Team India_South Africa_World Cup 2015_Shikhar Dhawan_Coach_

Team India_South Africa_World Cup 2015_Shikhar Dhawan_Coach_

By: | Updated: 22 Feb 2015 12:57 PM

नई दिल्ली: टीम इंडिया की दक्षिण अफ्रीका पर जीत में ओपनर शिखर धवन का अहम योगदान रहा. बीते दिनों से शिखर धवन फॉर्म से बाहर चल रहे थे. लेकिन हाल में वर्ल्डकप में वार्म अप मैच में अर्धशतक जमाने के साथ ही शिखर बेहतरीन फॉर्म में वापसी कर चुके हैं.



पिछले मैच में शानदार 73 रन और आज धमाकेदार 137 रनों की पारी के बाद शिखर बेहतरीन टच में नज़र आ रहे हैं.

 

शिखर धवन की फॉर्म और उनके परफॉर्मेंस पर आज एबीपी न्यूज़ ने बात की शिखर धवन के कोच मदन शर्मा से.

 

मदन शर्मा ने कहा कि बीते कुछ समय से वनडे और टेस्ट में अच्छा नहीं कर पाने के बावजूद धवन को वर्ल्ड कप के लिए टीम में सलेक्ट होने का पूरा भरोसा था. कोच ने कहा कि धवन के साथ साथ कप्तान धोनी को शिखर धवन की प्रतिभा पर पूरा भरोसा था.

 

मदन शर्मा ने कहा, "धोनी कहते थे कि अगर तू फॉर्म में हो तो पूरा मैच अकेले दम पर जिता सकता है. कप्तान धोनी के विश्वास की वजह से शिखर ठीक समय पर फॉर्म में वापसी कर पाया है."

 

कोच ने कहा कि धवन को बस एक लंबी पारी की दरकार थी जो उन्हें बीते मैच में पाकिस्तान और आज साउथ अफ्रीका के खिलाफ मिल गई है. इन दोनों पारियों से शिखर का बहुत अधिक आत्मविश्वास बढ़ेगा और उनसे आगे भी ऐसे ही अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा सकती है.

 

मदन शर्मा ने कहा कि शिखर धवन अक्सर क्लब में प्रैक्टिस करने आते हैं और वो प्रैक्टिस पर आने से पहले बॉलिंग मशीन जैसी चीज़ों की मांग भी करते हैं जिससे प्रैक्टिस के दौरान वो अपनी कमियों पर बेहतर तरीके से काम कर सकें.

 

धवन के कोच ने कहा कि शिखर खेल को लेकर बेहद जज्बाती हैं और खेल के लिए सबकुछ छोड़ सकता है.

 

कैसे पड़ा नाम गब्बर?

 

खेल के अलावा जब शिखर के कोच से उनके नाम गब्बर के बारे में पूछा गया तो उन्होनें कहा कि शिखर अक्सर क्लब और डॉमेस्टिक क्रिकेट में स्लिप में फील्डिंग करता था.

 

वहां खड़ा होकर वो अक्सर  बल्लेबाज़ों का ध्यान भंग करने और उन्हें परेशान करने के लिए चिल्लाता रहता था जिसकी वजह से साथी खिलाड़ियों ने धवन गब्बर पुकारना शुरू कर दिया.

 

शिखर धवन की मूंछों पर सवाल पूछे जाने पर कोच ने कहा कि महमूदउल्लाह ट्रॉफी के दौरान शिखर के होंठ पर चोट लगी थी जिसके बाद उसे सर्जरी करवानी पड़ी और वो तबसे ही मूंछे रखने लगा और वो उसे सूट भी करने लगी.

 

शिखर धवन के कोच से धवन के स्टांस(बल्लेबाज़ी करते वक्त खड़े होने का तरीका) के बारे में जब पूछा गया तो उन्होनें इस पर भी खुलासा करते हुए कहा कि एक बार एनसीए में शिखर को श्रीलंकन कोच से स्टांस के लिए मदद मिली औऱ वो बेहद फायदेमंद भी साबित हुए. 

 

मदन शर्मा ने शिखर के बारे में बताया कि पाकिस्तान के खिलाफ मैच के बाद भारतीय समय के अनुसार लगभग 7 बजे उन्होंने शिखर को फोन किया. ऑस्ट्रेलियाई समय के अनुसार तब वहां 12 बज रहे थे. तब शिखर ने फोन उठाकर कहा, "मुझे आपके फोन का ही इंतजार था."

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story केरल में आदिवासी युवक की हत्या पर बोले राहुल, कहा भीड़ की बर्बरता से स्तब्ध हूं