स्वच्छता मिशन: मोदी पास या फेल?

By: | Last Updated: Friday, 14 August 2015 12:53 PM
swachh bharat mission: pm narendra modi

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल लाल किले से अपने पहले संबोधन में कई नई योजनाओं का एलान किया था. प्रधानमंत्री ने मेक इंडिया का नारा दिया था. जन-धन योजना की बात की थी. देश को साफ-सुथरा बनाने के लिए स्वच्छता अभियान और लड़कियों के लिए स्कूल में अलग से शौचालय बनाए जाने की घोषणा की थी. मोदी की तमाम योजनाओं पर एक साल में कितना अमल हो पाया इसकी एबीपी न्यूज ने पड़ताल की है.

 

सबसे पहले स्वच्छता मिशन का क्या हाल है?

 

लाल किले के प्राचीर से किसी प्रधानमंत्री ने पहली बार गंदगी के खिलाफ आवाज उठाई. लाल किले से दिये अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत का नारा दिया.

 

दो अक्टूबर यानी गांधी जयंति के दिन स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत हुई. प्रधानमंत्री खुद हाथ में झाड़ू लेकर लोगों को साफ सफाई का संदेश देने निकल पड़े.

 

सफाई अभियान में मोदी का साथ देने उनके मंत्रिमंडल के साथी निकल पड़े. प्रधानमंत्री ने वाराणसी के अस्सी घाट की गंदगी को साफ करने के लिए फावड़ा चलाया.

 

करीब एक साल बाद कितना साफ हुआ भारत. राजधानी दिल्ली का मंदिर मार्ग थाना. एक साल के भीतर यहां की सूरत पूरी तरह से बदल गई है. पिछले साल प्रधानमंत्री ने यहां झाड़ू लगाया था. शायद यही वजह है कि यहां हमेशा साफ-सफाई का ख्याल रखा जाता है.

 

2 अक्टूबर को जब स्वच्छ भारत अभियान शुरू हुआ तो इसके लिए चुना गया दिल्ली की उन सार्वजनिक जगहों को जहां रोजाना बड़ी संख्या में लोगों की आवाजाही रहती है.

 

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन. ये वो जगह है जहां पहले काफी गंदगी रहा करती थी. स्वच्छता अभियान के बाद यहां की तस्वीर पूरी तरह से न सही लेकिन काफी हद तक बदल गई है. यूं तो यहां सफाई की पूरी कोशिश की जाती है लेकिन कमियां खत्म नहीं हुई हैं.

 

दिल्ली का लेडी हार्डिंग यानी सुचेता कृपलानी अस्पताल. इस अस्पताल में सफाई अभियान की शुरुआत उस समय के स्वास्थ्य मंत्री रहे हॉ हर्षवर्धन ने खुद की थी.

 

दिल्ली की तस्वीर स्वच्छ भारत अभियान की कामयाबी की तस्वीर तो नहीं देती लेकिन कुछ जगहों की तस्वीर लगातार की जा रही कोशिशों की तरफ इशारा जरूर करती है. अभियान कामयाब तभी हो सकता है जब लोगों की इसमें भागीदारी हो.

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत के बाद दिल्ली के कई इलाके पहले से साफ नजर आ रहे हैं. तो क्या देश के बाकी हिस्से भी इसी तरह चमकने लगे हैं.

 

शहरी विकास मंत्रालय ने पूरे एक साल देश भर के 476 शहरों की साफ-सफाई का जायजा लिया. ये पता करने की कोशिश की कि सफाई के मामले में किस शहर को कितना सफर तय करना है.

 

सर्वे के मुताबिक साफ सफाई के मामले में टॉप पर है कर्नाटक का मैसूर. इसके अलावा कर्नाटक के तीन और शहरों ने भी टॉप टेन में जगह पाई है.

 

स्थानीय शहरी निकायों में दिल्ली छावनी 15 वें स्थान पर है जबकि एनडीएमसी 16 वें स्थान पर और एमसीडी को 398वें स्थान पर है.

 

अगर एनसीआर की बात करें तो स्वच्छता के मामले में गुड़गांव 466 वें स्थान पर और फरीदाबाद 421वें नंबर पर है. दिल्ली से सटा गाजियाबाद सफाई के मामले में 138वें स्थान पर है. इस लिहाज से एनसीआर में सबसे साफ-सुथरा शहर गाजियाबाद है जबकि मेरठ को 465वां स्थान मिला है. हापुड़ 374वें और बुलंदशहर 471वें नंबर पर है.

 

स्वच्छता अभियान में पश्चिम बंगाल के 25 शहरों ने टॉप 100 में जगह बनाकर साफ-सफाई का एक उदाहरण पेश किया है.

 

दक्षिण के 39 शहरों ने भी पूरब, पश्चिम और उत्तर के राज्यों को पीछे छोड़कर टॉप 100 में जगह बनाई है. टॉप 100 में पूरब के 27, पश्चिम के 15 और उत्तर के सिर्फ 12 शहरों को स्थान मिला है.

 

आइए अब आपको बताते हैं उन 10 श्रेष्ठ शहरों के नाम जो देश के सबसे साफ-सुथरे शहर हैं.

 

सबसे अव्वल शहर है मैसूर (कर्नाटक)

 

नंबर दो पर तिरुचिरापल्ली (तमिलनाडु)

 

नंबर 3 नवी मुंबई (महाराष्ट्र)

 

नंबर 4 कोच्चि (केरल)

 

नंबर 5 हसन (कर्नाटक)

 

नंबर 6 मांडया (कर्नाटक)

 

नंबर 7 बेंगलुरु (कर्नाटक)

 

नंबर 8 तिरूअनंतपुरम( केरल)

 

नंबर 9 हलीसहर (पश्चिम बंगाल)

 

नंबर 10 गंगटोक (सिक्किम) है.

 

शहरी विकास मंत्रालय ने जिन 476 शहरों का सर्वे किया उसमें सबसे गंदा शहर है मध्य प्रदेश का दमोह जिसे 476 वीं यानी आखिरी रैंकिंग मिली है. स्वच्छ भारत की ताज़ा रैंक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चुनाव क्षेत्र वाराणसी 418वें नंबर पर आया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: swachh bharat mission: pm narendra modi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई
गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में स्वाइन फ्लू की स्थिति के बारे में...

मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'
मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'

नागपुर: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेता मनमोहन वैद्य ने कहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल...

गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत
गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में बच्चों की मौत का सिलसिला...

मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा
मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने साल 2016 के जाट आंदोलन के दौरान सोनीपत के निकट मुरथल में...

बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में
बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट...

नई दिल्ली: बिहार, असम और पश्चिम बंगाल में बाढ़ ने जनजीवन पर बुरी तरह असर डाला है. बिहार में बाढ़...

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017