स्वाइन फ्लू में किसको है एंटी-वायरल दवा की जरूरत?

By: | Last Updated: Wednesday, 18 February 2015 3:32 AM
swine_flu_anti_viral

नई दिल्ली: स्वाइन फ्लू के मामले देश में तेजी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में यह स्थिति आ सकती है, जिसमें डॉक्टर स्वाइन फ्लू के हर संदिग्ध मरीज को एंटी-वायरल दवाएं दे सकते हैं. मगर, हर मरीज को एंटीवायरल दवाओं की जरूरत नहीं होती, ऐसे में डॉक्टर के लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि किस मरीज को एंटीवायरल दवा की जरूरत है और किस मरीज को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत है.

 

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ.ए. मार्तण्ड पिल्लै और आईएमए के महासचिव पद्मश्री, डॉ. बीसी रॉय व डीएसटी नेशनल साइंस कम्युनिकेशन पुरस्कारों से सम्मानित हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ. के. के. अग्रवाल का कहना है कि अगर एंटीवायरल दवा की जरूरत है, तो इसे मरीज को जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी दिया जाना चाहिए. अगर मरीज को लक्षण सामने आने के 48 घंटे के भीतर अगर एंटी-वायरल दवाएं न दी जाएं तो इसका पूरा लाभ नहीं मिल पाता है.

 

इस संबंध में आईएमए द्वारा कुछ तथ्य भी जारी किए गए. इससे डॉक्टरों को ऐसे मरीजों की पहचान करने में सहायता मिलेगी, जिन्हें एंटी-वायरल दवा लेने या अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत है.

 

ये हैं तथ्य:

 

1. अमेरिका में कुल मामलों में से 0.3 फीसदी को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ती है.

 

2. फ्लू की महामारी की स्थिति में प्रति 100,000 आबादी पर 0.12 मृत्युदर है.

 

3. अमेरिका में में एच1 एन1 इन्फ्लुएंजा की महामारी में होने वाली कुल मौतों की संख्या मौसमी इन्फ्लुएंजा के दौरान हुई थीं.

 

एंटी-वायरल थेरेपी की जल्द शुरुआत स्वाइन फ्लू के ऐसे संदिग्ध बच्चों, किशोरों अथवा वयस्क मरीजों में करने की सलाह दी जाती है, जिनमें निम्नलिखित लक्षण हों:

 

* अस्पताल में भर्ती करने की स्थिति वाला फ्लू हो

 

* बढ़ता हुआ, गंभीर अथवा जटिल फ्लू

 

* ऐसे मरीज जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो (किसी बीमारी, हेमैटोपेटिक अथवा सॉलिड ऑर्गन ट्रांसप्लांट का मरीज हो).

 

जिनमें जटिलता का खतरा अधिक होता है:

 

-पांच साल से कम उम्र के बच्चे, खासतौर से दो साल से कम उम्र वाले, 65 साल या इससे अधिक उम्र के बुजुर्ग, गर्भवती महिला या जच्चा को मातृत्व के बाद दो हफ्तों तक.

 

-ऐसे लोग जो पुरानी मेडिकल समस्याओं से पीड़ित हों जैसे कि फेफड़े की बीमारी जिसमें अस्थमा भी शामिल है, खासतौर से जिसने पिछले एक साल में स्टेरॉइड लिया हो; किडनी की पुरानी बीमारी हो, लिवर की बीमारी हो, हाइपरटेंशन हो, डायबीटीज हो, सिकल सेल डिजीज हो, अन्य पुरानी बीमारियां एवं गंभीर मोटापा.

 

संबंधित खबरें-

स्वाइन फ्लू से 620 लोगों की मौत, दवा दुकानदारों को टेमी फ्लू दवा का पर्याप्त भंडार रखने का निर्देश  

स्वाइन फ्लू पीड़ित महिला ने दिया स्वस्थ बच्चे को जन्म 

स्वाइन फ्लू से हाहाकर, अब तक करीब 624 मरीजों की मौत 

गर्भवती महिलाओं को स्वाइन फ्लू का ज्यादा खतरा 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: swine_flu_anti_viral
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ??? ?????? ???? swine flu
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017