बीजेपी को डांस बार से एतराज क्यों है?

By: | Last Updated: Thursday, 15 October 2015 12:07 PM

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र में बार डांस की अनुमति दे दी है. डांस बार पर बैन वाले महाराष्ट्र सरकार के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगाई अब राज्य सरकार बैन के लिए फिर से कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी. सवाल ये है कि बीजेपी को डांस बार से एतराज क्यों है?

 

मुंबई की ये तस्वीरें बीते हुए कल की कहानी कहती हैं. लेकिन अब एक बार फिर मायानगरी मुंबई में ये तस्वीरें देखने को मिल सकती हैं. सुप्रीम कोर्ट ने डांस बार को लेकर महाराष्ट्र सरकार के फैसले पर रोक लगा दी है. लेकिन सवाल ये है कि कोर्ट का फैसला अमल में कब आएगा ?

 

SC का सरकार के फैसले पर रोक, अब मुंबई में फिर बार गर्ल्स का होगा जलवा 

डांस बार एसोसिएसन के मनजीत सिंह ने कहा कि हम फैसले का स्वागत करते हैं. जितना जुल्म किया था खत्म हो गया. सरकार को अपना ईगो साइड में रखकर डांस बार खुलवा देना चाहिए.

 

महाराष्ट्र में 2005 से ही डांस बार पर रोक है. सुप्रीम कोर्ट ने इससे पहले रोक हटाने का आदेश दिया था लेकिन कानून में संशोधन कर राज्य सरकार ने प्रतिबंध का फैसला बरकरार रखा. इसी को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी.

 

सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ता इंडियन होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार का कानून सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ है. सुप्रीम कोर्ट ने 2013 में राइट टू प्रोफेशन यानि व्यवसाय करने के मौलिक अधिकार को आधार मानते हुए डांस बार पर लगी रोक को हटा लिया था.

 

सुनवाई के दौरान बेंच की अध्यक्षता कर रहे जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा कि नृत्य तो संस्कृति का हिस्सा है. इससे आपको क्यों एतराज़ है? इस पर महाराष्ट्र सरकार के वकील तुषार मेहता ने कहा कि समस्या यही है कि बात सिर्फ नृत्य तक सीमित नहीं रहती.

 

नियमों को ताक पर रख कर पंजाब जेल में आयोजित हुआ डांस प्रोग्राम

लगभग आधा घंटा चली सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार के फैसले पर रोक लगा दी. अदालत ने इस बात की हिदायत दी कि डांस में अश्लीलता नहीं होनी चाहिए. लाइसेंसिंग अथॉरिटी अश्लीलता रोकने के लिए नियम तय कर सकती है. फिर भी अश्लीलता होने पर पुलिस कार्रवाई के लिए स्वतंत्र होगी.

 

लेकिन डांस बार खोलने के आदेश को अमल में लाना आसान नहीं दिख रहा है. सरकार ने कहा है कि फैसले को चुनौती देंगे.

 

 गुजरात: बार गर्ल के साथ नाचने के बाद गुजरात पुलिस सब-इंस्पेक्टर सस्पेंड

महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि हम आज भी मानते हैं कि बंदी वाला आदेश दिया था.. सही है..

 

कई फिल्मों में भी मुंबई के डांस बार की तस्वीरें दिख चुकी है. चांदनी बार नाम की फिल्म तक बन चुकी है. लेकिन अश्ललीलता के आरोप में साल 2005 में डांस बार को बंद करने का फैसला लिया गया था. जिसके बाद डांस पर रोक लगी थी. 70 हजार बार डांसर सहित करीब सवा लाख लोग इसके बाद बेरोजगार हो गये थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Supreme court allows dance bars to reopen in Maharashtra
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017