राजस्थान: निवेश के नाम पर 1600 की ठगी करने वाले गिरोह का भांडाफोड़

राजस्थान: निवेश के नाम पर 1600 की ठगी करने वाले गिरोह का भांडाफोड़

राजस्थान में ये लोगों से लगभग 56 करोड़ की ठगी का कारोबार कर चुके थे लेकिन इसके पहले कि और लोगों को अपना शिकार बनाते राजस्थान स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने इन्हें धर दबोचा.

By: | Updated: 05 Nov 2017 08:21 AM
SOG arrests five, including CMD, 2 directors of liquor company

नई दिल्ली: राजस्थान स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने देश भर में चल रहे फर्जीवाड़े का एक बड़ा खुलासा किया है. निवेश के नाम पर लाखों लोगों से करोड़ों की ठगी के आरोप में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है.


इन लोगों पर पांच राज्यों में तीन लाख लोगों के साथ सोहल सौ करोड़ की ठगी का आरोप है. ये लोगों को पैसा दोगुना करने का लालच देकर उनसे पैसा वसूलते थे और बाद में कंपनी को दिवालिया दिखाकर रफू चक्कर हो जाते थे.


ये लोग पिनकॉन ग्रुप के नाम से कंपनी चलाते थे और कागजी हेराफेरी कर बड़े ही शातिराना तरीके से सारा का सारा पैसा शैल कंपनियों में ट्रांसफर कर देते थे. पिनकोन ग्रुप ने राजस्थान में लोगों को शिकार बनाने लिए LRN फाइनेंस लिमिटेड, ASK फाइनेंशियल सर्विसेज, ग्रिनेज फुड़ प्रोडक्ट, बंगाल पिनकोन हाउसिंग इन्फ्रा लिमिटेड, LRN यूनिवर्स प्रडयूसर कपंनी और यूनिवर्सल मल्टिस्टेट क्रेडिट कॉपरेटिव सोसाइटी के नाम से 6 फर्जी कंपनियां बनाई थीं.


राजस्थान में ये लोगों से लगभग 56 करोड़ की ठगी का कारोबार भी कर चुके थे लेकिन इसके पहले कि और लोगों को अपना शिकार बनाते राजस्थान स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने इन्हें धर दबोचा. यहीं नहीं कंपनी ने नोटबंदी के दौरान बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर करोड़ों की हेराफेरी की.


राजस्थान SOG अब देश के दूसरे राज्यों की पुलिस से संपर्क में है. इसके साथ ही दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के लिए सीबीआई की मदद भी लेने की बात कर रही है जिससे इस पूरे खेल का पर्दाफाश किया जा सके.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: SOG arrests five, including CMD, 2 directors of liquor company
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story अब दिल्ली के बीएल कपूर अस्पताल पर आरोप, बच्ची की मौत के बाद थमाया 19 लाख का बिल