जम्मू कश्मीर में बाढ़ का कहर बरकरार,175 लोगों की मौत, युद्ध स्तर पर राहत पहुंचाने का काम जारी

By: | Last Updated: Tuesday, 9 September 2014 3:11 AM
srinagar_flood_modi_government_praised

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में बाढ़ से राहत का काम जोर-शोर से जारी है. श्रीनगर में हालात अब भी बेहद खराब हैं. श्रीनगर औऱ आसपास हेलिकॉप्टर से मदद पहुंचाई जा रही है. जम्मू और आसपास के इलाकों में थोड़ी राहत है. श्रीनगर के पंथा चौक इलाके में बाढ़ से भारी तबाही हुई है. भारी तबाही के बाद सेना रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी है. बाढ़ प्रभावित लोगों को टेंट, दवाइयां, खाना, बिस्किट समेत ज़रूरत की चीजें पहुंचाई जा रही हैं.

जम्मू-कश्मीर में जबरदस्त बारिश औऱ बाढ़ से अब तक175 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. हजारों लोग बेघर हो गए हैं वहीं भारी बारिश के बाद जम्मू-श्रीनगर और जम्मू-पुंछ हाइवे अभी भी बंद है. सेना रास्ता साफ करने में जुटी है.

 

जम्मू में बाढ़ से टूटे फ्लाई मंडाल पुल की जगह सेना एक फ्लोटिंग पुल बना रही है.  तवी नदी पर बना ये पुल दो दिन पहले टूट गया था. जम्मू-कश्मीर में मोबाइल नेटवर्क दुरुस्त करने के लिए दिल्ली से 15 V-SAT उपकरण भेजे गए हैं.

श्रीनगर तक खाने का सामान, दवाई, पेट्रोल, डीज़ल और गैस जैसी जरूरी चीजें मनाली-रोहतांग पास के जरिये पहुंचाई जा रही है. बाढ़ प्रभावित जम्मू-कश्मीर को पटरी पर लाने के लिए आज दिल्ली में क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक है.इस बैठक की अगुवाई कैबिनेट सेक्रेटरी करेंगे.

 

बैठक में वित्त सचिव, गृह सचिव, रक्षा सचिव, स्वास्थ्य सचिव, पेट्रोलियम सचिव, टेलिकॉम सचिव, ट्रांसपोर्ट सचिव और NDRF के डायरेक्टर जनरल भी शामिल होंगे.

 

श्रीनगर भीषण बाढ़ में डूबा गया है. एयरफोर्स ने श्रीनगर में राहत और बचाव काम शुरू कर दिया है. हेलिकॉप्टर से ली गईं तस्वीरें साफ बयां करती हैं कि पूरे जम्मू कश्मीर में भीषण बाढ़ ने कितनी तबाही मचाई है. बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए सेना हेलिकॉप्टर से खाने-पीने का सामान गिरा रही है.बाढ़ की वजह से श्रीनगर की सड़कों पर बेबसी का आलम है. दूर-दूर तक पानी और बर्बादी के सिवा कुछ नहीं दिख रहा है. जम्मू-कश्मीर में राहत और बचाव का काम लगातार जारी है. लोगों को खाने के पैकेट और जरूरी सामान दिए जा रहे हैं. जम्मू-कश्मीर में सेना ने अब तक कुल 22000 लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाकों से सुरक्षित निकाला है. मौसम विभाग के मुताबिक अगले दिन में जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश की संभावना नहीं है.

   

बाढ़ राहत में मोदी सरकार की तेजी की विपक्ष ने भी की तारीफ, दिग्विजय सिंह औऱ गुलाम नबी आजाद ने मोदी की भूमिका को सराहादिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा कि एनडीआरएफ, सेना, पुलिस, सुरक्षा बलों, सरकार और प्रधानमंत्री ने जिस तेजी के साथ बाढ़ राहत के लिए काम किया, उसकी हम तारीफ करते हैं.

 

दिग्विजय ने ट्विटर पर ये भी लिख कि बाढ़ राहत के लिए जिस तरह पीएम मोदी ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर तक के लोगों तक पहुंचने की कोशिश-उसकी भी हम तारीफ करते हैं.

 

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि बाढ़ राहत के काम पर उन्होंने पीएम मोदी से बात की और प्रधानमंत्री की प्रतिक्रिया से वे खुश हैं. महाराष्ट्र के सीएम पृथ्वीराज चव्हाण ने जम्मू-कश्मीर के बाढ़ पीड़ितों के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से 10 करोड़ की मदद का एलान किया है.

 

संयुक्त राष्ट्र ने जम्मू-कश्मीर और पाक अधिकृत कश्मीर में बाढ़ पर राहत काम में मदद की पेशकश की है, संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून की तरफ से बयान जारी किया गया था.

 

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने जम्मू-कश्मीर में आई बाढ़ पर संवेदना व्यक्त की है. दिल्ली में जापान के दूतावास ने यह बयान जारी किया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: srinagar_flood_modi_government_praised
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017