सुनंदा मामले में डॉक्टर सुधीर गुप्ता पर दबाव बनाने के उनके दावों से एम्स का इनकार

By: | Last Updated: Wednesday, 2 July 2014 2:43 AM

नई दिल्ली: पूर्व केन्द्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बदलाव करने के संबंध में फॉरेंसिक मेडिसिन विभाग के प्रमुख सुधीर गुप्ता पर दबाव बनाए जाने के आरोपों को एम्स ने आज सिरे से खारिज किया है.

 

एम्स ने कहा, ‘‘एम्स प्रशासन उन आरोपों को सिरे से खारिज करता है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बदलाव करने के लिए सुधीर गुप्ता पर किसी भी प्रकार का दबाव था.’’

 

यह पूछने पर कि जैसा कि गुप्ता ने एक हलफनामे में संकेत दिया है, क्या उनपर बाहर से कोई दबाव था, एम्स के प्रवक्ता अमित गुप्ता ने संवाददाताओं से कहा कि प्रशासन को इसकी जानकारी नहीं थी लेकिन यदि बाहर से कोई दबाव था तो उन्हें इसके साक्ष्य देने होंगे.

 

मीडिया ऐण्ड प्रोटोकॉल प्रमुख और प्रवक्ता नीरजा भटला ने कहा, ‘‘हमारे पास इसका कोई साक्ष्य नहीं है कि उनपर कोई बाहरी दबाव था और उसपर उनकी प्रतिक्रिया क्या थी.’’

 

मीडिया प्रवक्ता से जब पूछा गया कि क्या डॉक्टर सुधीर गुप्ता पर कार्रवाई भी हो सकती है तो उनका कहना था, ‘हां! जरूरत पड़ी तो कार्रवाई हो सकती है.’

 

डॉक्टर सुधीर गुप्ता का दावा

 

इससे पहले, सुनंदा का पोस्टमार्टन रिपोर्ट तैयार करने वाले ड़ॉक्टर सुधीर गुप्ता ने दावा किया है कि उनपर पोस्टमार्टम रिपोर्ट बदलने का दबाव था.

 

ड़ॉक्टर सुधीर गुप्ता के इस दावे के बाद सियासी हलचल तेज़ हो गई है.

 

दिल्ली के पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने कहा है कि जरूरत पड़ने पर दिल्ली पुलिस डॉक्टर सुधीर गुप्ता से पूछताछ कर सकती है.

 

सुनंदा पुष्कर के मौसेरे भाई ने मौत की जांच की मांग की है, जबकि शशि थरुर इस मुद्दे पर मीडिया से बात नहीं कर रहे हैं.

 

एम्स से रिपोर्ट तलब

 

उधर इस मामले में स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन की प्रतिक्रिया आई है. हर्ष वर्धन ने कहा है कि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट बदलने के लिए दबाव बनाए जाने का खुलासा करने वाले डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने प्रमोशन के लिए चिट्ठी लिखी थी. हर्षवर्धन ने सुधीर गुप्ता के खुलासे पर एम्स के डायरेक्टर से रिपोर्ट मांगी है.

 

 

द टाइम्स ऑफ इंडिया अखबार के मुताबिक एम्स अस्पताल के डॉ सुधीर गुप्ता का कहना है कि उन्हें बड़े अधिकारियों की तरफ से पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की झूठी पोस्टमार्टम रिपोर्ट बनाने को कहा गया था.

 

दवा के ओवरडोज से हुई सुनंदा पुष्कर की मौत

 

डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने स्वास्थ्य मंत्रालय और सीवीसी को चिट्ठी लिखकर शिकायत की है कि उनपर सुनंदा पुष्कर की मौत को प्राकृतिक मौत दिखाने का दबाव बनाया गया था.

 

डॉ गुप्ता ने सुनंदा पुष्कर की मौत की वजह जहर खाना बताया था जिसकी वजह आत्महत्या या फिर हत्या भी हो सकती है.

 

क्या एंटी डिप्रेशेंट मेडिसिन बनी सुनंदा पुष्कर की मौत का कारण?

 

डॉक्टर  गुप्ता को डर है कि उनकी जगह किसी और को एम्स के फॉरेसिंक विभाग का HOD बनाया जा सकता है.

 

पोस्टमार्टम से खुलासा: सुनंदा की मौत स्वाभाविक नहीं, शरीर पर चोट के निशान भी मिले लेकिन शरीर में नहीं था जहर

 

शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर दिल्ली के लीला होटल में इस साल 17 जनवरी को अपने कमरे में मृत पाई गई थी. मौत से पहले ट्विटर पर सुनंदा और पाकिस्तानी पत्रकार महर तरार के बीच तीखी तकरार हुई थी. शशि और महर के बीच कथित संबंध को लेकर दोनों के बीच यह स्थिति पैदा हुई थी.

 

संबंधित खबरें-

सुनंदा की मौत के बाद थरूर ने पहला ट्वीट किया 

सुनंदा की मौत ‘‘स्वास्थ्य कारणों’’ से हुई, मामले को बढ़ाने का आधार नहीं है: शशि थरूर

सुनंदा मामला: चोट के कारण का पता लगाने के लिए होगी फोरेंसिक जांच 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: sunanda_pushkar_death
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?????? ?????? ????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017