अयोध्या विवाद: श्रीश्री रविशंकर क्यों जा रहे हैं अयोध्या? आखिर कौन है उनके मिशन के पीछे? । Sri Sri to meet litigants of Ayodhya dispute today

अयोध्या क्यों जा रहे हैं श्रीश्री? आखिर उनके पीछे कौन है?

सवाल ये उठता है कि आखिर रविशंकर अयोध्या जा क्यूं रहे हैं? क्या कोई है जो रविशंकर की इस मुहिम के पीछे है? आखिर कौन लिख रहा है श्री श्री के मिशन राम मंदिर की पटकथा?

By: | Updated: 16 Nov 2017 12:33 PM
Sri Sri to meet litigants of Ayodhya dispute today

लखनऊ: आज पूरे देश की नजरें अयोध्या पर होंगी क्योंकि श्रीश्री रविशंकर अयोध्या पहुंचने वाले हैं. वे सभी पक्षकारों से बात करेंगे लेकिन विवाद से जुड़े सभी पक्षकारों ने पहले ही साफ कर दिया है कि समझौता मुमकिन नहीं. इसके बाद सवाल ये उठता है कि आखिर रविशंकर अयोध्या जा क्यूं रहे हैं? क्या कोई है जो रविशंकर की इस मुहिम के पीछे है? आखिर कौन लिख रहा है श्री श्री के मिशन राम मंदिर की पटकथा?


SRI SRI


मिशन अयोध्या पर श्री-श्री रविशंकर के पहुंचने से पहले ही उनकी पूरी मुहिम की हवा निकलती दिख रही है. विवाद से जुड़े सभी पक्षकारों ने पहले ही साफ कर दिया है कि समझौता होना होता तो बहुत पहले हो चुका होता. सरयू में काफी पानी बह गया, सरकारें बदल गईं लेकिन विवाद का हल अब तक नहीं निकल सका. बीच का रास्ता निकालने के प्रयास सालों से किए जा रहे हैं और अब एक और बार सही लेकिन अंतिम फैसला देश की सर्वोच्च अदालत को ही करना चाहिए, लिहाजा रविशंकर के अयोध्या जाने और ना जाने से कोई अब कोई फर्क पड़ता नहीं दिखता.


SRI SRI


अब सवाल ये कि जब कोई समझौते के लिए तैयार ही नहीं है तो फिर रविशंकर आखिर किससे और क्या बात करने जा रहे हैं? वो कौन सा मसौदा होगा जिस पर पक्षकारों को राजी करना चाहते हैं रविशंकर? जब रविशंकर के साथ कोई खड़ा ही नहीं दिख रहा तो फिर इस अयोध्या दौरे का क्या महत्व रह जाता है?


आपको बता दें कि रविशंकर लखनऊ से सुबह 11 बजे अयोध्या पहुंचेंगे जिसके बाद वह राम जन्मभूमि के दर्शन करेंगे और फिर इकबाल अंसारी से मिलेंगे. इसके बाद वह मुस्लिमों के पक्षकार सुन्नी वक्फ बोर्ड के हाजी महबूब से मिलेंगे और फिर राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास और महंत ज्ञानदास से मुलाकात करेंगे.


sri sri ravi shankar


मुस्लिम धर्मगुरु भी श्री श्री रविशंकर की इस मुलाकात से ज्यादा इत्तेफाक नहीं रखते और इसके पीछे तर्क भी मजबूत हैं. अयोध्या जाने से पहले रविशंकर ने सीएम योगी से भी मुलाकात की जिसे उन्होंने महज एक शिष्टाचार भेंट बताया. सबकी नजरें श्री श्री के राम लला दौरे की स्क्रिप्ट लिखने वाले बाल्मिकी को ढूंढ रही हैं क्योंकि न तो रविशंकर पक्षकार हैं न ही सरकार के प्रतिनिधि और न की कोर्ट ने उन्हें इस मसले का सुलझाने के लिए लगाया हैं तो फिर वो ये सारी कवायद क्यों और किसके इशारे पर कर रहे हैं? आखिर उनके पीछे कौन है?

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Sri Sri to meet litigants of Ayodhya dispute today
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story गुजरात चुनाव: पीएम के अभिवादन पर कांग्रेस को आपत्ति, मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने दिए जांच के आदेश