बिहार: सुशील मोदी ने अधिकारीयों को दी खुली चेतावनी!

By: | Last Updated: Thursday, 18 June 2015 5:20 PM
sushil modi

नई दिल्ली: सुशील कुमार मोदी ने आज खुलेआम सीओ, बीडीओ, थानेदार और पंचायत अधिकारियो को चेतावनी देते हुए कहा की जो भी अधिकारी एमएलसी चुनाव में नितीश लालू या कांग्रेस को मदद करेंगे उन्हें छोड़ा नहीं जायेगा.

 

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि ऐसे अधिकारियो की लिस्ट बना कर उनपर करवाई की जाएगी क्योंकि तीन महीने बाद हमारी ही सरकार बिहार में बनने वाली है. आपको बता दें कि सुशील कुमार मोदी ने ये बाते वैशाली के महनार में विधानसभा सम्मलेन के दौरान पत्रकारों से बात करते हुए कही.

 

नितीश, लालू पर आरोप लगाते हुए सुशील मोदी ने कहा की पंचायत के जनप्रतिनिधियों और मुखिया से कहा जा रहा है कि एमएलसी चुनाव में उन्हें  मदद करे नहीं तो उन्हें फर्जी मुकदमो में  फxसा दिया जाएगा.

 

बिहार विधानसभा चुनाव की लड़ाई का आगाज होने के बाद बीजेपी लगातार विधानसभा सम्मेलनों के माध्यम से लोगो के बीच पहुंच रही है.  इसी सम्मलेन के तहत मोदी महनार में सभा को सम्बोधित करने पहुंचे थे.

 

सभा को सम्बोधित करते हुए सुशील मोदी ने कहा की अगर जीतनराम मांझी विभीषण है तो भारतीय जनता पार्टी राम है. विभीषण राम की शरण में आ चूका है और अब लंका दहन का समय आ गया है लालू नितीश की गद्दी को कोई बचा नहीं सकेगा.  साथ ही लालू को कोढ़ कहा और उसका इलाज केवल भाजपा ही कर सकती है.

 

केवल इतना ही नहीं बीजेपी ने बिहार सरकार पर आचार संघिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार सरकार करोड़ों रुपयों के साथ सरकारी तंत्रो का दुरूपयोग कर रही है.

 

आज बीजेपी नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने चुनाव आयोग के सामने अपनी बातों को रखते हुए कहा की बिहार सरकार 400 गाड़ियों में जीपीएस सिस्टम, एलईडी स्क्रीन, ऑडियो वीडियो के  सारी चीजो को लगाकर पूरा सरकारी तंत्र वीडीओ से लेकर सारे सरकारी कर्मचारी गावों में जायेंगे उस वीडियो रथ को लेकर और हर पंचायत में चार चार सभाएं करेंगे तथा सरकार की उपलब्धियों को बताएँगे.

 

सुशील मोदी ने कहा की भाजपा की आपत्ति ये है की ये जो बिधान परिषद के चुनाव होने होने वाले है जिसमे मतदाता सारे पंचायत के प्रतिनिधि है तो कोई भी ऐसे सरकारी कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाना चाहिए.

 

अगर सरकार को करना भी है अपनी उपलब्धियों को तो वे चुनाव के बाद यानि की 10 जुलाई के बाद करा सकते है. सुशील मोदी ने कहा की पार्टी को अधिकार है लेकिन जो सरकारी कर्मचारी और सरकारी तंत्रो का इस्तेमाल कर जो करोडो रुपयो को खर्च किये जा रहे है वो नहीं किया जाना चाहिए.  उनहोने कहा की ये सारे काम एकप्रकार से मतदाताओ को प्रभावित करने का जरिया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: sushil modi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017