काले धन पर सरकार की कमियां गिनाते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम को भेजी चिट्ठी

By: | Last Updated: Friday, 31 October 2014 5:47 AM
swami_on_blackmoney

नई दिल्ली: काले धन पर बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम मोदी को चिट्ठी भेजी है. स्वामी उन लोगों में से हैं जो पूरे विदेशी खाताधारकों के नाम सार्वजनिक करने की मांग कर रहे थे.

 

स्वामी ने पीएम को लिखी चिट्ठी में सरकार की कमियों का जिक्र किया है और मांग कि सरकार के मंत्रियों से विदेशी खाते पर हलफनामे देने की मांग की है.

 

स्वामी ने चिट्ठी में लिखा है- जिस तरह सुप्रीम कोर्ट में काले धन को लेकर सरकार अपना पक्ष रख रही है उससे देश की जनता और बीजेपी कार्यकर्ताओं को घोर निराशा हुई है. DTAT यानी डबल टैक्सेशन अवॉयडेंस ट्रीटी को लेकर सरकार जो हवाला सुप्रीम कोर्ट में दे रही है वो सरकार की पहली बड़ी गलती है. विदेशी बैंको में जमा काले धन को बेनकाब करने में सरकार बार-बार DTAT रा हवाला दे रही है, जबकि DTAT उन लोगों पर लागू ही नहीं होता जो भारतीय नागरिक विदेशों में कमा  रहे हैं और यहां टैक्स नहीं देते हैं. जर्मनी और फ्रांस की सरकार ने उन सभी खाताधारकों की लिस्ट दी थी जिन्होंने HSBC और LGT बैंक में खाता खुलवाया था.

 

DTAT सिर्फ इनकम टैक्स के केस में लागू होता है. काले धन का ज्यादातर हिस्सा तो भ्रष्टाचार, मोदक पदार्थों की तस्करी, आतंकवादी गतिविधियों की फंडिंग जैसे गलत तरीकों से आता है. जब तक सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में SIT जांच कर रही है तब तक सरकार काले धन को वापस लाने के लिए 6 कदम उठा सकती है….

 

स्वामी द्वारा पीएम को सुझाए गए 6 कदम-

1- सरकार एक अध्यादेश लाए जिससे विदेशों में जमा काले धन को राष्ट्रीय संपत्ति घोषित किया जाए. इससे देश में 120 लाख करोड़ आने का रास्ता साफ होगा.

 

2- आरबीआई एक्सचेंज अर्नर फॉरेन करेंसी यानी EEFC नीति की समीक्षा करे ताकि ये सुनिश्चित हो सके कि स्विट्जरलैंड, मॉरीशस, कैमेन आईलैंड और सिंगापुर जैसे देशों तक EEFC के जरिए गलत तरीके से पैसा जमा न हो सके.

 

3-  पार्टिसिपेटरी नोट्स यानी पी नोट्स की स्कीम खत्म की जाए. भारतीय नागरिकों ने पी नोट्स के जरिए विदेशों में जो रकम जमा की है, उसे काला धन घोषित की जाए और मेरे पहले सुझाव के तहत इस काले धन को राष्ट्रीय संपत्ति घोषित कर भारत लाया जाए.

 

4- सीबीआई को निर्देश दें कि मैंने वित्त मंत्रालय को जो चिट्ठी लिखी थी, उसके मुताबिक सोनिया और राहुल गांधी के ज्यूरिख SARASIN और PICTET में खोले गए बैंक खातों की जांच करें.

 

5- हसन अली और मोइन कुरैशी जैसे काले धन के कुबेरों की विशेष जांच होनी चाहिए.

 

6-  अपने सभी मंत्रियों को निर्देश दें कि वो हलफनामा देकर बताएं कि उनका या उनके परिवार में विदेशों में कोई गैरकानूनी बैंक खाता नहीं है.

 

सुब्रमण्यम स्वामी की पूरी चिट्ठी-

 

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: swami_on_blackmoney
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017