देश में बढ़ती सड़क दुर्घटना पर सुप्रीम कोर्ट ने की संशोधन की मांग

By: | Last Updated: Monday, 30 March 2015 3:18 PM

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने देश में बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं पर गहरी चिंता जताई है. सुप्रीम कोर्ट ने सरकार और संसद से ये आग्रह किया है कि वो इस तरह के मामलों में दोषी की सज़ा बढ़ाने के लिए कानून में संशोधन करने पर विचार करें.

 

पंजाब में हुई सड़क दुर्घटना में दो लोगों की मौत से जुड़े मामले में दोषी की सजा को बढ़ाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ये बात कही है. हाई कोर्ट ने दोषी की सजा कम कर दी थी.

 

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में लिखा है, “देश में सड़क दुर्घटनाएं बढ़ती जा रही हैं. सड़क पर गाडी चलाने वाले अक्सर खुद को राजा समझते हैं. उन्हें कानून का डर नहीं होता. उनके इस रवैये से सड़क पर चलने वाले सभ्य लोग खुद को असुरक्षित महसूस करते हैं. दूसरों की ज़िन्दगी को ले कर लापरवाह ये लोग कभी नशे में होते हैं, कभी सिर्फ रोमांच के लिए सड़क पर गाड़ी ग़लत तरीके से चलाते हैं. ऐसे लोगों में कानून का डर होना चाहिए.

 

उन्हें ऐसा नहीं लगना चाहिए कि वो हलकी सज़ा या जुर्माना दे कर बच जाएंगे. हर ज़िन्दगी अमूल्य है. जब कोई अपनी लापरवाही से किसी की जान लेता है तो वो मरने वाले के साथ उससे जुड़े कई लोगों के लिए बड़ी सज़ा होती है.”

इन टिप्पणियों के बाद सुप्रीम कोर्ट ने संसद से आग्रह किया है कि वो लापरवाही से किसी की जान लेने के मामले में लगने वाली आईपीसी की धारा 304A में संशोधन करने पर विचार करे. दोषी को मिलने वाली सजा को बढ़ाने की कोशिश की जाए.

 

गौरतलब है कि आईपीसी की धारा 304A के तहत अधिकतम 2 साल की सजा और जुर्माना होता है. कई मामलों में दोषी कुछ ही दिन जेल में काट कर बाहर आ जाता है.

 

सुप्रीम कोर्ट ने खत्म किया फेसबुक औऱ सोशल मीडिया पर लिखने वाला कानून, 66A के तहत अब पुलिस नहीं कर सकती गिरफ्तारी

सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला- इंटरनेट पर लिखने से रोकने का कानून IT एक्ट की धारा 66A खत्म

निर्भया डॉक्यूमेंट्री विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने आरोपियों के वकीलों से जवाब मांगा 

 

 

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: supreme court request to govt. to amendment
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017