30 प्रतिशत छात्रों को साइबर अपराध का करना पड़ता है सामना

By: | Last Updated: Monday, 10 November 2014 7:11 AM
students_cyber_crime

नई दिल्ली: भारत के कुछ राज्यों में करीब एक तिहाई स्कूली छात्रों को आनलाईन पीछा करने, बदनामी, हैकिंग और साइबर बुलिंग (दबंगई)का सामना करना पड़ा है. यह बात दूरसंचार परिचालक यूनिनॉर ने कही.

 

यूनिनॉर की रिपोर्ट में कहा गया ‘‘यूनिनॉर द्वारा भारत के सात राज्यों के स्कूलों में कराए गए सर्वेक्षण से संकेत मिलता है कि इंटरनेट का उपयोग करने वाले 30 प्रतिशत बच्चों को साइबर मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. इसमें ऑनलाईन पीछा करना, बदनामी, हैकिंग आदि शामिल हैं.’’ कंपनी ने अपने वेबवाइज कार्यक्रम के तहत 29 स्कूलों में करीब 10,500 बच्चों का सर्वेक्षण किया जिसमें यह निष्कर्ष निकाला गया.

 

अध्ययन में कहा गया कि 34 प्रतिशत बच्चे शायद ही अपनी ऑनलाईन गतिविधियों के बारे में अपने माता-पिता को बताते हैं.

 

स्कूल के काम और प्रोजेक्ट बनाने के लिए बच्चे जब इंटरनेट का उपयोग करते हैं तो वे इस बीच सबसे अधिक सोशल नेटवर्किंग साइट का उपयोग और संगीत एवं फिल्म डाउनलोड करते हैं.

 

इस अध्ययन के निष्कर्ष के आधार पर यूनिनॉर ने अपने ‘वेबवाइज’ कार्यक्रम के तहत 35,000 बच्चों को इंटरनेट से जुड़े जोखिमों से बचने के लिए प्रशिक्षित करने का लक्ष्य रखा है.

 

यूनिनॉर के मुख्य कार्यकारी मॉर्टन कार्लसन सॉर्बी ने एक बयान में कहा ‘‘वेबवाइज बच्चों को आनलाईन दिक्कतों से बचने के लिए ज्ञान और जरिया प्रदान करने से जुड़ी पहल है.’’ इस कार्यक्रम के तहत मार्च से 15,000 बच्चों का शामिल किया गया है. कंपनी ने अगले साल जनवरी तक और 20,000 बच्चों को इस दायरे में लाने की योजना बनाई है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: students_cyber_crime
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017