स्वाइन फ्लू से 620 लोगों की मौत, दवा दुकानदारों को टेमी फ्लू दवा का पर्याप्त भंडार रखने का निर्देश

By: | Last Updated: Wednesday, 18 February 2015 2:13 AM

नई दिल्ली:  देश में स्वाइन फ्लू ने हाहाकार मचा रखा है. अब तक करीब 620 मरीजों की मौत हो चुकी है. लेकिन देश की राजधानी दिल्ली की हकीकत जानेंगे तो आप हैरान हो जाएंगे. यहां मरीजों को स्वाइन फ्लू की वैक्सीन तक नसीब नहीं हैं.

दिल्ली में RML इकलौता अस्पताल है जहां स्वाइन फ्लू के वैक्सीन की व्यवस्था है. लेकिन लोगों को यहां आकर मायूस होना पड़ता है. स्वाइन फ्लू की दवा टैमि फ्लू की किल्लत से भी दिल्ली जूझ रही है. निजी अस्पताल दवा नहीं दे रहे हैं. मजबूरन इन्हें RML अस्पताल ही आना पड़ता है. डॉक्टरों की माने तो जल्द ही दवा की कमी दूर कर ली जाएगी.

 

देश के दवा प्राधिकरण ने मंगलवार को दवा दुकानदारों से पर्याप्त मात्रा में टेमी फ्लू दवा रखने का निर्देश दिया लेकिन साथ ही उन्हें बिना चिकित्सकीय सलाह के यह दवा नहीं बेचने को कहा.

 

स्वाइन फ्लू के विषाणु ने 15-16 फरवरी को 39 और लोगों की जान ले ली जिसके साथ ही इस साल इस रोग से मरने वालों की संख्या 624 हो गयी. अबतक 9311 लोग इस बीमारी के चपेट में आये हैं जो पिछले कुछ सालों की तुलना में बहुत ज्यादा है.

 

इस बीमारी से जिस तेजी से रोगियों की मौत हो रही है, उससे मौत का शिकार होने वाले रोगियों की संख्या 2013 के संबंधित आंकड़े को पार सकती है. वर्ष 2013 में स्वाइन फ्लू से 699 लोगों की मौत हो गयी थी. पिछले साल 218 लोग इस बीमारी की भेंट चढ़ गए थे. वर्ष 2012 में इस बीमारी ने 405 लोगों की जिंदगी छीन ली थी.

 

सूत्रों ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने इस संकट का जायजा लेने के लिए आज यहां एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की. अधिकारियों ने राज्यों से प्राप्त रिपोर्ट और इस संक्रामक बीमारी से निबटने के तौर तरीकों का मूल्यांकन किया.

 

सूत्रों के अनुसार कुछ स्थानों पर दवाओं की कमी की रिपोर्ट मिलने पर भारतीय दवा महानियंत्रक ने 10000 से अधिक दवा दुकानदारों को पर्याप्त मात्रा में ओसेलटामिविर दवा रखने को कहा है लेकिन साथ ही उन्हें बिना चिकित्सकीय परामर्श के दवा नहीं बेचने को भी कहा है. महानियंत्रक ने दवा दुकानदारों से कहा कि वे यह दवा बेचते समय उस परामर्श पत्र की एक छाया प्रति अपने पास रख लें जिसके आधार पर वे यह दवा बेच रहे हों.

 

सबसे अधिक प्रभावित राज्यों-राजस्थान और गुजरात में 16 फरवरी तक इस रोग से मरने वालों की संख्या क्रमश: 176 और 150 हो गयी. राजस्थान में सर्वाधिक मौतों की खबर राजधानी जयपुर से है.

 

इसी बीच आज जोधपुर के राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय को एक छात्र के स्वाइन फ्लू के पोजिटिव पाये जाने के बाद इसे दस दिनों के लिए बंद कर दिया गया.

 

मध्यप्रदेश में 81 लोग इस बीमारी के कारण मर गए और ऐसे मरीजों की संख्या सबसे अधिक 15 इंदौर से थी.

 

उधर शिमला से प्राप्त समाचार के अनुसार हिमाचल प्रदेश में स्वाइन फ्लू से एक मरीज की जान चली गयी. मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने स्वास्थ्य विभाग को इस रोग से निबटने के लिए अतिरिक्त कदम उठाने का निर्देश दिया और कहा कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है.

 

इसी बीच दो वरिष्ठ अधिकारियों को स्थिति का मूल्यांकन करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी के राममनोहर लोहिया अस्पताल भेजा गया जहां से स्वाइन फ्लू रोगियों को दवा हासिल करने में मुश्किलें आने की खबरे हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Swine flu deaths cross 620, chemists asked to stock Tamiflu
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017