चाय में हानिकारक कीटनाशकों के अवशेष शामिल : अध्ययन

By: | Last Updated: Tuesday, 12 August 2014 11:24 AM

मुंबई: ग्रीनपीस नामक एक पर्यावरणीय गैर सरकारी संस्था द्वारा एक साल तक कराए गए अध्ययन में भारत में बेची जाने वाले प्रमुख ब्रांड की चाय में कथित रूप से हानिकारक कीटनाशकों के अवशेषों की उपस्थिति की बात कही है. इसमें डीडीटी जैसा खतरनाक जहरीला तत्व भी शामिल है.

ग्रीनपीस की वरिष्ठ प्रचारक नेहा सहगल ने कहा, ‘‘हमने पिछले एक साल में भारत के कई शहरों में बेची जाने वाली चाय की पत्तियों की गुणवत्ता के लिए अध्ययन किया. हमारे अध्ययन में बड़े ब्रांड की चाय में कीटनाशकों के अवयव सामने आए.’’ उन्होंने कहा कि हमने 49 नमूने लिए जिसमें से 34 में कीटनाशकों के अवशेष पाए गए इनमें से 29 :लगभग 59 प्रतिशत: में तो 10 से भी ज्यादा अलग-अलग तरह के कीटनाशकों का मिश्रण पाया गया.

इन 29 नमूनों में कम से कम एक कीटनाशक के अवशेष की उपस्थिति, यूरोपीय संघ द्वारा निर्धारित अधिकतम सीमा से भी ज्यादा है.

उन्होंने कहा, ‘‘इस अध्ययन के लिए सैंपल हमने दिल्ली, कोलकाता, बंगलौर और मुंबई जैसे शहरों के दुकानदारों से जून 2013 से मई 2014 के बीच एकत्रित किए थे.’’ सहगल ने कहा कि इन नमूनों में से 67 प्रतिशत में डीडीटी की उपस्थिति भी पाई गई है.

हालांकि इस पर भारतीय चाय बोर्ड ने ग्रीनपीस की रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा कि भारत की चाय की पत्ती पूरी तरह सुरक्षित है और उसे कड़े परीक्षणों से गुजारने के बाद ही बेचा जाता है. आज जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘व्यापक तौर पर चाय के ग्राहकों की आंखों में भारतीय चाय बोर्ड भारतीय चाय के बारे में सभी भ्रांतियों को दूर करना चाहेगा.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: tea_green peace_ddc
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ??? ???? ?????? ??????? ????????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017