'आप' बागी गुट की बैठक शुरू, पार्टी एक रहेगी या टूटेगी, फैसला आज शाम तक

By: | Last Updated: Tuesday, 14 April 2015 1:45 AM

गुड़गांव/नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के बागी गुट की बैठक गुड़गांव में शुरू हो गई है. पार्टी के पीएसी और राष्ट्रीय कार्यकारिणी से निकाले गए पार्टी के संस्थापक सदस्य योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण इस बैठक की अगुवाई कर रहे हैं. बैठक में पार्टी के संस्थापक सदस्य शांति भूषण के साथ अजीत झा और तिमारपुर से ‘आप’ के विधायक पंकज पुष्कर भी शरीक हैं.

 

‘स्वराज संवाद’ नाम की इस बैठक से तय होगा कि पार्टी एक रहेगी या टूटेगी. माना जाता है कि योगेंद्र और प्रशांत ने अपने राजनीतिक भविष्य तलाशने के लिए ये बैठक बुलाई है.

 

बैठक शुरू होने से पहले योगेंद्र यादव ने कहा कि वैकल्पिक राजनीति की दशा और दिशा तय करने के लिए बैठक बुलाई गई है जिसमें हजारों नेता-कार्यकर्ता उनके साथ हैं, जबकि शांति भूषण ने कहा कि एक व्यक्ति की डिटेक्टरशिप के लिए ये पार्टी नहीं बनी थी.

दिलचस्प बात ये है कि आम आदमी पार्टी के बागी गुट ने ‘स्वराज संवाद’ की ये बैठक आंबेडकर जयंती पर आयोजित की है.

 

आप के बागी गुट की इस बैठक में प्रोफेसर आऩंद कुमार, अरुणा रॉय औऱ मेधा पाटकर जैसे नेता शामिल हुए हैं. ये पूरा कार्यक्रम सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक चलेगा.

 

आज बैठक से पहले योगेंद्र यादव ने पार्टी के पूर्व लोकपाल एडमिरल रामदास का संदेश पढ़कर सुनाया.

 

संदेश था- अभी भी आम आदमी पार्टी के तमाम वॉलंटियर्स को चमत्कार की उम्मीद है. ऐसी परिस्थिति में उनके सपनों को बचाए रखने के लिए ताकि जो आज के समय में जो गुस्सा है, दुख है खत्म हो सके. इसलिए मैं सबसे अनुरोध करता हूं कि हम अपने संविधान पर विजन पर वापस आएं. पार्टी बनाते वक्त जो विजन हमारे पास था उस पर वापस लौटे. ताकि अगल तरह का नया भारत बना सकें.

 

बैठक से पहले योगेंद्र यादव ने बताया कि वैकल्पिक राजनीति की दशा और दिशा देखेंगे. हमने सोशल मीडिया के माध्यम से देशभर में खुला आमंत्रण दिया था कि जो भी शामिल होना चाहते हैं रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं.

 

यहां पर देशभर से बड़ी संख्या में कार्यकर्ता भाग लेने के लिए पहुंचे. यहां पर आऩे वाले लोगों से फीडबैक फॉर्म भी भरवाया जा रहा है. इसे दो भागों में बांटा गया है.

पहले फॉर्म में ‘मेरे मुद्दे’ का कॉलम दिया गया है. जिसमें पार्टी के मुद्दे के अलावा कार्यकर्ताओं को अपने पांच मुद्दे लिखने हैं.

 

इसके अलावा दूसरे फॉर्म में कार्यकर्ताओं को तीन सवालों के जवाब देने हैं-

  • इस अनुभव के बाद हमें राजनीति में सक्रीय रहना चाहिए? अगर हां तो कैसे?

  • क्या पार्टी से अपने आप सुधरने की उम्मीद रखी जा  सकती है? या फिर पार्टी में रहते हुए इसे सुधारा जा सकता है?

  • अगर पार्टी के भीतर रहते हुए अपने आदर्शों पर चलने ना दिए जाए तो क्या करना चाहिए?

यह भी पढ़ें- ‘स्वराज संवाद’ के बहाने योगेंद्र-प्रशांत ‘आप’ से निकाले जाएंगे! 

 

दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी ने गुड़गांव में हो रही पार्टी के बागी गुट की बैठक में शामिल होने वाले नेताओं, कार्यकर्ताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की चेतावनी दी है. अरविंद खेमा के संजय सिंह का कहना है कहना है कि उनकी इस बैठक पर नज़र रहेगी और इसमें क्या कुछ सही और ग़लत है इस पर PAC और NE की बैठक बुलाकर चर्चा की जायेगी.

 

आज होने वाले स्वराज संवाद कार्यक्रम को लेकर पार्टी से टकराव के आसार बढ़ गए हैं. आज के कार्यक्रम के बाद आम आदमी पार्टी प्रशांत, योगेंद्र और आनंद कुमार जैसे नेताओं को पार्टी से बाहर करने का फैसला कर सकती है.

 

आप का झगड़ा क्या है?

  • चार मार्च को पार्टी विरोधी गतिविधि के आरोप में योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को पीएसी से निकाला गया

  • 28 मार्च को राष्ट्रीय परिषद की बैठक में योगेंद्र गुट के खिलाफ प्रस्ताव पास हुआ

  • बैठक में केजरीवाल ने कहा कि वे योगेंद्र यादव औऱ प्रशांत भूषण के साथ काम नहीं कर सकते

  • आम आदमी पार्टी ने योगेंद्र प्रशांत पर दिल्ली चुनाव में हराने की साजिश का आरोप लगाया

  • दिल्ली के बाहर पार्टी के विस्तार, एक व्यक्ति एक पद जैसे मुद्दे पर दोनों गुटों में लड़ाई

 

यह भी देखें:

 

किसके हैं अंबेडकर? 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: swaraj samvad by aam aadmi party
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: aam aadmi party swaraj samvad
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017