सोशल मीडिया में बीजेपी, आप की जंग

By: | Last Updated: Saturday, 27 December 2014 1:15 PM
social media_facebook_twitter_

नई दिल्ली : दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर धुर विरोधी आम आदमी पार्टी (आप) का 24 घंटे सामना करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के ‘वार रूम’ में लैपटॉप, कंप्यूटर और उच्च क्षमता वाले इंटरनेट कनेक्शन से लैस दर्जन भर आईटी पेशेवर युवा सैंकड़ों स्वयंसेवियों के साथ मौजूद हैं.

 

महीने की शुरुआत में पंडित पंत मार्ग स्थित बीजेपी के प्रदेश मुख्यालय में स्थापित किए गए ‘वार रूम’ में पेशेवर युवा मौजूद हैं, जिसमें कुछ पार्ट टाइम काम भी करते हैं. वे बीजेपी, इसकी नीतियों और नेताओं को लेकर किए जा रहे ट्वीट और फेसबुक टिप्पणियों पर गहरा विश्लेषण करते हैं.

 

बीजेपी के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख सुमित भसीन ने कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने टीम से सोशल मीडिया पर आक्रामक रुख अपनाने को कहा है.

 

भसीन ने बताया, “वार रूम हर चुनाव से पहले बनाए जाते हैं, लेकिन इस बार हमने अपने प्रयास तेज किए हैं और परिणाम दिख रहे हैं. हम इससे पहले सक्रिय नहीं थे.”

 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रौद्योगिकी और सोशल मीडिया को पसंद करने की वजह से इसे गति मिली है.

 

उनके अनुसार, फेसबुक पर पार्टी के फॉलोअर्स की संख्या 11 लाख से बढ़ कर पिछले एक महीने में 13 लाख से ज्यादा हो गई है.

 

दिल्ली में लोगों तक पहुंच बनाने के लिहाज से पार्टी आप से आगे बढ़ गई है.

 

उन्होंने कहा, “बीजेपी के फेसबुक पोस्ट को 10,000 लाइक मिलते हैं, जबिक आप को सिर्फ 5,000 लोग पसंद करते हैं.”

 

भसीन इसका श्रेय युवाओं से भरी अपनी टीम को देते हैं, जो न सिर्फ फेसबुक पोस्ट और ट्वीट का विश्लेषण करते हैं, बल्कि संभावित स्वयंसेवकों की तलाश भी करते हैं.

 

टीम के एक सदस्य ने कहा, “हम उन सारी टिप्पणियों पर नजर रखते हैं, जिन पर हम ध्यान दे सकते हैं. जिनके पास कुछ विचारणीय होता है या फिर उनके पास पार्टी और इसकी नीतियों के प्रचार का बेहतर सुझाव होता है तो उनसे हमारी टीम संपर्क करती है.”

 

मौजूदा समय में पार्टी के दिल्ली में 100 से अधिक स्वयंसेवी हैं जो 70 में से 52 विधानसभाओं पर नजर रखे हुए हैं. यह संख्या चुनाव के करीब आने पर 500 हो जाएगी.

 

उन्होंने कहा, “स्वयंसेवियों का काम पार्टी का संदेश लोगों तक पहुंचाना है और हमारे समर्थन में उनकी राय बनाने में मदद करना है.”

 

भसीन ने यह भी कहा कि किसी भी स्वयंसेवक को पैसे नहीं दिए गए हैं.

 

फेसबुक पर जीत मिलने के बाद पार्टी की नजर अब ट्विटर और व्हाट्सएप पर है.

 

भसीन ने कहा, “फेसबुक हमारा आधार है और अन्य माध्यम व्हाट्सएप, ट्विटर, ई-मेल, एसएमएस अन्य वितरण के माध्यम हैं. लेकिन इसके बावजूद भी हम ट्विटर पर भी अगले सप्ताह से आक्रामक अभियान शुरू करेंगे और चुनाव से कुछ सप्ताह पहले व्हाट्सएप पर भी लोगों से जुड़ने की कोशिश की जाएगी.”

 

पार्टी फिलहाल 250 समूहों के साथ दिल्ली में15,000 सदस्यों से जुड़ने के लिए व्हाट्सएप का इस्तेमाल कर रही है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: social media_facebook_twitter_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?? ???? ?????? ?????? Facebook social media
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017