वाराणसी में स्मृति के खिलाफ नारेबाजी

By: | Last Updated: Saturday, 15 November 2014 10:49 AM

नई दिल्ली : वाराणसी में शिक्षा मंत्री स्मृति ईरानी का काफिला रोकने की कोशिश हुई है. स्मृति ईरानी वाराणसी के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ और मदन मोहन मालवीय हिंदी पत्रकारिता संस्थान के कार्यक्रम में गईं थी.

 

कार्यक्रम खत्म होने के बाद जब स्मृति वापस जाने के लिए निकलीं तो वहां पहले से मौजूद बीएचयू और महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के छात्रों ने छात्र संघ की बहानी और जल्द से जल्द बीएचयू ट्रॉमा सेंटर शुरू करने की मांग करते हुए उनका विरोध शुरू कर दिया . स्मृति ने बीएचयू ट्रामा सेंटर शुरू करने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों से बात करने का छात्रों को भरोसा दिया.

 

आपको बता दें कि बीएचयू ट्रॉमा सेंटर के उद्धाटन विवाद पर स्मृति ईरानी ने कहा था कि सिर्फ इमारत बनी है और स्टाफ नहीं हैं तो उद्घाटन कैसे करूं .

 

स्वास्थ्य मंत्रालय और मानव संसाधन मंत्रालय के झगड़े में फंसा वाराणसी का ट्रॉमा सेंटर उद्घाटन की बाट जोह रहा है. कांग्रेस का आरोप है कि इसके पीछे मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी की जिद है. विवाद बढ़ता देख स्मृति के मंत्रालय ने सफाई दी है कि निमंत्रण पत्र तो मिला ही नहीं. लेकिन बीएचयू ने जून में ही स्मृति को निमंत्रण पत्र भेजा था. इसके पुख्ता सबूत एबीपी न्यूज के पास हैं.

 

मामला तूल पकड़ता देख मानव विकास संसाधन मंत्रालय ने सफाई दी है. मंत्रालय से जारी बयान में कहा गया है कि इस सिलसिले में अभी तक निमंत्रण नहीं मिला है. बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में अभी कोई वाइस चांसलर नहीं है. स्मृति ईरानी 15 नवंबर को काशी विद्यापीठ लेक्चर के लिए जा रही हैं. सही समय पर ट्रॉमा सेंटर का उद्घाटन हो जाएगा.

 

मानव संसाधन विकास मंत्रालय की दलील जो भी हो. लेकिन एबीपी न्यूज के पास यूनिवर्सिटी की ओर से भेजे गए निमंत्रण पत्र की प्रति है, जिससे साफ है कि स्मृति ईरानी को भी जून में ही निमंत्रण भेजा गया था.

 

आपको बता दें अगस्त 2013 से बनकर तैयार 334 बिस्तरों वाला ट्रामा सेंटर वाराणसी का सबसे बड़ा इमरजेंसी अस्पताल है. 14 ऑपरेशन थियेटर और 50 बेड वाले ICU की सुविधा वाले इस ट्रॉमा सेंटर के खुलने का यूपी-बिहार की जनता बेसब्री से इंतजार कर रही है.

 

पेंच कहां फंसा है अब वह जान लीजिए.

वाराणसी हिंदू यूनिवर्सिटी. मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तहत आता है, जबकि यूनिवर्सिटी कैंपस में इस ट्रॉमा सेंटर को बनाने के लिए पैसा स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिया. पीएमओ कार्यालय ने इसके उद्घाटन के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय से बात की. आरोप है कि इसी बात पर मानव संसाधन विकास मंत्री चिढ़ गईं.

 

बताया जाता है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के दवाब में ट्रामा सेंटर के प्रमुख डाक्टर दिनेश कुमार सिंह हटा दिए गए है. अब स्वास्थ्य मंत्रालय से डॉ हर्षवर्द्धन की भी विदाई हो चुकी है. लेकिन सवाल अब भी वही है. आखिर कब शुरू होगा बीएचयू का ट्रामा सेंटर.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Smriti Irani
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Smriti Irani
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017