सरकार बहुमत का घमंड न दिखाए, PM को सुषमा, शिवराज, वसुंधरा के इस्तीफे लेने होंगे: सोनिया

By: | Last Updated: Monday, 3 August 2015 4:51 AM

नई दिल्ली :  संसद के मॉनसून सत्र में विपक्ष के विरोध के कारण कामकाज पूरी तरह से ठप है और आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जो बयान दिया है उससे साफ है कि गतिरोध खत्म होने के आसार नहीं है.

 

राहुल गांधी ने एबीपी न्यूज़ से कहा कि जिसने भ्रष्टाचार किया है उनका इस्तीफा हो.

 

कांग्रेस की मांग है कि देश के भगोड़े और आईपीएम के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी को मदद पहुंचाने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का इस्तीफा होना चाहिए. कांग्रेस की ये भी मांग है कि ललिटगेट में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधराराजे सिंधिया भी शामिल हैं, इसलिए उनकी भी कुर्सी जानी चाहिए.

 

कांग्रेस की ये भी मांग है कि व्यापम घोटाले के कथित गुनाहगार मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह का भी इस्तीफा होना चाहिए. कांग्रेस पीएम की चुप्पी पर भी सवाल खड़ा कर रही है, लेकिन पीएम अब तक इस मुद्दे पर खामोश हैं. हालांकि, सरकार संसद में ये बार-बार दोहरा चुकी है कि वह इस मुद्दे पर बहस को तैयार है.

 

‘मोदी मार्केटिंग में लगे हैं’

 

उधर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी मोदी पर हमला लिया है. सोनिया ने कहा कि मोदी सिर्फ अपनी मार्केटिंग में लगे हुए हैं.

 

सोनिया गांधी ने मोदी पर तीखा हमला करते हुए कहा, “पीएम मोदी देश में सिर्फ मार्केटिंग कर रहे हैं. मन की बात मौन व्रत बन गया है. वह सहयोगियों के भ्रष्टार पर मौन धारण किए हुए हैं.”

 

उन्होंने आगे कहा, “एक तरफ से नैतिकता, पारदर्शिता, साख का दावा करने का मौका नहीं चूकते, लेकिन सहयोगियों के भ्रष्टाचार पर चुप रहते हैं.”

 

सोनिया ने कहा, “हम बीजेपी के पुराने आक्रामक रुख की बराबरी नहीं कर रहे हैं. सरकार की बेशर्मी के कारण हमें ये रुख अपनाना पड़ा. संसद चले लेकिन पीएम को सुषमा, शिवराज, वसुंधरा के इस्तीफे लेने होंगे. सरकार बहुमत का घमंड दिखा रही है. ये स्वीकार्य नहीं है. सरकार को जिम्मेदार होना होगा. बहुमत जिम्मेदारी से भागने का लाइसेंस नहीं है. एक साल में सरकार बेनकाब हुई.”

 

सोनिया का कहना था कि मोदी ने जितने वादे किए थे उन्हें पूरा करने में नाकाम साबित हुए हैं. संसद सत्र भले छोटा हो, लेकिन कई घटनाओं से भरा हुआ है.

 

आपको बता दें कि बीते 21 जुलाई को संसद के मॉनसून सत्र की शुरुआत हुई है, लेकिन अब तक एक दिन भी कामकाज नहीं हो सकता है. कांग्रेस की साफ मांग है कि जब तक दागी मंत्रियों के इस्तीफे नहीं होते, संसद को चलने नहीं दिया जाएगा.

 

मोदी सरकार ने गतिरोध खत्म करने के लिए आज सर्वदलीय बैठक बुलाई है, लेकिन राहुल गांधी ने एबीपी न्यूज़ की बातचीत में जो तेवर दिखाए हैं उससे ऐसे आसार नहीं मिल रहे हैं कि विपक्ष झुकने को तैयार है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Sonia and Rahul Gandhi attack Modi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017