने सजीं हुई है.

 

वैसे भी रमजान में बाजारों की रौनक कई गुना बढ़ जाती है और इस रौनक में रंग-बिरंगी देसी और विदेशी टोपियां नया रंग भर रही हैं. रमजान में टोपियों की खास रिवायत होने के बाद इस बार लोगों को देसी ही नहीं विदेशी टोपियां भी खूब लुभा रही है.

 

यदि पुराने वक्त की बात करें तो लोगों के सिरों पर लखनवी, रामपुरी टोपियों को साथ-साथ हैदरबाद की निजामी टोपियां देखने को मिलती थी. लेकिन जैसे जैसे वक्त बदला गैर-मुल्की टोपियों ने भी लोगों के सिरों पर जगह बनानी शुरू कर दी है.

 

आज बाजारों में अलिफ, फारूक, आजम, अल-फदीला, सना, सीरिया, जन्नत, पाकीजा, जीनत, उमर, सुन्नत, बेंत टोपी, समरदाना, मोती, तुर्की, स्टार, लावर फोम, दमिश्क तुर्की, इंडोनेशिया की टोपियां मिल रही है. लेकिन इन सब में चीनी टोपियों ने भी अपना दखल देना शुरू कर दिया है.

 

बाजार में वैसे तो कई प्रकार की टोपियां मौजूद हैं. लेकिन रोजेदार अपनी पसंद के मुताबिक रेशमी, सूती तथा प्लास्टिक की टोपियां खरीद रहे हैं, लेकिन सूती टोपी को रोजेदार खास तवज्जो दे रहे हैं. यह टोपी अन्य टोपियों के मुकाबले ज्यादा महंगी है. जिसकी बनावट व खूबसूरती रोजेदारों को अपनी ओर आकर्षित कर रही है.

 

अमीनाबाद में टोपियों की दुकान लगाने वाले बुजुर्ग दुकानदार रहतम बताते हैं कि नंगे सिर रहना इस्लाम के खिलाफ है. टोपी पहना सुन्नत-ए-रसूल है तथा इस्लाम की पहचान है. बिना टोपी के किसी की नमाज कबूल नहीं होती इसलिए हर मुसलमान को कम से कम नमाज के वक्त टोपी जरूर पहनी चाहिए और पहनता भी है.

 

वह बताते हैं कि बाजार में 35 रुपये से रुपये से लेकर 700 रुपये की टोपियां हैं. इस बार गर्मी के मद्देनजर बाजार में महीन जालीदार टोपियां भी लायी गई हैं. इनकी कीमत 35 रुपये से शुरू है. इस साल भी बाजार में चीनी टोपियां छायी हैं. इसके अलावा दुकानों पर प्लास्टिक की टोपियां भी हैं. यह टोपियां लोग मस्जिदों में रखवाने के लिए खरीदते हैं.

 

चौक के दुकानदार बशीर खां बताते हैं कि बाजारों में विदेशी टोपियां धड़ल्ले से बिक रही हैं. बंगलादेशी, दमिश्क, चीनी टोपियों की बिक्री बढ़ गई है. वह कहते हैं कि देसी टोपियों के मुकाबले लोग विदेशी टोपियां पहनना अधिक पसंद कर रहे हैं. इन टोपियों की कीमत 35 रुपये से 900 रुपये तक है. कीमत के हिसाब से इनकी किस्म भी अलग-अलग है. बाजार में हर उम्र के लिए टोपी की मौजूद है. सूती की बनी टोपी लोग ज्यादा पसंद कर रहे हैं.

 

बशीर बताते हैं कि गर्मी को देखते हुए युवा सूती से बनी चीनी टोपियां पहनना अधिक पसंद करते हैं क्योंकि यह आसानी से सिर में फिट बैठ जाती है और इनकी कीमत भी ज्यादा नहीं है. वहीं उम्रदराजों की पसंद सूती की बनी बंगलादेशी टोपी है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Skull cap sales boost during Ramadan
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

ब्रिक्स सम्मेलन: तनातनी के बीच सितंबर के पहले हफ्ते में चीन जाएंगे पीएम मोदी
ब्रिक्स सम्मेलन: तनातनी के बीच सितंबर के पहले हफ्ते में चीन जाएंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद को लेकर चीन युद्ध का माहौल बना रहा है. इस तनाव के माहौल में पीएम नरेंद्र...

गोरखपुर ट्रेजडी: इलाहाबाद HC ने योगी सरकार से पूछा सवाल, बच्चों की मौत कैसे हुई ?
गोरखपुर ट्रेजडी: इलाहाबाद HC ने योगी सरकार से पूछा सवाल, बच्चों की मौत कैसे...

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक नहीं लगाई
योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री...

ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी
ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी

भागलपुर:  बिहार में जिस सृजन घोटाले को लेकर राजनीति गरम है उसको लेकर बड़ा खुलासा किया है. एबीपी...

CCTV में कैद दिल्ली का 'दुशासन': 5 स्टार के सिक्योरिटी मैनेजर ने की महिला से छेड़खानी
CCTV में कैद दिल्ली का 'दुशासन': 5 स्टार के सिक्योरिटी मैनेजर ने की महिला से...

नई दिलली: राजधानी दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में महिला से छेड़खानी का एक सनसनीखेज मामला सामने...

आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त
आज हर कीमत पर चुनाव जीतना चाहती हैं राजनीतिक पार्टियां: चुनाव आयुक्त

गुरुवार को एडीआर के एक कार्यक्रम में चुनाव आयुक्त ने कहा, जब चुनाव निष्पक्ष और साफ सुथरे तरीके...

भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया
भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया

नई दिल्ली: डोकलाम को लेकर चीन से तनातनी के बीच भारत को जापान का समर्थन मिला है. जापान ने डोकलाम...

2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा
2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा

नई दिल्ली: दिल्ली की आप सरकार तेजाब हमलों के उन मामलों पर विचार करेगी, जो सरकार की 2015 में...

बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने  बच्चे को जन्म दिया
बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने बच्चे को जन्म दिया

चंडीगढ़: बलात्कार पीड़ित एक 10 साल की लड़की ने कल अस्पताल में एक बच्चे को जन्म दिया. लड़की के...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017